Create
Notifications

इंडोनिशिया ओपन के क्वार्टरफाइनल में पहुंचे एच एस प्रणॉय, समीर वर्मा की चुनौती समाप्त

एच एस प्रणॉय इंडोनिशिया ओपन में अब भारत की ओर से इकलौते खिलाड़ी बचे हैं।
एच एस प्रणॉय इंडोनिशिया ओपन में अब भारत की ओर से इकलौते खिलाड़ी बचे हैं।
Hemlata Pandey

भारत के बैडमिंटन खिलाड़ी एच एस प्रणॉय इंडोनिशिया ओपन के पुरुष सिंगल्स क्वार्टरफाइनल में पहुंच गए हैं। विश्व नंबर 23 खिलाड़ी प्रणॉय ने दूसरे दौर में विश्व नंबर 12 हॉन्ग कॉन्ग के नाग का लॉन्ग एंगस पर 21-11, 21-18 से जीत दर्ज कर बड़ा उलटफेर किया। पहले दौर में प्रणॉय ने आठवीं सीड भारत के लक्ष्य सेन को बेहद आसानी से हराया था। लेकिन पुरुष सिंगल्स के दूसरे मैच में भारत के समीर वर्मा को हार का सामना करना पड़ा। वर्मा को छठी सीड मलेशिया के ली जी जिया ने 21-10, 21-13 से मात दी। प्रणॉय अब इस बैडमिंटन प्रतियोगिता में भारत की ओर से एकमात्र खिलाड़ी बचे हैं। महिला सिंगल्स में पीवी सिंधू पहले ही दौर में हारकर बाहर हो गईं थीं जबकि किदाम्बी श्रीकांत भी पहले ही दिन मैच गंवा बैठे थे।

प्रणॉय का दमदार खेल

...Powerful people make places powerful 😎💪@PRANNOYHSPRI triumphs over WR-12 🇭🇰's #NgKaLongAngus 21-11, 21-18 to enter the QFs of #IndonesiaOpenSuper1000 🔥#IndonesiaOpen2022#BWFWorldTour#IndiaontheRise#Badminton https://t.co/lwdKQqmw0o

प्रणॉय ने अपने से ऊंची रैंकिंग वाले एंगस के खिलाफ पहले सेट में शुरुआत से ही दबदबा बनाए रखा और लगातार लीड बनाते हुए आगे बढ़े। 20-11 के स्कोर पर प्रणॉय के पास 10 सेट प्वाइंट थे और उन्होंने अगले ही सर्विस में सेट अपने नाम कर लिया। दूसरे सेट में एंगस ने प्रणॉय को चुनौती अच्छी तरह से दी लेकिन प्रणॉय ने यहां भी बाजी मारी। प्रणॉय क्वार्टरफाइनल में डेनमार्क के रेसमस गेमके का सामना करेंगे।

डबल्स में भी भारत की सभी जोड़ियां हारकर बाहर हो गई हैं। पुरुष डबल्स में भारत के एमआर अर्जुन-ध्रुव कपिला की जोड़ी को दूसरे दौर में चीन के लियू यू चेन-ओउ युवान यी की जोड़ी ने 21-19, 21-15 से मात दी। महिला डबल्स के दूसरे दौर में अश्विनी पोनप्पा-एन सिक्की रेड्डी की जोड़ी को भी हार का सामना करना पड़ा। पोनप्पा-रेड्डी को टॉप सीड चीन की चेन किंग चेन-जिया यी फेन की जोड़ी ने 21-16, 21-13 से हराया। इसके साथ ही डबल्स मुकाबलों में भी भारत की चुनौती समाप्त हो गई।


Edited by Prashant Kumar

Comments

Fetching more content...