नीरज चोपड़ा ने जीती लुसैन डायमंड लीग, पांचवे स्थान पर रहे मुरली श्रीशंकर 

नीरज चोपड़ा ने इस सीजन दोहा में भी डायमंड लीग में पहला स्थान हासिल किया था।
नीरज चोपड़ा ने इस सीजन दोहा में भी डायमंड लीग में पहला स्थान हासिल किया था।

ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट जैवलिन थ्रो एथलीट नीरज चोपड़ा ने लुसैन डायमंड लीग में पहला स्थान हासिल किया है। चोपड़ा ने 87.66 मीटर के थ्रो के साथ जीतने में कामयाबी हासिल की। चोपड़ा ने मई में दोहा में डायमंड लीग पहला स्थान हासिल किया था और अब लुसैन में जीत के साथ ही इस साल होने वाले डायमंड लीग फाइनल के लिए अपनी दावेदारी मजबूत कर ली है।

स्विट्जरलैंड में हो रही प्रतियोगिता के जैवलिन थ्रो फाइनल में चोपड़ा का शुरुआती थ्रो फेल रहा। दूसरे प्रयास में उन्होंने 83. 52 मीटर की दूरी नापी। जर्मनी के जुलियन वेबर ने अपने पहले प्रयास में 86.20 मीटर की दूरी नाप ली थी और वह पहले स्थान के दावेदार थे।

नीरज ने तीसरे प्रयास में 85.04 मीटर की दूरी तक भाला फेंका। अपने पांचवे प्रयास में नीरज ने 87.66 मीटर की दूरी नापी और पहले स्थान पर आ गए। वेबर ने आखिरी प्रयास में 87.03 मीटर तक जैवलिन फेंका लेकिन उन्हें दूसरे स्थान से ही संतोष करना पड़ा। तीसरा स्थान चेक रिपब्लिक के याकूब वादलेच को मिला।

लेकिन लॉन्ग जम्प में भारत को निराशा हाथ लगी जहां कॉमनवेल्थ गेम्स सिल्वर मेडलिस्ट श्रीशंकर मुरली पांचवे स्थान पर रहे। श्रीशंकर ने 7.88 मीटर की छलांग लगाई लेकिन यह उनके पूर्व के प्रदर्शन के लिहाज से काफी खराब थी। श्रीशंकर ने जून के महीने में ही पेरिस डायमंड लीग में 8.09 मीटर की कूद के साथ तीसरा स्थान हासिल किया था।

क्या है डायमंड लीग ?

डायमंड लीग एथलेटिक्स की सालाना होने वाली प्रतियोगिता है जिसकी शुरुआत साल 2010 में हुई थी। इसके तहत पूरे सीजन दुनिया के अलग-अलग चिन्हित शहरों में इसके लेग आयोजित होते हैं और आखिरकार इसका फाइनल होता है। इस सीजन 14 लेग होंगे और आखिर में अमेरिका के यूजीन में डायमंड लीग का फाइनल होगा। पिछले साल डायमंड लीग के ज्यूरिक, स्विट्जरलैंड में हुए फाइनल में नीरज चोपड़ा ने जैवलिन थ्रो का गोल्ड जीता था।

Edited by Prashant Kumar
App download animated image Get the free App now