अपने भारतीय ओलंपियन को जानें: बी सुमीत रेड्डी (बैडमिंटन)

साल 2016 में होने जा रहे रियो ओलंपिक में 24 साल के शटलर सुमीत रेड्डी के लिए ये पहला ओलंपिक है। सुमीत ने मेन्स डबल्स में कनाडा ओपन का ख़िताब जीता है। जहाँ उनके पार्टनर मनु अत्री थे। आन्ध्र प्रदेश में पैदा हुए इस खिलाड़ी के बारे में हम आपको दस बातें बता रहे हैं: #1 बी सुमीत रेड्डी का जन्म 26 सितम्बर 1991 में आन्ध्र प्रदेश के गुंगल में हुआ था। #2 साल 2001 से अपने पिता जो खुद एक एथलीट थे, के नक्शेकदम पर चलते हुए रेड्डी हैदराबाद में खेल से जुड़ गये थे। 16 बरस की उम्र से वह प्रतिस्पर्धी खेलों में हैं। #3 वह अपने पिता से बहुत ज्यादा प्रभावित थे। साल 2013 में वह राष्ट्रीय बैडमिंटन टीम का हिस्सा बन गये। #4 बैडमिंटन में उनके आदर्श पुलेला गोपीचंद, लिन डान और उनके पिता हैं। वह एक धार्मिक व्यक्ति हैं और हर मैच से पहले वह पूजा करते हैं। #5 वह अपनी ट्रेनिंग को बहुत ही गंभीरता से लेते हैं। वह अबतक 154 डबल्स मुकाबले खेल चुके हैं। जिसमें 83 में जीत और 71 में उन्हें हार मिली है। #6 सुमीत ने अपने करियर की शुरुआत बतौर सिंगल खिलाड़ी शुरू की थी। और 7 में से 5 फाइनल में राष्ट्रीय स्तर पर जीता हासिल की थी। एक समय वह भारत के नम्बर एक खिलाड़ी भी थे। लेकिन चोट ने उन्हें डबल्स खेलने पर मजबूर कर दिया। #7 मनु अत्री को उन्होंने अपना डबल्स का पार्टनर बनाया 2013 और 2014 में टाटा ओपन दो बार अपने नाम किया। #8 इन दोनों ने मिलकर मेक्सिको में हुए यूएस ओपन ग्रैंड प्रिक्स साल 2015 में जीता। ये इन दोनों का पहला ख़िताब था। जहाँ इन्होने बोडिन इसरा और निपिटफोन को सीधे सेटों में हराया था। #9 पिछले साल इन्होने लेगोस ओपन भी जीत लिया और विश्व रैंकिंग में टॉप-20 में आ गये। इसके अलावा ये दोनों ग्वाटेमाला अंतर्राष्ट्रीय में रनरअप रहे थे। साथ ही बेल्जियम अंतर्राष्ट्रीय चैलेंज चैंपियनशिप अपने नाम किया था। इनका अभी का रैंक डबल्स में 17 है। #10 अत्री और सुमीत भारत के पहले डबल्स खिलाड़ी हैं, जिन्होंने रियो ओलम्पिक के लिए क्वालीफाई किया है। साथ ही वह अपनी फिटनेस पर अगस्त तक लगातार मेहनत करेंगे। ऐसे में हमे उनसे आशा है कि वह अपने इवेंट से देश को पदक दिलाएं।

App download animated image Get the free App now