COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

रोमन रेंस कभी भी WWE रिंग में सबमिशन और हाई-फ्लाइंग मूव्स का इस्तेमाल क्यों नहीं करते ?

SENIOR ANALYST
888   //    17 May 2018, 12:39 IST

पूर्व WWE वर्ल्ड हैवीवेट चैंपियन रोमन रेंस को आपने रिंग में स्पीयर, सुपरमैन पंच, ड्राइव बाय, समोअन ड्रॉप, शोल्डर टैकल, थ्रोट थ्रस्ट, पावरबॉम्ब जैसे मूव्स का इस्तेमाल करते हुए लगभग ज्यादातर मैचों में देखा होगा। लेकिन आपने कभी न कभी ये बात जरूर सोची होगी कि रोमन रेंस WWE के बाकी रैसलरों की तरह हाई-फ्लाइंग और सबमिशन मूव्स का इस्तेमाल क्यों नहीं करते। रोमन रेंस कभी भी रोप के ऊपर चढ़कर कोई मूव नहीं लगाते और ना ही आपको उनके द्वारा लगाया गया कोई सबमिशन याद होगा।

हाई-फ्लाइंग मूव्स और सबमिशन की वजह से रैसलर का काम काफी ज्यादा निखरकर आता है और फैंस को भी देखने में मजा आता है। फिर क्यों सवा छह छुट लंबे और काफी तगड़े रोमन रेंस इनका इस्तेमाल नहीं करते। इस बात का जवाब लेने से पहले आपको रैसलिंग की अलग-अलग श्रेणियों के बारे में बताते हैं, जिनका साफ और सीधा संबंध रोमन रेंस के इन मूव्स का इस्तेमाल ना करने से है।

प्रोफेनशल रैसलिंग करने वाले रैसलरों को अलग-अलग कैटेगरी में रखा जाता है जैसे कि टैक्निकल, हाई-फ्लायर, ब्रॉलर, हार्डकोर, पावरहाउस। टैक्निकल रैसलर रिंग में तरह-तरह के मूव्स का इस्तेमाल करते हैं, जिनको हम एमैच्योर रैसलिंग में देखते हैं। कर्ट एंगल, एजे स्टाइल्स, डेनियल ब्रायन जैसे बड़े रैसलरों को टैक्निकल रैसलरों में शुमार किया जाता है। हाई-फ्लायर रैसलर उन्होंने कहा जाता है, जोकि मैच लड़ते वक्त रिंग में हवा में कलाबाज़ी करते हैं और आमतौर पर उनका फिनिशर भी कुछ इसी तरह का होता है। उदाहरण के तौर पर रे मिस्टीरियो, एजे स्टाइल्स, जैफ हार्डी, जॉन मॉरिसन, फिन बैलर के नाम काफी ऊपर हैं।

ब्रॉलर उन रैसलरों को कहा जाता है, जो मैच में लड़ते हुए किसी भी हद तक जा सकते हैं। द लुनाटिक फ्रिंज डीन एम्ब्रोज़ इसका सबसे बड़ा उदाहरण हैं। मैच लड़ते वक्त उन पर मानो भूत का सवार हो जाता है और वो अलग-अलग तरह की हरकते हैं और कोई भी मूव्स इस्तेमाल कर लेते हैं। पावरहाउस रैसलरों का WWE में बड़ा ही बोलबाला रहा है। विंस मैकमैहन को ऐसे ही रैसलर पसंद आते हैं, जो कद काठी में तगड़े हों। विंस को लगता है कि ऐसे ही रैसलर कंपनी का भविष्य हैं।

दरअसल पावरहाउस रैसलर अपनी ताकत का ज्यादा इस्तेमाल करते हैं। वो एक हाथ से ही रैसलरों को उठा-उठाकर पटक देते हैं। रोमन रेंस, ब्रॉक लैसनर, ब्रॉन स्ट्रोमैन इस श्रेणी में आते हैं। इन सभी रैसलरों को सबमिशन या हाई-फ्लाइंग मूव की जरूरत नहीं हैं, क्योंकि ये सभी अपनी ताकत के दम को खुद को पावरफुल दिखा सकते हैं। पावरहाउस रैसलर होने की वजह से रोमन रेंस सबमिशन का इस्तेमाल नहीं करते। हालांकि इस बात में कोई दोराय नहीं होगी कि अगर वो रैसलिंग स्टाइल में सबमिशन मूव को भी शामिल कर लें, तो वो रिंग में लड़ते हुए काफी अच्छे लगेेंगे।

फैंस को शायद जानकारी नहीं होगी कि रोमन रेंस WWE में सबमिशन मूव का इस्तेमाल करते हुए नजर आए हैं। एक मैच के दौरान उन्होंने जेसन जॉर्डन पर 'बॉस्टन क्रैब' या 'हाफ क्रैब' सबमिशन मूव का इस्तेमाल किया था। लेकिन उसके बाद या पहले वो शायद ही ऐसे मूव्स को इस्तेमाल करते हुए नजर आए। ये एक तरह का आधा शार्पशूटर कहा जा सकता है।



ब्रॉक लैसनर खुद एक पावरहाउस रैसलर की श्रेणी में आते हैं, लेकिन उनके पास किमूरा लॉक है। लैसनर ने किमूरा लॉक का इस्तेमाल कर ट्रिपल एच, मार्क हैनरी और शॉन माइकल्स जैसे रैसलरों के हाथ तोड़े हैं। द बीस्ट को किमूरा लॉक का इस्तेमाल किए हुए बहुत लंबा अरसा हो गया है।

द बीस्ट ब्रॉक लैसनर सबमिशन मूव का इस्तेमाल इसलिए भी करते हैं, क्योंकि वो MMA फाइटर रह चुके हैं। UFC में रहते हुए ब्रॉक लैसनर को कई सारे सबमिशन मूव्स सीखने पड़े और उन्होंने वहां इसका इस्तेमाल भी किया है।

Advertisement
Advertisement
Fetching more content...