Create
Notifications

ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल में हारे साइना और श्रीकांत

साइना नेहवाल
Ashutosh Sharma
visit

ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन चैंपियनशिप में भारतीय सितारे साइना नेहवाल और किदांबी श्रीकांत को हार का सामना करना पड़ा। इसके साथ ही टूर्नामेंट में भारत की चुनौती खत्म हो गई। साइना नेहवाल और किदांबी श्रीकांत चैंपियनशिप क्वार्टर फाइनल में कुछ खास नहीं कर पाये और हार गये। इससे पहले भारत की शीर्ष महिला बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु पहले ही राउंड में हारकर टूर्नामेंट से बाहर हो चुकी थीं।

साइना को दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी ताइवान की ताई जू यिंग ने 15-21, 19-21 से शिकस्त दी। दोनों के बीच मैच मात्र 37 मिनट ही चल सका। साइना की यह ताई के खिलाफ 20 मैचों में लगातार 13वीं और कुल 15वीं हार है। गौरतलब है कि साइना 2013 में स्विस ओपन के बाद छह साल से ताई जू यिंग के खिलाफ जीत नहीं पाई हैं।

पहला गेम- साइना ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन चैंपियनशिप 2015 में उपविजेता रह चुकी हैं। वे पहले गेम में शुरू से ही लय नहीं पकड़ पाईं। ताई जू यिंग ने 4-1 से शुरुआती बढ़त बनाई। इसके बाद यिंग ने एक समय अपनी बढ़त को 13-6 तक पहुंचा दिया। साइना के लिए पहला सेट हाथ से निकलता जा रहा था। वह लगातार कोशिशों के बावजूद गेम में वापसी नहीं कर पाईं। फिर यिंग ने 14-8 से बढ़त लेने के बाद स्कोर को 20-12 तक पहुंचा दिया और 21-15 से पहला गेम अपने नाम कर लिया। पहला सेट महज 16 मिनट ही चल सका।

दूसरा गेम – दूसरे मैच में साइना ने वापसी की। उन्होंने 4-2 की बढ़त के साथ शुरुआत करते हुए स्कोर को एक समय तक 9-4 तक पहुंचा दिया था, लेकिन यिंग ने यहां शानदार वापसी की और पहले तो स्कोर 9-11 किया और फिर 13-13 से बराबरी हासिल कर ली। यिंग ने इसके बाद 16-14 की बढ़त बना ली थी। साइना ने फिर गेम में वापसी की कोशिश की और उनकी कोशिश रंग लाई। उन्होंने स्कोर को 19-19 से बराबरी पर लाने में कामयाबी हासिल की। इसके बाद भी यिंग ने मैच पर अपनी पकड़ बनाते हुए पहले 20-19 की बढ़त ली और फिर 21-19 से गेम और मैच अपने नाम कर लिया। गौरतलब है कि साइना ने इससे पहले प्री-क्वार्टर फाइनल में डेनमार्क की लिने होजमार्क क्लाएर्सफेल्ट को 8-21, 21-16, 21-13 से हराया था। पहले दौर के मुकाबले में साइना ने स्कॉटलैंड की क्रिस्टी गिल्मर को 21-17, 21-18 से हराया था।

सातवीं वरीय प्राफ्त किदांबी श्रीकांत को दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी जापान के केंतो मोमोता ने 21-12,21-16 से हराया। गौरतलब है कि यह श्रीकांत की मोमोता के खिलाफ लगातार आठवीं और 14 मुकाबलों में कुल 11वीं हार है। आखिरी बार श्रीकांत ने मोमोता को 2015 में इंडिया ओपन में हराया था। वे चार साल से मोमोता के खिलाफ एक मैच भी नहीं जीत पाए हैं।

महिला युगल और मिश्रित युगल में भी भारतीय जोड़ी कुछ खास नहीं कर पाई। अश्विनी पोनप्पा और एन. सिक्की रेड्डी की जोड़ी को जापान की शिहो टानाका और कोहारू योनेमोटो की जोड़ी ने हरा दिया। उन्होंने भारतीय जोड़ी को 16-21, 28-26, 21-16 से मात दी। मिश्रित युगल में भी प्रणव जैरी चोपड़ा और एन. सिक्की रेड्डी की जोड़ी को चांग टाक चिंग और विंग युंग की जोड़ी ने 23-21, 21-17 से हराया।


Edited by निशांत द्रविड़
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now