हर इवेंट में एक अनिवार्य कोविड-19 टेस्‍ट खिलाड़‍ियों के लिए हो - बीडब्‍ल्‍यूएफ एसओपी

बीडब्‍ल्‍यूएफ एसओपी
बीडब्‍ल्‍यूएफ एसओपी

बैडमिंटन विश्व महासंघ (बीडब्‍ल्‍यूएफ) ने कोविड-19 महामारी के बीच खेल की बहाली की मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) की घोषणा की है। बीडब्‍ल्‍यूएफ ने कहा कि सभी खिलाड़ियों और अधिकारियों को विश्व टूर के सभी टूर्नामेंट्स व प्रमुख चैंपियनशिप में कम से कम एक अनिवार्य कोविड-19 टेस्‍ट से गुजरना होगा।

बीडब्‍ल्‍यूएफ ने एक विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा, 'खिलाड़‍ियों और स्‍टाफ को सुरक्षित माहौल देने के लिए बीडब्‍ल्‍यूएफ प्रत्‍येक प्रमुख चैंपियनशिप व विश्‍व टूर टूर्नामेंट्स में कोविड-19 टेस्‍ट कराना अनिवार्य करेगा।' एक दिन पहले ही बीडब्‍ल्‍यूएफ ने संशोधित कैलेंडर की घोषणा की है।

विज्ञप्ति में कहा गया, 'सभी खिलाड़ियों और अधिकारियों को हर प्रमुख चैंपियनशिप और विश्व टूर टूर्नामेंट्स में कोविड-19 जांच करानी होगी। हर टूर्नामेंट में कम से कम एक जांच अनिवार्य होगी।' इसमें बताया गया कि पहचान पत्र तीन वर्गों या बबल में होंगे जो हरा, नारंगी और लाल होगा।

बीडब्‍ल्‍यूएफ एसओपी में कहा गया, 'हर वर्ग के प्रतियोगियों को अपना देश छोड़ने से पहले कोविड-19 जांच करानी होगी और टेस्ट का नतीजा निगेटिव होना चाहिए। हर टूर्नामेंट के लिए हर वर्ग का पहचान पत्र तभी जारी होगा जब जांच रिपोर्ट निगेटिव आएगी।'

इसमें आगे कहा, 'बीडब्ल्यूएफ के दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने पर पहचान पत्र रद्द कर दिया जायेगा और परिसर में प्रवेश की अनुमति भी नही मिलेगी।'

इसी तरह नारंगी और लाल वर्ग के पहचान पत्र वालों की जांच नहीं होगी, लेकिन उनका तापमान जरूर चेक किया जाएगा। मैच से पहले और बाद के प्रोटोकॉल भी जारी किए गए हैं।

इसके मुताबिक, 'हाथ मिलाने की बजाय दोनों खिलाड़ी आपस में रैकेट टकराएंगे और मैच अधिकारियों का अपने सीने पर हाथ क्रॉस करके अभिवादन करेंगे।'

इसके अलावा शटलकॉक डिस्पेंसर भी हर कोर्ट के हर छोर पर रहेगा। खिलाड़ी को जब शटलकॉक बदलनी हो और अंपायर इसकी अनुमति दे तो इसमें से वह ले सकता है और उपयोग की हुई शटलकॉक को सर्विस जज को रैकेट से दे सकता है या शटल बॉक्स में डाल सकता है।

बीडब्‍ल्‍यूएफ के समायोजित कैलेंडर में बदलाव

बीडब्‍ल्‍यूएफ ने समायोजित कैलेंडर में इंडिया ओपन सुपर 500 और सैयद मोदी इंटरनेशनल सुपर 300 टूर्नामेंट रद्द कर दिए हैं। इंडिया ओपन पुराने कैलेंडर के हिसाब से पहले मार्च में होना था, लेकिन फिर बदलाव करके इसे नई दिल्‍ली में 8-13 दिसंबर के बीच होना था। वहीं सैयद मोदी 17-22 नवंबर तक लखनऊ में होना था।

बीडब्‍ल्‍यूएफ ने अपने बयान में कहा था, 'बीडब्‍ल्‍यूएफ ने 2020 में एचएसबीसी बीडब्‍ल्‍यूएफ वर्ल्‍ड टूर के समायोजित टूर्नामेंट पर लागू करेगी। डेनमार्क, आरहुस में टोटल बीडब्‍ल्‍यूएफ थॉमस और उबर कप फाइनल्‍स 2020 अंतरराष्‍ट्रीय बैडमिंटन टूर्नामेंट कैलेंडर का हिस्‍सा रहेंगे और तय कार्यक्रम के मुताबिक 3-11 अक्‍टूबर 2020 में होंगे।'

वहीं भारतीय बैडमिंटन संघ ने ट्वीट किया था, 'कोरोना वायरस महामारी की चिंता पर वजन देते हुए यह फैसला लिया गया है कि सैयद मोदी इंटरनेशनल और इंडिया ओपन इस साल रद्द कर दिए गए हैं। खिलाड़‍ियों की सुरक्षा और खेल से जुड़े अन्‍य लोगों की सुरक्षा महत्‍वपूर्ण हैं। हमें 2021 में लौटने की उम्‍मीद है।'

App download animated image Get the free App now