Create
Notifications

WWE स्मैकडाउन - 30 अगस्त 2016 अच्छी और बुरी बातें

सुर्यकांत त्रिपाठी

इस हफ्ते का स्मैकडाउन हमें टेक्सास के अमेरिकन एयरलाइन्स सेंटर, डलास में आयोजित हुआ। एक कमाल के रॉ के बाद ये शो टीवी पर आया। हालांकि शो धीमी गति से आगे बढ़ा लेकिन ये रॉ की तुलना में कुछ नहीं था, जहाँ पर नया यूनिवर्सल चैंपियन बनाया गया। थोड़ी देर में ये शो भी सुस्त दिखाई देने लगा। वैसे ये कोई ख़राब शो नहीं था, लेकिन इसे देखना जरूरी हो ऐसा शो भी नहीं था। इस शो की अच्छाईयां और बुराईयां बताने लायक काफी बातें हैं इस आर्टिकल के लिए। ये रही इस शो की अच्छी और बुरी बातें: अच्छाई: इस शो से जुडी कई चीज़ें हमे पसंद आई। 1- हमें मिज़ पसंद आएं miz-1472613034-800 रैसलमेनिया की रात को जब मिज़ ने जैक राइडर से IC जीती तब कईयों को WWE का ये निर्णय पसंद नहीं आया। लगातार दर्शकों को इसके लिए नए चैंपियन की मांग थी, लेकिन अबतक मिज़ ने इस ख़िताब को अपने पास बनाए रखा हैं। मिज़ ने पिछले हफ्ते टॉकिंग स्मैक में कमाल का प्रोमो दिया। और इस हफ्ते उनका साथ देने आए डॉल्फ ज़िगलर। अब जब बैकलैश में IC के मैच की घोषणा हो चुकी है, हम उसका बेसब्री से इंतज़ार कर रहे हैं। ये मैच कमाल का होगा। 2- हीथ स्लेटर को दर्शकों ने पसंद किया heath-slater-1472613552-800 हीथ स्लेटर अब एक स्टार हैं। उनकी लोकप्रियता को देखते हुए अब "स्लॉटर किड्स" आधिकारिक हो गयी है। चाहे स्किट हो, या वापसी कर रहे हेडबैंगर या फिर टॉकिंग स्मैक। स्लॉटर ऐसे रैसलर हैं जिनकी WWE ने सालों तक कदर नहीं की और आज जाकर उनकी अहमियत सभी को पता चली है। 3- दो घंटे का फॉर्मेट naomi-1472613835-800 भले ही पूरे शो की ज्यादा अहमियत नहीं थी, लेकिन इस शो को ज्यादा लम्बा नहीं खींचा गया, ये शो की सबसे खास बात थी। दो घंटे का स्मैकडाउन मजेदार था। अगर इसकी तुलना रॉ से की जाए तो रॉ का आखरी सेगमेंट छोड़कर बाकी हिस्सा काफी लम्बा लगा। स्मैकडाउन का दो घंटे का फॉर्मेट अच्छा था। 4- केन की वापसी chaddi-1472614899-800 स्मैकडाउन में दिग्गज रैसलर्स की कमी है, ऐसे रैसलर्स जो युवाओं को पुश कर सकें। केन और बैरोन कॉर्बिन के बीच का मुकाबला ऐसा कर सकता हैं। ये कैलिस्टो के साथ 50-50 के फिउद जिससे किसी को फायदा नहीं होता उससे बेहतर है। अगर आपको लग रहा है कि वें आउटडेट हो गए हैं, तो मैं बता दूं कि यहाँ पर मैं कॉर्पोरेट केन की बात नहीं कर रहा हूँ। बुराईयां: जी हाँ, इस शो में ऐसी कई बातें थी जो हमे पसंद नहीं आई। 1- विज्ञापन ads-1472615487-800 इस हफ्ते के शो में कई विज्ञापन थे, जैसे ही हम किसी सेगमेंट में रूचि लेने लगते तभी विज्ञापन शुरू हो जाते। इन ब्रेक से वापस लौटकर हमे सबकुछ शुरू से शुरू करना पड़ता। इस वजह से शो ज्यादा असरदार नहीं रहा। विज्ञापन कमाई का अच्छा जरिया है, लेकिन अगर उससे आपके शो को फर्क पड़ रहा हो, तो ये बड़ी समस्या है। 2- स्मैकडाउन के रॉस्टर में गहराई नहीं है lack-of-depth-1472615903-800 चलिए इसपर बात करते हैं। स्मैकडाउन के पास रॉ के रॉस्टर की तरह मिडकार्ड रैसलर्स नहीं है। और असली स्टार पॉवर की गैरमौजूदगी से शो को काफी नुकसान हो रहा है। इसे अच्छे से जानने के लिए हम बैकलैश के मैच कार्ड के बारे में बात करते हैं। वहां पर एम्ब्रोज़ बनाम स्टाइल्स, ऑर्टन बनाम वायट, दो नए ख़िताब और मिज़ बनाम ज़िगगलेर हैं। यहाँ पर इतने ही स्टार्स हैं बाकि मैचों के बारे में कुछ खास जानकारी नहीं है। उनके लिए बाकि मैचों की बुकिंग एक समस्या होगी। खासकर तब जब वें बैकलैश के प्री शो के बारे में बात कर रहे हों। क्योंकि कमज़ोर रॉस्टर के कारण इस हफ्ते के शो में भी दम नहीं दिखी। 3- JBL और डेविड ओटुंगा jbl-and-otunga-1472616469-800 कार्य ग्रेव्स ने रॉ के अनाउंस टीम का स्तर बढ़ा दिया है। वहीँ मैरो रानॉलो स्मैकडाउन के लिए वैसा करने में असमर्थ रहे हैं। JBL और डेविड ओतुंगा हमेशा उन्हें मूव्स के बारे में बोलने से रोकते रहते हैं, इन कमेंट से शो को कुछ नहीं मिलता। क्या जेरी लौलेर वापस आ सकते हैं? अंत में, स्मैकडाउन लाइव शो को 6.5/10 अंक दिए जाते हैं। यहाँ पर कुछ खास नहीं हुआ। लेखक: रिजु डासगुप्ता, अनुवादक: सूर्यकांत त्रिपाठी

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...