ऑस्ट्रेलियन ओपन बैडमिंटन : खिताब से चूके एच एस प्रणॉय, चीन के वेंग ने कड़े मुकाबले में दी मात

साल 2014 के बाद पहली बार प्रणॉय ने एक ही सीजन में दूसरा फाइनल खेला है। (सौ.-bwfworldtour)
साल 2014 के बाद पहली बार प्रणॉय ने एक ही सीजन में दूसरा फाइनल खेला है। (सौ.-bwfworldtour)

भारत के टॉप बैडमिंटन सिंगल्स खिलाड़ी एच एस प्रणॉय ऑस्ट्रेलियन ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के फाइनल में हार गए। विश्व नंबर 9 प्रणॉय को खिताबी मुकाबले में विश्व नंबर 24 चीन के वेंग होंग येंग ने मात दी। डेढ़ घंटे तक चले कड़े मुकाबले में येंग ने 21-9, 21-23, 22-20 से जीत हासिल की। इसके साथ ही प्रणॉय का इस सीजन अपना दूसरा खिताब जीतने का सपना भी टूट गया।

फाइनल के पहले सेट में येंग के लिए जीत काफी आसान रही और प्रणॉय बमुश्किल 9 अंक कमा पाए। लेकिन दूसरे और तीसरे सेट में दोनों के बीच जबर्दस्त टक्कर हुई। प्रणॉय ने जोर लगाते हुए दूसरे सेट में जीत दर्ज की और मैच को तीसरे सेट तक ले गए। यहां कड़े संघर्ष के बाद वेंग ने बाजी मारी और प्रणॉय को निराश होना पड़ा।

खास बात यह है कि प्रणॉय ने इसी साल मई में मलेशिया मास्टर्स के रूप में जो इकलौता खिताब जीता उसके उपविजेचा वेंग ही थे। वेंग को तब प्रणॉय ने तीन सेट तक चले फाइनल में हराया था और अब वेंग ने ऑस्ट्रेलियन ओपन फाइनल में प्रणॉय को हरा बदला लिया। इस टूर्नामेंट में प्रणॉय के अलावा भारत के अन्य टॉप खिलाड़ियों ने भी भाग लिया था। प्रियांशु राजावत सेमिफाइनल में प्रणॉय के हाथों हारकर बाहर हुए थे। प्रियांशु ने क्वार्टर-फाइनल में किदाम्बी श्रीकांत को मात दी थी। वहीं पीवी सिंधू भी क्वार्टर-फाइनल में हारकर बाहर हुईं।

केवल दो भारतीय चैंपियन

ऑस्ट्रेलियन ओपन की शुरुआत साल 1989 में हुई थी। 2011 में इसे ग्रां प्री का दर्जा दिया गया। 2014 के बाद इसे सुपर सीरीज का दर्जा मिला और 2023 में ही यह टूर्नामेंट BWF सुपर 500 की श्रेणी में आया है। भारत की बात करें तो साल 2014 और 2016 में साइना नेहवाल यहां महिला सिंगल्स चैंपियन बनीं थीं। 2017 में किदाम्बी श्रीकांत ने पुरुष सिंगल्स का खिताब जीता। इन दोनों खिलाड़ियों के अलावा कोई अन्य भारतीय यहां ट्रॉफी हासिल नहीं कर पाया है।

Edited by निशांत द्रविड़
App download animated image Get the free App now