पारुपल्‍ली कश्‍यप का नाम लिस्‍ट में हुआ शामिल, नेशनल कैंप से जुड़ी साइना नेहवाल

साइना नेहवाल
साइना नेहवाल

भारत की स्‍टार महिला बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल पुलेला गोपीचंद एकेडमी में वापसी करेंगी ताकि थॉमस और उबर कप की तैयारी करें। साइना नेहवाल ने यह फैसला तब लिया जब उनके पति पारुपल्‍ली कश्‍यप का नाम तीन सप्‍ताह लंबे तक चलने वाले नेशनल कैंप में शामिल हुआ।

बता दें कि थॉमस और उबर कप इस साल 3-11 अक्‍टूबर तक डेनमार्क के आरहुस में खेला जाएगा। हैदराबाद में 7 से 27 सितंबर तक नेशनल कैंप का आयोजन होगा, जिसमें कुल 26 शटलर्स, कोच और सपोर्ट स्‍टाफ के सदस्‍यों का नाम शामिल है। साइना नेहवाल सहित कैंप में शामिल होने वाले सभी सदस्‍य पूरे कैंप के दौरान एकेडमी में रहेंगे और ट्रेनिंग करेंगे। पहले कहा गया था कि सभी को नजदीक के होटल में ठहराया जाएगा, लेकिन इसमें बदलाव किया गया।

साइना नेहवाल के टोक्‍यो ओलंपिक संभावितों में कैंप से नहीं जुड़ने की वजह टीओआई ने 26 अगस्‍त को बताई थी कि 7 अगस्‍त से शुरू होने वाले कैंप में कश्‍यप का नाम लिस्‍ट में शामिल नहीं था। यही वजह थी कि साइना नेहवाल कैंप में शामिल नहीं हुईं।

साइना नेहवाल ने निजी तौर पर साई से से कश्‍यप के कैंप में साझेदार बनाने का आग्रह किया था। जब साइना नेहवाल को जवाब नहीं मिला, तो उन्‍होंने अलग बैडमिंटन सुविधा में अभ्‍यास करने का फैसला किया। यह भी रिपोर्ट दी गई थी कि साई थॉमस और उबर कप के लिए 7 सितंबर से नेशनल कैंप आयोजित करेगा क्‍योंकि भारत के कई शीर्ष बैडमिंटन खिलाड़‍ियों ने इसमें हिस्‍सा लेने में दिलचस्‍पी दिखाई थी।

साइना नेहवाल सहित ये खिलाड़ी होंगे नेशनल कैंप का हिस्‍सा

अब नेशनल कैंप में हिस्‍सा लेने वाले बैडमिंटन खिलाड़ी होंगे- साई प्रणीत, किदांबी श्रीकांत, पारुपल्‍ली कश्‍यप, साइना नेहवाल, महिला डबल्‍स विशेषज्ञ अश्विनी पोनप्‍पा और एन सिक्‍की रेड्डी आदि। प्रमुख राष्‍ट्रीय कोच पुलेला गोपीचंद सहित सात कोच, चार सपोर्ट स्‍टाफ के सदस्‍य और तीन साझेदारों का भी नाम इसमें शामिल है।

पीवी सिंधू इस कैंप का हिस्‍सा नहीं होंगी क्‍योंकि उन्‍होंने निजी कारणों से थॉमस व उबर कप से पहले ही अपना नाम वापस ले लिया है। पुरुषों के डबल्‍स विशेषज्ञ सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए थे और वह अपने घर आंध्र प्रदेश के अमलापुरम में ठीक हो रहे हैं।

साई ने जानकारी दी, 'सभी खिलाड़‍ियों और कोचिंग सपोर्ट स्‍टाफ को एकेडमी में आने से पहले आरटी-पीसीआर टेस्‍ट से गुजरना होगा। जब उनकी रिपोर्ट निगेटिव आएगी, तभी उन्‍हें एकेडमी में आने की अनुमति होगी। एकेडमी में सभी को एकांतवास रहना होगा और क्‍वारंटीन के छठे दिन सभी का दोबारा परीक्षण होगा। जब इसमें उनका परिणाम निगेटिव आएगा तभी उन्‍हें कोर्ट पर आने की अनुमति होगी।'

Quick Links

App download animated image Get the free App now