WWE एक्सट्रीम रूल्स: पे-पर-व्यू के 5 बड़े टाइटल चेंज

55b8f1a7-382c-40c2-8654-1e25334c7ab0-1463026965-800

22 मई को WWE का काफिला न्यू जर्सी के प्रूडेंशियल सेंटर में अपने अगले पे-पर-व्यू एक्सट्रीम रूल्स के लिए बढ़ रहा है। मेन इवेंट में रोमन रेन्स का सामना ऐजे स्टाइल्स से होगा और दावँ पर होगी रेन्स की WWE वर्ल्ड हैवीवेट चैंपियनशिप। इतिहास गवाह है की एक्सट्रीम रूल्स में हमेशा चैलेंजर ही हावी रहा है। पांच में से छह बार चैलेंजर ने बाज़ी मारी है। तो क्या यहाँ पर ऐजे स्टाइल्स खुशकिस्मत होंगे? ये रहे इस पे-पर-व्यू के कुछ उदाहरणे जिनसे ये साबित होता है की ऐजे इस मुकाबले में बाज़ी मार लेंगे। #1 बतिस्ता ने रैंडी ऑर्टन को हराया: 2009 2009 में एक्सट्रीम रूल्स के पहले पे-पर-व्यू में रैंडी ऑर्टन को बतिस्ता के खिलाफ स्टील केज में अपना ख़िताब बचाना था। इस मैच में कई बार ऑर्टन ने केज से बाहर निकल कर भागने की कोशिश की। लेकिन केज के स्टेप्स पर बतिस्ता के बतिस्ता बोम्ब के कारण उन्हें ख़िताब गंवाना पड़ा। ये बतिस्ता की WWE चैंपियनशिप की पहली जीत थी, इसके पहले वें वर्ल्ड हैवीवेट चैंपियनशिप जीत चुके थे। लेकिन इस मैच में बतिस्ता चोटिल हो जाते है और उन्हें ख़िताब छोड़ना पड़ता है। कुछ हफ़्तों बाद रॉ के फेटल फ़ोर वे मैच में रैंडी ऑर्टन ने इसे वापस जीत लिया। #2 जेफ हार्डी ने एज को हराया: 2009 edge-vs-jeff-hardy-world-heavyweight-championship-ladder-match-extreme-rules-2009-full-length-620x350-1463027378-800 2009 के एक्सट्रीम रूल्स में एज और जेफ़ हार्डी के बीच चैंपियनशिप के लिए दुश्मनी देखी गयी। इस मैच के बिल्ड अप में एज ने कई बार जेफ को हरा कर ख़िताब बचाया था। इस मैच की सबसे अच्छी बात थी की ये लैडर मैच था। इस मैच में हार्डी ने एज के पैरों को लैडर के बीच में फंसा दिया और फिर ख़िताब जीता। ये उनका दूसरा वर्ल्ड टाइटल जीत थी। दर्शकों के चहिते स्टार की जीत पर उन्होंने जमकर तालियां बजाई। इस पे-पर-व्यू में अबतक दोनों ख़िताब के बदलाव देखे जा चुके थे। लेकिन ये जीत ज्यादा देर तक नहीं रही, क्योंकि बैकस्टेज एक शिकागो का रैसलर अपनी मनी इन द बैंक ब्रीफ़केस लेकर तैयार बैठा था। #3 सीएम पंक ने जेफ हार्डी को हराया: 2009 punkex-1463063522-800 2009 के एक्सट्रीम रूल्स, मेन इवेंट के पे-पर-व्यू में जेफ हार्डी के जीत के कुछ समय बाद ही न्यू ऑरलियन्स एरिना में सीएम पंक का म्यूजिक बजा। मिस्टर मनी इन द बैंक रक रेफरी के साथ रिंग में दौड़ते हुए आये और MITB कैश इन कर दिया। चौंके हुए हार्डी को पंक ने दो GTS दिए और WWE वर्ल्ड हैवीवेट चैंपियनशिप अपने नाम किया। जो हुआ इससे दर्शक भी हक्के बक्के रह गए। ये लम्हा यादगार था क्योंकि यहाँ पर पहली बार सीएम पंक हील बने थे और इसके बाद पंक और हार्डी के बीच कई यादगार पे-पर-व्यू देखे गए। इस फिउड के अंत में हार्डी ने कंपनी छोड़ दी। पंक द्वारा माइक पर कमाल का काम करने के कारण विंस मैकमैहन का उनके हील किरदार में दिलचसी बढ़ी। #4 क्रिस्टिन वर्ल्ड हैवीवेट चैंपियनशिप जीतते हैं: 2011 20110501_er_christian2_l1-1463028260-800 2011 एक्सट्रीम रूल्स पे-व्यू-व्यू का पहला मेन इवेंट यादगार था, क्योंकि काफी इंतज़ार के बाद यहाँ पर दर्शकों के फेवरट क्रिस्टिन ने वर्ल्ड हैवीवेट चैंपियनशिप जीती। इसके पिछले रैसलमेनिया में एज के सन्यास के कारण ये ख़िताब सुनी पड़ी हुई थी और एक्सट्रीम रूल्स में क्रिस्टिन ने इस ख़िताब के लिए अल्बर्टो डेल रियो के साथ लैडर मैच खेला। यहाँ WWE के पोस्टर बॉय डेल रियो की जीत का संभवना थी लेकिन अपनी करिश्मे से सभी को चौंकाते हुए क्रिस्टिन ने इसे जीता। इसने एज ने भी बीच में दखल दी। क्रिस्टन और उनके चाहनेवालों के लिए ये एक यादगार मौका था, हालांकि पांच दिन बाद ही उनसे ये ख़िताब रैंडी ऑर्टन ने छीन लिया। #5 जॉन सीना ने द मिज और जॉन मॉरिसन को हराया: 2011 john-cena-vs-the-miz-vs-jomo-wwe-extreme-rules-2011-john-cena-21646256-683-379-1463028968-800 एक्सट्रीम रूल्स में कई ख़िताब बदले गए। जिस पे-पर-व्यू में क्रिस्टिन ने WWE वर्ल्ड हैवीवेट चैंपियनशिप जीती, उसी पे-पर-व्यू के ट्रिपल थ्रेट मैच में जॉन सीना ने स्टील केज मैच में द मिज और जॉन मॉरिसन को हरा कर WWE चैंपियनशिप जीती। मिज भले ही किसी के चहिते न हो, लेकिन उनके US चैंपियन से लेकर WWE चैंपियन तक उनके रिंग काबिलियत में बहुत सुधार हुआ था। हालांकि उनकी बातें सुनकर आप अपना चैनल बदल दे, लेकिन वें रैसलमेनिया में सीना को हरा कर ख़िताब जीतकर इस पे-पर-व्यू में आएं थे। इस मैच ने मिज के साथ उनके साथी जॉन मॉरिसन भी थे (उन्हें दर्शकों की मिली जुली प्रतिक्रिया मिली), लेकिन इस मैच को देखकर ऐसा लगा की इसमें मिज की हार ही लिखी है। आर-ट्रुथ ने जॉन मॉरिसन को केज से बाहर निकलने से रोका, तो वहीँ जॉन सीना ने टॉप रोप से मिज को AA देकर खिताब अपने नाम किया। लेखक: विविन, अनुवादक: सूर्यकांत त्रिपाठी