Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

मौजूदा समय में WWE चैंपियनशिप से ज्यादा मिड चर्चा चैंपियनशिप की चर्चा क्यो होती है?

Modified 21 Sep 2018, 20:30 IST
Advertisement
हर एक WWE सुपरस्टार का अंतिम लक्ष्य हमेशा ही वर्ल्ड चैंपियन बनना रहता है। यह रैसलिंग की दुनिया में महानता का शिखर माना जाता है लेकिन पिछले कुछ सालों में, टॉप टाइटल्स में शामिल होने वाली स्टोरीलाइन उतनी रोचक नहीं रही है, जितनी कि इंटरकांटिनेंटल और यूएस टाइटल चैंपियनशिप की स्टोरीलाइन। अगर आप मौजूदा चैम्पियनों की लिस्ट को देखें तो यह आसानी से देख सकते हैं कि लॉकर रूम में यूनिवर्सल और WWE टाइटल्स की तुलना में इनकी चर्चा ज्यादा होती है। ब्रॉक लैसनर मुश्किल से ही अपनी यूनिवर्सल चैंपियनशिप बचा पाए जबकि जिंदर महल का WWE चैंपियन के रूप में कार्यकाल ने कई फैंस को आश्चर्य में डाल दिया कि आखिर यह हो कैसे रहा है। यहां आपके पास द मिज़ और केविन ओवंस हैं। इन ए लिस्टर ने इंटरकांटिनेंटल चैंपियनशिप को पहले की तुलना में और भी प्रतिष्ठित बना दिया है क्योंकि बेल्ट को जीतने का मतलब क्या है, इस बारे में बात करते हुए वे गजब का पैशन दिखाते हैं। बहुत से रैसलर हर हफ्ते रैसलिंग देखते हुए बड़े हुए हैं और उनके कुछ सुपरस्टार कभी वर्ल्ड टाइटल नहीं जीत पाए। रोड़ी पाइपर, रिक रुड और ओवन हार्ट, पूर्व इंटरकांटिनेंटल चैंपियंस के केवल कुछ उदाहरण हैं जो WWE में कभी वर्ल्ड हेवीवेट चैंपियनशिप नहीं जीत सके। उन्होंने शायद दूसरे प्रोमोशंस में जरूर टॉप टाइटल्स जीते लेकिन WWE ने उन्हें इसका मौका नहीं दिया। WWE चैंपियंस आमतौर पर अपने टाइटल का बचाव पे पर व्यूज शो में ही करते हैं जबकि इंटरकांटिनेंटल चैंपियनशिप अक्सर ही लाइन पर रहती है इसलिए जब पीपीवी शो नहीं होते तब इसी के रूप में फैंस के पास एक दिलचस्प मेन इवेंट रहता है। ब्रेट हार्ट, शॉन माइकल्स, मिस्टर परफेक्ट और ब्रिटिश बुलडॉग जैसे सुपरस्टार्स ने कड़ी मेहनत और टॉप क्लास रैसलिंग के द्वारा इंटरकांटिनेंटल टाइटल को बढ़ावा देने में मदद पहुंचाई। जब वे इस ख़िताब का बचाव करने जाते थे तो आपको पता होता था कि आप एक शानदार मैच देखने जा रहे हैं। एक समय ऐसा भी आया था जब खराब बुकिंग के कारण इस टाइटल का महत्व कम हो गया था लेकिन हाल के सालों में इसने  वापस से अपनी प्रतिष्ठा को पाना शुरू कर दिया। ऐसा तब शुरू हुआ जब कोड़ी रोड्स 80 और 90 के दशक के क्लासिक को वापस से लेकर आये। पुरानी यादों के साथ रोड्स ने दुनिया को बेल्ट के महत्त्व से दोबारा परिचित कराया जो पिछले सालों के मुकाबले ज्यादा बेहतरीन था। इसने फैंस को उस समय का एहसास कराया जब इंटरकांटिनेंटल चैंपियनशिप को जीतना अपने आप में बहुत बड़ी