Create

सुपरस्टार्स की एंट्री और जीत के वक्त होने वाली आतिशबाजी को फिर से वापिस ला सकती है WWE

WWE में एक समय था, जब कोई भी बड़ा इवेंट या पीपीवी होता था, तो सुपरस्टार्स की एंट्री और जीत के बाद कंपनी पायरोटैक्निक्स (आतिशबाजी) का इस्तेमाल करती थी। लेकिन WWE द्वारा अब पायरोटैक्निक्स का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। कंपनी द्वारा ये कदम खर्चे में कटौती करने के लिए उठाया गया है। आपको याद ही होगा जब ब्रॉक लैसनर स्टेज पर एंट्री करते वक्त वो अपने हाथों को नीचे की तरफ जोर से झटकते थे और तभी आतिशबाजी हुआ करती थी, लेकिन अब ये नहीं होता। यही केन से साथ हुआ करता था, जब वो रिंग में रस्सी को पकड़ते थे तो रिंग पोस्ट से लाल रंग की आग निकलती थी। WWE ने ये सब चीजें काफी समय पहले बंद कर दी है।

youtube-cover


प्रो रैसलिंग के बड़े जानकार डेव मैल्टजर का मानना है कि WWE रैसलमेनिया के लिए पायरोटैक्निक्स को वापिस लेकर आ रही है। रैसलमेनिया 34 वैसे ही काफी सारी सुर्खियां बटोर रही है। सभी का ध्यान ब्रॉक लैसनर, रोमन रेंस के बीच, अंडरटेकर और जॉन सीना की दुश्मनी, डैनियल ब्रायन की इन रिंग वापसी पर है, ऐसे में पायरोटैक्निक्स शो में चार चांद लगाने के लिए अपने भूमिका निभा सकती है। रैसलिंग ऑब्जर्वर रेडियो के हालिया एपिसोड के दौरान डेव से पूछा गया कि क्या रैसलमेनिया 34 में पायरोटैक्निक्स का इस्तेमाल होगा। डेव मैल्टजर का कहना था कि उन्हें किसी से जानकारी मिली है कि WWE रैसलमेनिया में आतिशबाजी का फिर से इस्तेमाल करने जा रही है। जुलाई 2017 में डेव मैल्टजर ने ही बताया था कि WWE अपने खर्चों में कटौती करने के लिए पायरोटैक्निक्स बंद कर रही है। कंपनी को लगता है कि सुपरस्टार्स के लिए अब इसकी कुछ खास जरूरत नहीं है। WWE का बिजनेस एंगल को देखते हुए ये फैसला भले ही सही लगता हो, लेकिन फैंस के नजरिए से देखें तो बिना पायरोटैक्निक्स के कई सुपरस्टार्स की रिंग एंट्री रूखी सी हो गई है।

Edited by Staff Editor
Be the first one to comment