Create
Notifications
Advertisement

पहले के मुकाबले ब्रॉक लैसनर के मसल्स लगातार कम क्यों होते जा रहे हैं ?

  • पिछले कुछ समय में ब्रॉक लैसनर के वजन में भी गिरावट आई है, ऐसा क्यों ?
SENIOR ANALYST
Modified 21 Sep 2018, 20:21 IST

ब्रॉक लैसनर एक ऐसा नाम हैं, जिससे तगड़े-तगड़े रैसलर खौफ खाते हैं। साल 2002 में WWE डैब्यू करने वाले ब्रॉक लैसनर का तगड़ा शरीर उन्हें बाकी रैसलरों से अलग बनाता था। रैसलिंग फैंस ब्रॉक लैसनर को सालों से फॉलो कर रहे हैं, आपको लैसनर की पुरानी फोटो जरूर याद होंगी, जिनमें वो बहुत ही हट्टे-कट्टे लगते थे और उनके मसल्स दिखते रहते थे, फिर भले वो शोल्डर, बाइसेप्स, ट्राइसेप्स या फिर चेस्ट हो। पहले के मुकाबले अब ब्रॉक लैसनर के शरीर में काफी बदलाव आ गए है और उनके मसल्स लगातार कम होते जा रहा हैं। यहां तक कि काफी सारे लोगों का मानना है कि पिछले कुछ महीनों में लैसनर का वजन भी कम हुआ है। हम ब्रॉक लैसनर के लगातार कम होते मसल्स की संभावित वजह के बारे में बात करेंगे। लैसनर के वेट घटाने और मसल्स कम होने का कारण लगभग यही है कि उन्होंने किसी तरह के मसल्स बढाने वाले सप्लीमेंट बंद कर दिए हैं और वो नैचुरल डाइट पर चले गए हैं। दरअसल दुनिया भर के रैसलर PED (परफॉर्मेंस एनहांसिंग ड्रग्स) लेते हैं, जोकि शरीर की क्षमता को बढ़ा देते हैं। ऐसे में हो सकता है कि लैसनर ने इस तरह के सभी प्रोडक्ट्स को लेना बंद कर दिया हो। दरअसल ब्रॉक लैसनर जुलाई महीने के दौरान UFC 226 इवेंट के दौरान नजर आए और उन्हें डेनियल कॉर्मियर को UFC फाइट के लिए चैलेंज किया। उसके बाद खबरें सामने आई कि बीस्ट यूएस एंटी डोपिंग एजेंसी (USADA) के टेस्टिंग पूल में शामिल हो गए हैं। खबरों के मुताबिक, तब से अब तक USADA द्वारा ब्रॉक लैसनर के 3 बार टेस्ट किए जा चुके हैं। जिन फैंस को जानकारी नहीं है, उनके बताते चलें कि UFC बाकी स्पोर्ट्स की तरह काम करता है। इसमें फाइटरों का डोप टेस्ट होता है। अगर कोई फाइटर प्रतिबंधित ड्रग्स को लेता पाया जाता है, तो उस पर बैन लगा दिया जाता है। साल 2016 में मार्क हंट के खिलाफ हुई लैसनर की फाइट के बाद वो डोप टेस्ट में फेल हो गए थे और उन पर बैन लगा दिया था। अब USADA पूरी तरह से सुनिश्चित करना चाहती है कि लैसनर किसी भी प्रतिबंधित पदार्थ का सेवन तो नहीं कर रहे। इनमें स्टेरॉइड्स भी शामिल होते हैं। ब्रॉक लैसनर UFC में फिर से वापसी करने को बेताब हैं। इस वजह से हो सकता है कि वो सभी पदार्थों को काफी समय से नहीं ले रहे हों, जोकि UFC में प्रतिबंधित हैं। WWE की वैलनेस पॉलिसी है, लेकिन यहां रैसलर कई सारे पदार्थ लेकर खुद को चुस्त दुरुस्त रखते हैं। ऐसे में अगर आप ब्रॉक लैसनर को अगले साल होने वाली UFC फाइट में थोड़ा दुबला देखें, तो हैरान मत होइएगा।

Published 01 Sep 2018, 10:32 IST
Advertisement
Fetching more content...
Get the free App now
❤️ Favorites Edit