Canada Open : सीजन के पहले फाइनल में पहुंचे लक्ष्य सेन, पीवी सिंधू सेमिफाइनल में हारीं

लक्ष्य सेन इस साल कोई भी खिताब नहीं जीत पाए हैं।
लक्ष्य सेन इस साल कोई भी खिताब नहीं जीत पाए हैं

भारत के लक्ष्य सेन कनाडा ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंच गए हैं। विश्व नंबर 19 सेन ने सेमीफाइनल में चौथी सीड जापान के केंता निशिमोतो को 21-17, 21-14 से हराया। सेन का यह इस सीजन का पहला फाइनल होगा। इससे पहले इस साल खेले गए 10 टूर्नामेंट में केवल एक में वह सेमीफाइनल तक पहुंचे थे।

लक्ष्य ने निशिमोतो के खिलाफ पहले सेट में एक समय 11-11 से स्कोर बराबर होने के बाद बढ़त लेनी शुरु की। लगातार चार प्वाइंट जीतने के बाद लक्ष्य की पकड़ कमजोर हुई और निशिमोतो ने स्कोर 16-17 तक पहुंचा दिया। इसके बाद सेन ने बेहतरीन खेल दिखाया और सेट 21-17 से जीता।दूसरे सेट में 4-4 से स्कोर एक समय बराबर था और यहां से सेन ने खेल अपने पक्ष में कर लगातार प्वाइंट जीतने के साथ ही सेट 21-14 से जीता।

सेन ने टूर्नामेंट के पहले दौर में दूसरी सीड कुनलावुत विदितसर्न को हराया था और अब चौथी सीड निशिमोतो को हराकर वह खिताब के मजबूत दावेदार बन गए हैं। सेन का फाइनल में सामना पांचवी सीड चीन के ली शी फेंग से होगा।

लेकिन महिला सिंगल्स से भारत को निराशाजनकर खबर मिली। पूर्व विश्व नंबर 2 और दो बार की ओलंपिक मेडलिस्ट पीवी सिंधू सेमीफाइनल में हार गईं। चौथी सीड सिंधू को टॉप सीड जापान की अकाने यामागूची के खिलाफ 21-14, 21-15 से हार मिली। पिछले ही महीने यामागूची ने सिंधू को सिंगापुर ओपन के पहले दौर में हराया था। सिंधू इस सीजन एक भी खिताब नहीं जीत पाई हैं। इस साल अप्रैल में वह स्पेन मास्टर्स के फाइनल तक पहुंची थीं लेकिन हारकर खिताब से चूक गईं।

7 साल से भारतीय विजेता नहीं

कनाडा ओपन की शुरुआत साल 1957 में हुई थी। भारत की ज्वाला गुट्टा-अश्विनी पोनप्पा की जोड़ी ने साल 2015 में यहां महिला डबल्स का खिताब जीत पहली बार देश को यह खिताब दिलाया था। 2016 में बी साईं प्रणीत यहां पुरुष सिंगल्स चैंपियन बने जबकि उसी साल मनु अत्री- सुमित रेड्डी की जोड़ी ने पुरुष सिंगल्स का टाइटल हासिल किया। 2016 के बाद से ही कोई भारतीय खिलाड़ी यहां खिताब नहीं जीत पाया है।

Quick Links

Edited by निशांत द्रविड़
App download animated image Get the free App now