Create
Notifications

द रॉक के फर्श से अर्श तक पहुँचने की यादगार कहानी

मयंक मेहता

WWE के सबसे ग्रेटेस्ट सुपरस्टार की बात होगी, तो उसमें निश्चित ही द रॉक का नाम जरूर आएगा। रॉक ने ना सिर्फ रिंग के अंदर अपना नाम कमाया है, बल्कि रिंग के बाहर भी उनकी काफी इज्ज़त है और इसी वजह से उन्हें पीपल्स चैम्पियन भी कहा जाता है। हालांकि हमेशा से ही रॉक फैन फेवरेट नहीं रहे हैं और एक समय उन्हें हद से ज्यादा बू किया जाता था। रॉक ने इस बात का खुलासा खुद किया और बताया कि वो समय उनके लिए कितना मुश्किल था। रॉक ने कहा, "मेरे पहले रैसलमेनिया के समय क्राउड़ मुझे बू कर रहा था, उसके बाद मेरे करियर का सबसे खराब दौर आया और मैं अपना घुटना चोटिल करा बैठा, जिसके कारण कुछ समय के लिए मुझे बाहर बैठना पड़ा। जब मेरी वापसी की डेट के ऐलान हुआ था, तो विंस मैकमैहन ने मुझे कहा कि आपको हील बन जाना चाहिए, जिसके बाद मैंने उन्हें कहा कि मुझे क्राउड़ के साथ सिर्फ दो मिनट चाहिए और उसके बाद मेरा पूरा करियर बदल गया।" हमेशा एक बात कही जाती है कि अगर इंसान से बुरे समय में उठना सीख लिया, तो वो जिंदगी में कुछ भी कर सकता है और द रॉक के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। रॉक ने उस बुरे समय से उबरते हुए खुद को एक ऐसी पहचान दिलाई कि अब हर एक फैंस उनकी एक झलक पाने के लिए तरसते हैं। रॉक वैसे तो सबके लिए रोल मॉडल है ही, लेकिन उनकी इस कहानी से वो ना सिर्फ युवा WWE सुपरस्टार्स को इतनी प्रेरणा मिलेगी, बल्कि आम लोगों को भी इससे काफी कुछ सीखने को मिलेगा।

youtube-cover

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...