COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

WWE न्यूज़: रैसलरों को विरोधी कंपनी में जाने से रोकने के लिए विंस मैकमैहन की बड़ी चाल

Kshitij Gupta
ANALYST
न्यूज़
5.12K   //    18 Jan 2019, 13:05 IST

Enter caption

हाल ही में कुछ रैसलरों के AEW (ऑल एलीट रैसलिंग) के साथ कॉन्ट्रैक्ट साइन करने के बाद से WWE आफत में है। इसके बाद से ये अफवाहें हैं कि कंपनी अब रैसलरों के साथ कॉन्ट्रैक्ट में कुछ नया जोड़ने वाली है ताकि रैसलर, कंपनी छोड़कर किसी अन्य कंपनी के साथ कॉन्ट्रैक्ट साइन ना करें। इसके अलावा WWE अन्य कंपनियों के रैसलरों को भी बेहतरीन कॉन्ट्रैक्ट के साथ उनसे संपर्क कर रही है ताकि वो WWE के साथ जुड़ सकें।

WWE ऐसा इसीलिए कर रही है क्योंकि शायद वो कोडी रोड्स, क्रिस जैरिको, रॉबिंसन आदि रैसलरों के कंपनी छोड़कर किसी अन्य रैसलिंग प्रमोशन के साथ कॉन्ट्रैक्ट साइन करने से सकते में है। लेकिन अब इस घटना के बाद से कंपनी सतर्क हो गयी है और अपने अन्य टैलंटेड रैसलरों को बेहतरीन कॉन्ट्रैक्ट का लालच देकर अपने साथ ही बनाए रखना चाहती है।

रैसलिंग आब्जर्वर के अनुसार, WWE के चैयरमेन विंस मैकमेहन अपनी कंपनी को और मजबूत करना चाहते हैं। इसके लिए अब वो कंपनी के रैसलरों के साथ हुए कॉन्ट्रैक्ट को दोगुना करने की पेशकश कर रहे हैं। इसे विस्तार समझा जाए तो यदि कंपनी के किसी सुपरस्टार रैसलर को कोई अन्य प्रतिद्वंदी कंपनी एक निश्चित राशि के साथ अपने साथ शामिल होने का ऑफर पेश करती है तो WWE उस रैसलर को अपने साथ ही बनाए रखने के लिए प्रतिद्वंदी कंपनी द्वारा दिए जा रहे ऑफर की गई राशि से दोगुनी रैसलर इंसेंटिव के तौर पर देगी।

क्रिस जैरिको को AEW से WWE की अपेक्षा अच्छा कॉन्ट्रैक्ट, सर्विसेज और राशि मिलने के कारण वो उसमें शामिल हो गए। वो इस कॉन्ट्रैक्ट को अब तक का सबसे बेहतरीन कॉन्ट्रैक्ट भी कह रहे थे। इसके अलावा यहां ध्यान देने लायक बात ये भी है कि रॉबिंसन जैसे रैसलर ने NJPW के साथ 2 साल का कॉन्ट्रैक्ट साइन किया है जिसमें उनकी वेतन वृद्धि भी शामिल है। लेकिन अब WWE ये नहीं चाहती कि उसके रैसलर ऐसा सोचे कि दूसरी कंपनियां रैलसरों को अच्छा कॉन्ट्रैक्ट और पेमेंट दे रही हैं और वो उनके साथ डील साइन कर लें। इसीलिये अब कंपनी अपने कॉन्ट्रैक्ट को बेहतर से बेहतर बनाने की कोशिश कर रही है।

Get WWE News in Hindi Here

Tags:
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...