Create

नेशनल गेम्स : रोजी पॉलराज ने पोल वॉल्ट में बनाया राष्ट्रीय रिकॉर्ड, 3 साल पहले ही शुरु की थी ट्रेनिंग

रोजी ने 8 साल पुराना वी सुरेखा का रिकॉर्ड तोड़ नया कीर्तिमान स्थापित किया।
रोजी ने 8 साल पुराना वी सुरेखा का रिकॉर्ड तोड़ नया कीर्तिमान स्थापित किया

तमिलनाडु की रोजी मीना पॉल आज 25 साल की हैं। 5 फुट 2 इंच लंबी इस युवती ने तीन साल पहले ही पोल वॉल्ट में हाथ आजमाने की थामी। सभी को लगा कि वह शौकिया तौर पर इसे खेलेंगी। लेकिन गुजरात में हो रहे नेशनल गेम्स 2022 में रोजी ने पोल वोल्ट का 8 साल पुराना राष्ट्रीय रिकॉर्ड तोड़कर सभी को चौंका दिया है। रोजी ने 4.20 मीटर की ऊंचाई पार करते हुए गोल्ड जीता और नया राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया।

Congratulations to the Medalists of the Women’s Pole Vault Event!ROSY MEENA PAULRAJ (Tamil Nadu) 🥇PAVITHA VENGATESH (Tamil Nadu) 🥈BARANICA ELANGOVAN (Tamil Nadu) 🥉#36thNationalGames #NationalGames #UnityThroughSports #JudegaIndiaJitegaIndia@CMOGuj @sagofficialpage https://t.co/M3RLxy81lH

रोजी ने वी सुरेखा का रिकॉर्ड तोड़ा जो 4.15 मीटर का था और साल 2014 में उन्होंने बनाया था। खास बात ये है कि इस बार गोल्ड के अलावा सिल्वर और ब्रॉन्ज भी तमिलनाडु के नाम रहे। पवित्रा वेंकटेश को 4 मीटर की ऊंचाई नापने के लिए सिल्वर मेडल मिला तो बेरानिका एलनागोविन ने 3.90 मीटर की ऊंचाई के साथ ब्रॉन्ज मेडल हासिल किया।

पदक जीतने के बाद अपने कोच रसेल के साथ रोजी।
पदक जीतने के बाद अपने कोच रसेल के साथ रोजी।

फाइनल में कुल 11 खिलाड़ियों ने भाग लिया लेकिन कोई भी रोजी के आसपास नहीं आ सका। खास बात ये है कि जिन वी सुरेखा का रिकॉर्ड रोजी ने तोड़ा है, वही सुरेखा रोजी की प्रेरणास्त्रोत भी हैं। पहला स्थान पाने के बाद पोडियम पर रोजी मेडल हासिल कर रोने लगीं। पूर्व में रोजी जिम्नास्टिक्स में भाग लेती थीं। लेकिन साल 2019 में ही उन्होंने एक पोल वॉल्ट खिलाड़ी से प्रभावित होकर इस खेल में हाथ आजमाया और धीरे-धीरे काफी अच्छा प्रदर्शन करने लगीं।

आमतौर पर एथलीट बनने के लिए कोई भी शख्स बचपन से ही तैयारी शुरु कर देता है और उस एक खेल में जमकर ट्रेनिंग करता है। खबरों के मुताबिक रोजी ने जब 22 साल की उम्र में जब पोल वॉल्टर बनने की ठानी तो लगभग हर किसी ने इसे नामुमकिन बताया। खासतौर पर रोजी के छोटे कद को देखकर किसी को भी भरोसा नहीं था कि वह राष्ट्रीय स्तर पर नाम कमा पाएंगी। लेकिन अपनी मेहनत से इस खिलाड़ी ने कीर्तिमान स्थापित कर दिया है।

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment