Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

एएआई ने आर्चरी विश्‍व कप संभावितों की घोषणा की

आर्चरी
आर्चरी
Vivek Goel
SENIOR ANALYST
Modified 31 Jan 2021
न्यूज़
Advertisement

भारतीय आर्चरी संघ (एएआई) ने रविवार को 24 कंपाउंड पुरुष और महिला आर्चर के कोर ग्रुप को शॉर्ट लिस्‍ट किया, जो विश्‍व कप के पहले तीन चरण के सेलेक्‍शन ट्रायल्‍स में हिस्‍सा लेंगे। 24 आर्चर का चयन दिल्‍ली में ट्रायल के बाद किया गया। एएआई ने अपने बयान में कहा, '70 कंपाउंड आर्चर, जिसमें 32 पुरुष और 38 महिलाएं शामिल। पुरुषों ने 695+ और महिलाओं में 680+ के स्‍कोर वाले ट्रायल्‍स के लिए योग्‍य थे।' 

एएआई ने इससे पहले टोक्‍यो ओलंपिक्‍स तैयारी के लिए रिकर्व सेक्‍शन में आठ पुरुष और आठ महिला आर्चर का चयन किया था। पुणे में 5-9 मार्च तक आर्मी स्‍पोर्ट्स इंस्‍टीट्युट में होने वाले फाइनल सेलेक्‍शन ट्रायल्‍स के लिए वो तीन सदस्‍यीय हो जाएंगे।

संभावित

रिकर्व पुरुष: अतनु दास, तरुणदीप राय, प्रवीण जाधव, कपिल, जयंत तालुकदार, बी धीरज, यशदीप भोगे और सुखमणि बाबरेकाएर।

रिकर्व महिला: दीपिका कुमारी, अंकिता बख्‍त, एल बॉमबायला देवी, कोमालिका बारी, मधु वेदवन, संगीता, रिधी, बारिया और तिशा संचेती।

कंपाउंड पुरुष: अभिषेक वर्मा, रजत चौहान, अमन सैनी, प्रवीण कुमार, संगमप्रीत बिस्‍ला, एमआर भारद्वाज, रिषभ यादव, मयंक रावत, सुखबीर सिंह, राहुल, अर्जुन कुमार और सी श्रीधर।

कंपाउंड महिला: वी ज्‍योति सुरेखा, रागिनी मार्को, रेखा लंदकर, मुस्‍कान किरार, प्रिया गुर्जर, स्‍वाति दुधवाल, त्रिशा देब, साची धल्‍ला, अनुराधा अहुरवार, अक्षिता, अरिष्‍या चौधरी और प्रगति।

आर्चरी के नियम जान सकते हैं

आर्चरी में जरूरत होती है कौशल और एकाग्रता की, ताकि 70 मीटर दूर से एक आर्चर सीधे लक्ष्य पर निशाना लगा सके। ओलंपिक आर्चरी का जो लक्ष्य बोर्ड होता है, उसकी चौड़ाई 122 सेंटीमीटर व्यास की होती है, जिनमें पांच अलग अलग रंगों की 10 स्कोरिंग रिंग बनी होती है। अंदर वाली रिंग का रंग सुनहरा होता है इसमें 10 या 9 अंक आते हैं। (10 का माप सिर्फ 12.2 सीएम व्यास का होता है, जिसका आकार एक म्यूजिक सीडी के बराबर होता है)। आर्चर लक्ष्य पर निशाना 70 मीटर की दूरी से लगाते हैं, जो कि एक ओलंपिक स्विमिंग पूल की लंबाई से भी ज्‍यादा होती है।

टारगेट आर्चरी एक ओलंपिक खेल है, जो दुनिया भर के 140 से ज्‍यादा देशों में खेला जाता है। आर्चरी पहली बार ओलंपिक में पेरिस 1900 में शामिल हुई थी, हालांकि इसके 1908 के खेलों के बाद ड्रॉप कर दिया गया था। इसके बाद 1920 ओलंपिक में एक बार फिर आर्चरी को ओलंपिक में शामिल किया गया था, पर दोबारा इसे खत्म कर दिया गया। 

आखिरकार 52 सालों के लंबे फासले के बाद म्यूनिख 1972 में आर्चरी फिर से ओलंपिक में शामिल की गई और तब से अब तक लगातार आर्चरी ओलंपिक का हिस्सा है। टोक्यो 2020 ओलंपिक में पुरुष और महिला के व्यक्तिगत इवेंट होंगे साथ ही साथ पुरुष, महिला और मिश्रित टीम इवेंट भी खेला जाएगा। मिश्रित टीम इवेंट ओलंपिक में पहली बार शामिल किया गया है।

Published 31 Jan 2021, 23:10 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now