क्या Raw और SmackDown के सुपरस्टार्स के बीच WWE भेदभाव करती है?

WWE पहले से ही दुनिया की सबसे बड़ी रैसलिंग कंपनी है और इसके आसपास कोई दूसरी कंपनी फिलहाल नजर नहीं आ रही है। पूरी दुनिया WWE की दीवानी है। WWE में दो ही ब्रांड होते हैं एक है रॉ तो दूसरा है स्मैकडाउन। अगर आप WWE के फैन होंगे तो ये बात अच्छी तरह से जानते होंगे कि रॉ के मुकाबले स्मैकडाउन ब्रांड काफी फीका पड़ रहा है। हमेशा स्मैकडाउन को B शो के तौर पर जाना जाता है। यहां काम कर रहे कई सुपरस्टार्स भी इस बारे में अपनी प्रतिक्रिया दे चुके हैं। लेकिन अगर रिकॉर्ड पर बात की जाए तो रॉ से कहीं ज्यादा स्मैकडाउन है। लेकिन फिर भी इसे कम आंका जाता है। कुछ ऐसी बातें है जो आपको नहीं पता और अगर आपको पता लग जाए तो शायद आप स्मैकडाउन को ज्यादा पंसद करने लग जाएं। सबसे पहले आपको बता दें कि पिछले साल फोर्ब्स ने सबसे ज्यादा मैच लड़ने वाले रैसलर्स की लिस्ट जारी की थी, जिसमे टॉप पांच के रैसलर्स स्मैकडाउन ब्रांड के थे। पिछले साल जिंदर महल ने सबसे ज्यादा 185 मैच लड़े। वही दूसरे नंबर और तीसरे नंबर पर बैरन कॉर्बिन और एजे स्टाइल्स का नाम है। लेकिन सबसे हैरान करने वाली बात ये है कि इन टॉप पांच स्मैकडाउन के रैसलर्स में सिर्फ एजे स्टाइल्स का ही नाम सबसे ज्यादा कमाई करने वाले रैसलर्स में आता है, बांकी चारों रैसलर्स ने पिछले साल कुछ ख़ास कमाई नहीं की थी। जिंदर महल ने नाम जरूर अपना कमाया था लेकिन वो पीछे रह गए। फोर्ब्स ने इस रिपोर्ट में ये भी कहा कि स्मैकडाउन के रैसलर्स पर रॉ के मुकाबले ज्यादा काम का बोझ होता है और इसी वजह से स्मैकडाउन के रैसलर कई बार घायल भी हो जाते हैं। स्मैकडाउन को रॉ के मुकाबले काफी कम पसंद किया जाता है और इसमें नजर आने वाले कुछ ही रैसलर्स को फैंस देखना पसंद करते हैं। वही रॉ के लगभग हर रैसलर को फैंस देखना पसंद करते हैं फिर चाहे वो बेबीफेस हो या हील के तौर पर हो। रिपोर्ट में इस बात पर भी ज्यादा जोर दिया गया था कि कंपनी ब्रांड के मामले में भी रैसलरों के साथ काफी भेदभाव करती है। रॉ के रैसलर्स को ज्यादा पैसे दिए जाते है तो वहीं स्मैकडाउन के सुपरस्टार्स को कम दिया जाता है। वहां कुछ ही ऐसे सुपरस्टार है जो अच्छा पैसा कमाते हैं।इससे ये साफ जाहिर होता है कि यहां भी भेदभाव का मामला कुछ ज्यादा ही है।

App download animated image Get the free App now