तीरंदाजी विश्व कप के आखिरी दिन भारत के नाम एक सिल्वर मेडल, स्टेज 3 के बाद दूसरे स्थान पर 

दीपिका कुमारी की अगुवाई में भारत ने महिला टीम रिकर्व का सिल्वर जीता।
दीपिका कुमारी की अगुवाई में भारत ने महिला टीम रिकर्व का सिल्वर जीता।

भारतीय तीरंदाजों ने पेरिस में हुए तीरंदाजी विश्व कप के आखिरी दिन रिकर्व महिला टीम इवेंट का सिल्वर मेडल अपने नाम किया। दीपिका कुमारी की अगुवाई में भारतीय टीम को फाइनल में चीनी ताइपे के हाथों 5-1 से हार का सामना करना पड़ा। एक दिन पहले ही भारत ने 1 गोल्ड और 1 सिल्वर मेडल जीता था, इस तरह विश्व कप की इस तीसरी स्टेज में भारत ने कुल 3 पदक अपने नाम किए।

सेमीफाइनल में भारत ने तुर्की को मात दी थी। दीपिका कुमारी, अंकिता भकत, सिमरनजीत कौर की तिकड़ी रिकर्व टीम के फाइनल में चीनी ताइपे की पेंग चिया-माओ, कुओ जू यिंग और लेई चिएन-यिंग के खिलाफ उतरीं। पहले सेट में ताइपे की टीम ने 56-53 से जीत दर्ज की। दूसरे सेट में दोनों टीमों का स्कोर 56-56 से बराबरी पर रहा। तीसरे सेट में ताइपे की टीम 56-53 से जीती और गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया।

भारत ने इससे पहले कम्पाउंड मिक्स्ड टीम का गोल्ड मेडल जीता जहां अभिषेक वर्मा और ज्योति सुरेखा ने जीत दर्ज की। वहीं ज्योति सुरेखा ने कम्पाउंड महिला एकल वर्ग में सिल्वर मेडल जीता। तीरंदाजी विश्व कप की कुल 4 शुरुआती स्टेज हैं। पहली स्टेज अप्रैल में तुर्की के अंताल्या में खेली गई, दूसरी स्टेज मई में दक्षिण कोरिया के ग्वांगजू में संपन्न हुई, पेरिस की तीसरी स्टेज के बाद चौथी स्टेज जुलाई में कोलंबिया में होगी। इसके बाद 15-16 अक्टूबर को मेक्सिको में विश्व कप का फाइनल खेला जाएगा।

भारत ने पहली स्टेज में 2 गोल्ड मेडल जीते थे जबकि कोरिया में हुई दूसरी स्टेज में 1 गोल्ड, 1 सिल्वर और 3 ब्रॉन्ज अपने नाम किए। अब पेरिस की जीत मिलाते हुए भारत ने कुल 4 गोल्ड, 3 सिल्वर और 3 ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम कर लिए हैं। दक्षिण कोरिया की टीम ओवरऑल पदक तालिका में 7 गोल्ड के साथ फिलहाल पहले स्थान पर है जबकि भारत दूसरे और ब्रिटेन की टीम तीसरे स्थान पर काबिज है।

Edited by Prashant Kumar