टोक्यो पैरालंपिक गोल्ड मेडलिस्ट प्रमोद भगत को राष्ट्रीय चैंपियनशिप में मिली मात

पैरालंपिक गोल्ड मेडलिस्ट प्रमोद भगत को हरियाणा के नीतेश कुमार ने हराया।
पैरालंपिक गोल्ड मेडलिस्ट प्रमोद भगत को हरियाणा के नीतेश कुमार ने हराया।

टोक्यो में इसी साल हुए पैरालंपिक खेलों में बैडमिंटन की SL3 कैटेगरी का गोल्ड जीतने वाले भारत के पैरा बैडमिंटन खिलाड़ी प्रमोद भगत को राष्ट्रीय चैंपियनशिप में हार का सामना करना पड़ा है। भगत को SL3 कैटेगरी के पुरुष सिंगल्स सेमिफाइनल में हरियाणा के नितेश कुमार ने 21-17, 21-19 से हराया।

ओडिशा के भुवनेश्वर में खेली जा रही राष्ट्रीय पैरा बैडमिंटन चैंपियनशिप में विभिन्न पैरा कैटेगरी शामिल की गई हैं। प्रमोद भगत अपनी कैटेगरी में विश्व नंबर 1 पैरा बैडमिंटन खिलाड़ी हैं। भगत ने टोक्यो ओलंपिक में देश के लिए अपनी स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीता था।

प्रमोद भगत साल 2015 और 2019 में पैरा विश्व चैंपियनशिप भी जीत चुके हैं। ऐसे में भगत से राष्ट्रीय चैंपियनशिप जीतने की उम्मीद भी की जा रही थी। लेकिन हरियाणा के पैरा बैडमिंटन खिलाड़ी ने भगत के कद के आगे हार नहीं मानी और सेमिफाइनल में भगत को हराकर फाइनल में प्रवेश किया। करीब 20 मिनट तक चले मुकाबले में दोनों खिलाड़ियों ने पूरा दमखम दिखाया, लेकिन नीतेश कुमार बेहतर निकले।

प्रमोद भगत को पैरा बैडमिंटन में पैरालंपिक गोल्ड जीतने के बाद ओडिशा सरकार द्वारा सरकारी नौकरी के साथ ही काफी सुविधाएं दी गई थीं। भगत को 2021 का मेजर ध्यानचंद खेल रत्न भी दिया गया था। ऐसे में राष्ट्रीय चैंपियनशिप में उनकी हार चौंकाने वाली है। वैसे नीतेश भी उम्दा खिलाड़ी हैं। 2018 के एशियाई पैरा खेलों में नीतेश ने अपनी कैटेगरी में पुरुष डबल्स का कांस्य पदक जीता था।

प्रमोद भगत की हार के बाद वहीं टोक्यो पैरालंपिक में ही SH6 कैटेगरी का पैरा बैडमिंटन गोल्ड जीतने वाले पैरा खिलाड़ी कृष्णा नागर ने पुरुष सिंगल्स का गोल्ड मेडल अपने नाम किया। नागर इससे पहले पुरुष डबल्स और मिश्रित डबल्स का गोल्ड भी जीत चुके हैं। साल 2019 में हुई पिछली राष्ट्रीय चैंपियनशिप में भी कृष्णा नागर ने तीनों स्पर्धाओं में गोल्ड मेडल जीता था।

App download animated image Get the free App now