बात हुआ करती थी। मिज़ जैसे सुपरस्टार के प्रयास और कई पूर्व वर्ल्ड चैम्पियनों की अच्छी बुकिंग के परिणाम स्वरूप पिछले कुछ साल इस टाइटल के लिए काफी अच्छे रहे हैं। मिज़ ने तो अब तक के सबसे अच्छे इंटरकांटिनेंटल चैंपियन बनने को अपना लक्ष्य बना लिया था और जिस तरीके से चीजें उनके लिए घट रही हैं, वो शायद अपना लक्ष्य पा भी लें। जहां तक यूएस चैंपियनशिप की बात है, इसका उत्थान तब से शुरू हुआ जब जॉन सीना ने 2015 में रुसेव से यह टाइटल छीना था। उनके हर हफ्ते इस टाइटल के लिए दिया जाने वाले ओपन चैलेंज ने कुछ बहुत ही रोमांचक मुकाबलों की भूमिका तैयार की। यह वो रैसलर है जो पहले से ही दर्जनों WWE चैंपियनशिप जीत चुका है और उनकी भागीदारी से मिडकार्ड टाइटल दुनिया का सबसे महत्वपूर्ण टाइटल लगने लगता है। यहां  तक कि सीना के आलोचक भी इस टाइटल की शोभा को वापस लाने का श्रेय उन्हें  ही देते हैं। सीना के टाइटल हारने के बावजूद आगे के चैम्पियनों की लिस्ट ने भी इस टाइटल की लय को बरक़रार रखने में मदद दी है। कलिस्टो और रुसेव के बीच इसके लिए कई महीनों तक प्रतिद्वंदिता चली और साथ ही क्रिस जैरिको, रेंस और अल्बर्टो डैल रियो जैसे पूर्व वर्ल्ड चैम्पियनों ने भी इस टाइटल को महत्वपूर्ण बनाने में कोई कमी नहीं छोड़ी। जैरिको ने चैंपियन के रूप में कुछ बेहद अच्छे मैच लड़े हैं। उन्होंने यह भी बताया कि यही एकमात्र बेल्ट थी जिसे वे अपने पूरे करियर के दौरान हासिल नहीं कर पाए थे और अपने रिज्यूमे को पूरा करने के लिए उन्हें इस बेल्ट की जरूरत थी। हालांकि इसे स्मैक डाउन लाइव का सबसे रोमांचक टाइटल बनाने के लिए ओवंस ही सबसे ज्यादा जिम्मेदार रहे हैं। "न्यू फेस ऑफ़ अमेरिका" के रूप में उन्होंने यूएस में प्रभाव पैदा किया क्योंकि वो कनाडा से ही हैं। केविन ओवंस एक बहुत ही टैलेंटेड रैसलर हैं जो किसी भी विरोधी को बेहतर दिखा सकते हैं। कुछ लोगों के उनके भारी वजन की आलोचना की लेकिन उन्होंने खुद को एक बेहतरीन एथलीट साबित किया। महल में WWE चैंपियनशिप जीतने के बाद बहुत ज्यादा सुधार आया है लेकिन अभी भी उन्हें काफी लम्बा रास्ता तय करना है। जहां तक लैसनर की बात है तो उनके निराशाजनक टाइटल डिफेन्स के लिए अपने ही नियमों को तोड़ दिया। नियम यह कि हर WWE चैंपियन को कम से कम 30 दिन में एक बार जरूर अपने टाइटल का  बचाव करना होगा। इंटरकांटिनेंटल और यूएस चैंपियनशिप को WWE और यूनिवर्सल चैंपियनशिप के बाद दूसरे पायदान पर माना जाता है लेकिन द मिज़ और केविन ओवंस जैसे चैम्पियनों के साथ यह टाइटल्स किसी से कम नहीं रह गए हैं। लेखक - क्रिस म्युलर,  अनुवादक - दीप श्रीवास्तव  Published 26 Jun 2017, 12:15 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit