Create
Notifications

अंडरटेकर Vs स्टिंग: ड्रीम मैच जिसे रैसलमेनिया 33 में होना चाहिए

सुर्यकांत त्रिपाठी

अंडरटेकर WWE पर वापस आ रहे हैं। रैसलमेनिया 32 के बाद से डैडमैन नहीं दिखे हैं और सभी दर्शक उनकी वापसी का बेसब्री से इंतज़ार कर रहे थे। लेकिन उन दर्शकों को रैंडी ऑर्टन या फिर किसी और के खिलाफ अंडरटेकर का मैच नहीं देखना है। टेकर का करियर अब खत्म होनेवाला है और उनके पास ज्यादा बेहतरीन मैच नहीं बचे हैं। लेकिन स्टिंग से मुकाबला किये बिना उनका रैसलिंग करियर अधूरा सा है। ये उनके करियर का एकमात्र चीज़ है जो अधूरी है और दर्शक भी ये ड्रीम मैच देखना चाहते हैं। रैसलमेनिया 33 पर जॉन सीना के खिलाफ टेकर के मैच की अधिक संभावना है और इसी के साथ केविन ओवन्स का भी नाम उछल रहा है। लेकिन कोई भी स्टिंग की बराबरी नहीं कर सकता। सबसे खराब बात ये है कि अंडरटेकर ने कभी भी स्टिंग के साथ मुकाबला नहीं किया है। स्टिंग ने जब WWE के साथ करार किया था तभी उनका मैच अंडरटेकर के साथ कर देना चाहिए था। ये वही बात है NBA में माइकल जॉर्डन और बिल रैसल एक ही टीम के लिए खेल रहे हैं, लेकिन कभी एक साथ रिंग में नहीं उतरें। सदी के दो सबसे बड़े स्टार को लेकर WWE को उनकी बुकिंग रैसलमेनिया पर करनी चाहिए थी। इस तरह के मुकाबले को किसी तरह के स्टोरीलाइन की ज़रूरत नहीं है। मंडे नाईट वॉर की कहानी सबसे पहले WWE बताया करती थी और WCW के बंद होने के बाद भी ऐसा ही जारी रहा। रैसलिंग के सबसे बड़े मंच पर आइकॉन बनाम आइकॉन के मुकाबले से अच्छा और क्या हो सकता है? लेकिन इसके उलट WWE ने रैसलमेनिया पर स्टिंग के हाथों ट्रिपल एच और अंडरटेकर के हाथों ब्रे वायट को हरवाया। द गेम के खिलाफ स्टिंग का मुकाबला फायेदमंद था और ईटर ऑफ़ द वर्ल्ड को भी फिनोम के सामने मैच का मौका चाहिए था। लेकिन इनमें से कोई स्टिंग नहीं था। स्टिंग WWE के कुछ भी करने को तैयार थे। रैसलमेनिया पर मुकाबला करने केवल दर्शकों का सपना नहीं बल्कि खुद स्टिंग का भी सपना था। अगर मुकाबला कंपनी के किसी बड़े स्टार से होना तय था, तो उसे स्टिंग के खिलाफ होना चाहिए था। इस निर्णय में कोई बात होती और दर्शकों को काफी पसंद आती। लेकिन जब स्टिंग nWo के साथ हारें तब DX रिंग साइड पर थी। एक अच्छा आईडिया जल्दी ही ख़राब हो गया। WWE को उम्मीद थी की ये एक यादगार मुकाबला होगा। हालांकि कुछ दर्शकों के लिए ये यादगार मुकाबला था। 0064008001442866361_filepicker-1478277207-800 वैसे उस रात ट्रिपल एच, स्टेफ़नी मैकमैहन, द रॉक और रौंडा राउज़ी के साथ सैगमेन्ट में ज्यादा कुछ असर नहीं डाला। इससे स्टिंग के साथ उनके मैच का स्तर कम हो गया। एक बार फिर WWE ने आसान रास्ता चुनकर बड़ी गलती कर दी। स्टिंग बनाम अंडरटेकर के मुकाबले की जगह कोई और मुकाबला नहीं ले सकता था। अगर WWE को मालूम होता कि सैथ रॉलिन्स के खिलाफ मुकाबले कर बाद स्टिंग का करियर खत्म हो जाएगा तो WWE इसे अलग तरीके से संभालती। लेकिन इसके लिए देर हो चुकी थी। इस मैच में किसी रैसलर को खतरा नहीं लेना चाहिए था। ये कोई सेमी जेन नहीं हैं जो रस्सियों के ऊपर से डाइव करते हुए वापसी करेंगे और ना ही वे कोई डेनियल ब्रायन है जो चोटिल होने के बावजूद मुकाबला करने में सक्षम हैं। ये दो दिग्गज स्टार्स हैं जो पचास साल की उम्र पार चुके हैं और अब उनमें पहले जैसे फुर्ती नहीं रही। दर्शक उन्हें चोटिल होते हुए नहीं देखना चाहते थे ना ही वे कुछ ऐसा देखना चाहते थे जिससे किसी रैसलर को नुकसान पहुंचे। वे मैट पर जैसे भी रैसलिंग करते दर्शक उसे हर बार पसंद करते। maxresdefault-2-1478278265-800 ये एक ड्रीम मैच है और इसे ज़रूर होना चाहिए। WWE इसे करवा सकती है। रॉलिन्स के खिलाफ मैच के बाद स्टिंग ने कहा था कि वे अभी भी डैडमैन के साथ लड़ना चाहते हैं। इस ऐतिहासिक मैच को न करवाने के पीछे कोई कारण नहीं है, हालांकि WWE ऐसा न करना चाहे तो। आज के दौर में दर्शकों की हर बात मानी जाती है, तो यरः क्यों नहीं? अगर विंस मैकमैहन रिंग के अंदर खड़े होकर सभी से ये पूछे की वे टेकर को किस के साथ मुकाबला करते हुए देखना चाहते हैं, तो सभी का जवाब होगा, स्टिंग। साल 1991 में जब रिक फ्लेयर ने साइन किया तब WWE ने हल्क हॉगन और फ्लेयर की बुकिंग नहीं की थी। दर्शकों के पास सबसे बड़ा रैसलमेनिया मैच देखने का मौका था, लेकिन ऐसा हो नहीं पाया। स्टिंग और अंडरटेकर के रूप में इतिहास को दोहराना चाहिए। मंडे नाईट वॉर की याद दिलाने वाला ये मैच ज़रूर होना चाहिए और इसके लिए रैसलमेनिया 33 से बड़ा कोई दूसरा मंच नहीं हो सकता। अंडरटेकर और स्टिंग का इसपर हक़ बनता है और WWE को इसपर अमल करना चाहिए। इससे कुछ भी कम निराशाजनक होगा।


Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...