Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

विश्‍व 100 मीटर चैंपियन क्रिश्चियन कोलमैन पर लगा दो साल का प्रतिबंध, टोक्‍यो ओलंपिक्‍स में नहीं ले पाएंगे हिस्‍सा

क्रिश्चियन कोलमैन
क्रिश्चियन कोलमैन
Vivek Goel
SENIOR ANALYST
Modified 28 Oct 2020, 23:32 IST
न्यूज़
Advertisement

विश्‍व चैंपियन स्प्रिंटर क्रिश्चियन कोलमैन अगले साल टोक्‍यो ओलंपिक्‍स में हिस्‍सा नहीं ले पाएंगे। एथलेटिक्‍स अतुल्‍नीय ईकाई (एआईयू) ने मंगलवार को घोषणा की है कि क्रिश्चियन कोलमैन पर डोपिंग विरोधी उल्‍लंघन के कारण एथलेटिक्‍स से दो साल का प्रतिबंध लगाया गया है। पिछले साल दोहा में विश्‍व चैंपियनशिप में पुरुषों की 100 मीटर रेस के विजेता अमेरिकी क्रिश्चियन कोलमैन को जून में तीन ठिकाने विफलताओं के लिए अनंतिम रूप से निलंबित किया गया था। विश्व एथलेटिक्स के अनुशासनात्मक न्यायाधिकरण ने आरोप को बरकरार रखा और कोलमैन को दो साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया, जो 14 मई, 2020 तक वापस आ गया। 24 वर्षीय क्रिश्चियन कोलमैन के पास कोर्ट ऑफ आर्बिट्रेशन फॉर स्पोर्ट में निर्णय की अपील करने के लिए 30 दिन का समय है।

क्रिश्चियन कोलमैन अगले साल जापान में ओलंपिक गेम्‍स में हिस्‍सा नहीं ले सकेंगे, जहां वो 100 मीटर रेस में गोल्‍ड मेडल जीतने के प्रबल दावेदार माने जा रहे थे। 60 मीटर के भी विश्‍व रिकॉर्डधारी क्रिश्चियन कोलमैन ने चार साल पहले रियो ओलंपिक्‍स में सिर्फ 4x100 मीटर रिले रेस में हिस्‍सा लिया था, जो उनका पहला ओलंपिक भी था। एआईयू ने कोलमैन पर जनवरी और दिसंबर 2019 में छूटे परीक्षणों के लिए, साथ ही पिछले अप्रैल में "फाइलिंग फेल" के लिए आरोप लगाया।

डोपिंग रोधी उल्लंघन को साबित करने के लिए, एक एथलीट को 12 महीनों के भीतर तीन ठिकाने विफल करने होंगे। क्रिश्चियन कोलमैन पिछले सितंबर को विश्व चैंपियनशिप की तकनीकी प्रगति पर निलंबन से बच गए थे। 6 जून 2018, 16 जनवरी, 2019 और 26 अप्रैल, 2019 को उन तीन ठिकानों को विफल कर दिया गया। हालांकि, कोलमैन ने सफलतापूर्वक तर्क दिया था कि पहले छूटे हुए मामले को तिमाही के पहले दिन - 1 अप्रैल, 2018 को वापस कर दिया जाना चाहिए था - जिसका अर्थ है कि तीन विफलताएं 12-महीने की आवश्यक अवधि के ठीक बाहर हो गईं।

लेकिन अब 9 दिसंबर, 2019 को मिस्ड टेस्ट, जनवरी और अप्रैल में दो विफलताओं में जोड़ा गया, कोलमैन को निलंबित कर दिया गया है। क्रिश्चियन कोलमैन ने कहा, 'मेरा मानना है क‍ि 9 दिसंबर को किया गया प्रयास मुझे एक परीक्षण से चूकने का प्रस्‍तावित प्रयास था। मुझे यह मत कहिए कि मैं परीक्षण से चूका। अगर आप मेरे दरवाजे पर घुसते हैं (गेट के बाहर पार्क होते हैं और वहां से गुजरते हैं ... तो मेरी जानकारी के बिना मेरी जगह किसी का कोई रिकॉर्ड नहीं है)।'

क्रिश्चियन कोलमैन टेस्‍ट के लिए तैयार

क्रिश्चियन कोलमैन ने कहा कि परीक्षण करने वाले तब आए जब वो क्रिस्‍मस के लिए शॉपिंग पर गए थे। उस समय के बैंक स्‍टेटमेंट् और रसीदें इस बात की गवाह हैं। क्रिश्चियन कोलमैन ने कहा, 'मैं ज्‍यादा तैयार था और परीक्षण के लिए उपलब्‍ध भी था। अगर मुझे फोन किया जाता तो मैं ड्रग टेस्‍ट कराता और अपनी रात वैसे ही बिताता। मुझे केवल एआईयू द्वारा अगले दिन 10 दिसंबर, 2019 को इस प्रयास किए गए ड्रग टेस्ट के बारे में अवगत कराया गया, जब मुझे यह असफल प्रयास रिपोर्ट कहीं से भी नहीं मिली।'

डोपिंग नियंत्रित अधिकारी ने रिपोर्ट दी कि वह क्रिश्चियन कोलमैन घर गए, लेकिन कई बार नाम पुकारने और चिल्‍लाने के बावजूद उन्‍हें कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली। उन्‍होंने हर 10 मिनट में एक घंटे तक आवाज लगाने का प्रयास किया। क्रिश्चियन कोलमैन के घर के करीब घंटी जरूर थी, लेकिन उसकी आवाज नहीं सुनाई दी।

Published 28 Oct 2020, 23:32 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit