Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

हाइप के बाद आखिर WWE ने इतना छोटा मैच क्यों बुक किया ?

PANKAJ
SENIOR ANALYST
Modified 21 Sep 2018, 22:07 IST
Advertisement
रैसलमेनिया 30 में अंडरटेकर को हराने के बाद लैसनर ने उनके रिकॉर्ड को ध्वस्त कर दिया था। और तब से आज तक रिंग के अंदर में इससे बड़ी खबर कोई और नहीं थी। लेकिन 12 साल बाद गोल्डबर्ग ने जिस तरह लैसनर को हराया वो अब सभी के जेहन में रह गया है। गोल्डबर्ग के इस कारनामे के साथ ही सर्वाइवर सीरीज 2016 का अंत भी हुआ। गोल्डबर्ग ने अपनी पत्नी और बच्चों की मौजूदगी में मात्र 2 मिनट में रिंग के अंदर लैसनर को पटखनी दे दी। स्वाभाविक है कि गोल्डबर्ग के इस दांव के बाद पूरा WWE  यूनिवर्स चौंक गया है। सभी अफवाहें गलत साबित हो गई। लैसनर के भी सभी फैंस गलत साबित हो गए। और जो लोग ये सोच रहे थे कि गोल्डबर्ग तो बस एक सिर्फ सम्मान पाने आ रहे है। उनका गोल्डबर्ग ने मुंहतोड़ जवाब दिया। और इस जीत के बाद सभी के लिए ये एक शानदार पल था। वैसे WWE हमेशा फैंस को आश्चर्यचकित करता है। और सर्वाइवर सीरीज में कई मौकों पर ऐसा ही हुआ। किसी को ये उम्मीद नहीं थी कि मिज अपना टाइटल बचा लेंगे। वैसे सबसे जल्दी हारने का रिकॉर्ड UFC में सीएम पंक के पास है। किसी को उम्मीद नहीं थी की लैसनर जैसा रेसलर सीएम पंक के रिकॉर्ड को तोड़कर इतनी जल्दी हार जाएगा। और इसके बाद फैंस की गोल्डबर्ग के प्रति पूरे एरीना में जो प्रतिक्रिया थी वो देखने ही बनती थी। मैच के बाद माइकल कोल का कहना था कि ये पल हम सबके लिए शानदार था। और मैं इस पल को कभी नहीं भूल पाउंगा। ये WWE का सबसे अच्छा निर्णय था। ये बुकिंग का भी एक शानदार टुकड़ा था। हालांकि कुछ फैंस खुश नहीं थे। लेकिन सर्वाइवर सीरीज खत्म होने के बाद जो तस्वीर उनके सामने आई। तो दूसरे दिन सुबह उठते ही वो सोचने पर मजबूर थे कि जो कल रात हुआ क्या वो सच था। अब यहां से कुछ बड़ा होने की उम्मीद है। कोल का ये भी मानना था कि कुछ फैंस ये सोच रहे थे कि ये गोल्डबर्ग की लास्ट फाइट थी।  लेकिन इस मैच के बाद अब लगता है कि गोल्डबर्ग रॉयल रंबल में भी एक बार फिर अपना जलवा दिखाएंगे। इसका साफ-साफ मतलब ये है कि लैसनर और गोल्डबर्ग के बीच लड़ाई आगे भी जारी रहेगी। लैसनर को भी आगे के लिए काफी कुछ सोचने और करने का मौका मिलेगा। खैर अगर ऐसा होता है तो लैसनर जरूर ये सोचेंगे की अब आगे मैं क्या कर सकता हूं। उधर लैसनर के फैंस का कहना है कि लैसनर अब कमजोर हो गए है। गोल्डबर्ग के साथ मैच के दौरान भी वो कमजोर नजर आ रहे थे।और अब लैसनर को कोई भी हरा सकता है। लेकिन ये सब एक गलत अफवाह हो सकती है क्योंकि एक घायल जानवर कभी भी खतरनाक बन सकता है। और इस वक्त लैसनर का भी ये ही हाल है। वैसे लैसनर इसका बदला लेने के मूड में जरुर होंगे। क्योंकि WWE में इससे पहले भी कई बार ऐसा हो चुका है कि कभी ना कभी यहां कुछ नया जरूर होता है। और इस सर्वाइवर सीरीज के बाद भी उनके आत्मविश्वास में कोई कमी नहीं आएगी। गोल्डबर्ग के बारे में अगर मैं जितना जानता हूं तो वो WWE में अब तक वन ऑन वन मैच कभी नहीं हारा है। 12 साल बाद भी गोल्डबर्ग की बॉडी का शेप वैसा ही है। बस कुछ अगर बदला है तो उनकी दाढ़ी थोड़ा भूरी हो गई है। गोल्डबर्ग को अभी भी कोई नहीं हरा सकता। WWE में उनसे अच्छा लैसनर से लड़ने वाला कोई भी नहीं था। और हो सकता है कि WWE रोस्टर की जब बनेगा तो नंबर वन पर गोल्डबर्ग ही होंगे। लेकिन फिलहाल वो NXT ब्रांड को ही सबसे ज्यादा प्यार करते है। गोल्डबर्ग के पास अभी भी ऐसी प्रतिभा है जो 12 साल पहले थी। वैसे इस मैच से पहले रिपोर्ट के अनुसार उनके कंधे में चोट लगी थी। अगर ये मैच 10-15 मिनट का होता तो लैसनर उन्हें अपने 10-15 सुपलैक्स से घायल कर देते। और लैसनर उन्हें रिंग के अंदर बुरी तरह पीट देते। और अगर ऐसा होता तो इस मैच के बाद इस मैच पर निश्चित रुप से किसी का ध्यान नहीं जाता। इसके अलावा ये नहीं भूलना चाहिए की फैंस इस शो के लिए 5 घंटे से तक बैठे थे। वैसे यहां सर्वाइवर सीरीज में 5 ऑन 5 मेंस एलिमिनेशन मैच रॉ और स्मैकडाउन के सबसे बड़े सुपरस्टार भी देखने को मिले। और ये मैच 53 मिनट तक चला। और ये मैच शुरू से अंत तक देखने लायक था। हालांकि फैंस को आशंका थी कि दोनों के बीच लंबा मैच देखने को मिलेगा लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार गोल्डबर्ग की ट्रेनिंग की कमी की वजह से WWE ने इस मैच को छोटा कराने का फैसला किया। गोल्डबर्ग ने पिछले हफ्ते की रॉ के बाद बताया था कि उनके कंधे में मामूली चोट लग गई हैं। ऐसे हाल में WWE को सेफ साइड लेकर चलना पड़ा।हालांकि लैसनर के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद माहौल उबाऊ हो गया था। फैंस चाहते थे कि रैसलमेनिया 20 में गोल्डबर्ग और लैसनर के बीच जैसा मैच हुआ था वैसा ही मैच यहां भी हो। मुझे लगता है कि विन्स भी इस मैच से खुश नहीं होंगे। क्योंकि इसी मैच के लिए काफी ज्यादा प्रशंसक वहां मौजूद थे। और विन्स को भी लगता है कि फैंस ने इसका मजा बिल्कुल भी नहीं उठाया। सिर्फ 86 सेकंड में गोल्डबर्ग ने लैसनर को गिरा दिया। और मैच से फैंस भी खुश नहीं थे। लेकिन एक अच्छी बात ये रही कि मैच होने के बाद भी सभी की जुबान पर इसी मैच की बात थी। जो वेबसाइट WWE द्वारा एसोसिएट नहीं है वो भी इस खबर को लेकर काफी उत्सुक थे। और ये इस बिजनेस के लिए अच्छा भी है। वो भी तब जब कुछ ही महीनों बाद रैसलमेनिया होने वाली है। लेकिन इस मैच के बाद दुनियाभर के रेसलिंग फैंस को एक बात तो पता चल गई की हमेशा जिसकी उम्मीद रहती है वो नहीं हो पाता है।कभी-कभी उम्मीदें टूट भी जाती है। हालांकि मेरे हिसाब से टाइम खराब करने वाला इवेंट था। निजी तौर पर में इसे पसंद करता हूं।क्योंकि गोल्डबर्ग को बचपन से लड़ते देखना मेरा सपना था।और इस मैच को लेकर काफी आश्चर्यचकित भी था। तकरीबन 1 घंटा मुझे समझने में लगा की इस ऐतिहासिक मैच का रिजल्ट मैं घोषित कर रहा था। इस मैच के तुरंत खत्म होन से मैं काफी उत्साहित था।क्योंकि इसके बाद मेरे मन में लाखों सवाल पैदा हो रहे थे।लेसनर क्या करेंगे? कैसे पॉल हेमेन रिंग के आसपास घूम रहे थे? क्या गोल्डबर्ग राउंड-3 के लिए वापस आएंगे? ऐसे कई सवाल तमाम फैंस के मन भी चल रहे थे।और ये सब मैने एक रेसलिंग फैंस के तौर पर कहा। अगर में साफ-साफ कहूं तो सर्वाइवर सीरीज बड़े ही मनोरंजक ढंग से  खत्म हुई। यहीं नहीं 12 साल से जिस मैच का सभी को इंतजार था। कहा जाए की आजतक इस मैच के लिए काले बादल छा गए थे। लेकिन अब गोल्डबर्ग और लैसनर के इस मैच ने प्रशंसकों को कुछ सालों तक चर्चा का विषय दे दिया है। Published 23 Nov 2016, 23:32 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit