Create

यूरोपियन बास्केटबॉल चैंपियन बनी स्पेन की टीम, राफेल नडाल ने दी खिलाड़ियों को बधाई

स्पेन ने इससे पहले 2009, 2011 और 2015 में भी यूरोपियन चैंपियनशिप जीती है।
स्पेन ने इससे पहले 2009, 2011 और 2015 में भी यूरोपियन चैंपियनशिप जीती है

स्पेन ने फ्रांस को हराकर यूरोबास्केट 2022 यानी यूरोपियन बास्केटबॉल चैंपियनशिप जीत ली है। स्पेन ने जर्मनी के बर्लिन में खेला गया फाइनल 88-76 के अंतर से जीता और गोल्ड मेडल अपने नाम किया। स्पेन का ये चौथा खिताब है।

🏆🏆🏆🏆SPAIN ARE #EUROBASKET CHAMPS FOR THE 4TH TIME IN HISTORY https://t.co/4tn8AqjsKd

वहीं जर्मनी ने पोलैंड को हराकर ब्रॉन्ज मेडल हासिल किया। प्रतियोगिता का आयोजन पहले सितंबर 2021 में होना था लेकिन कोविड-19 के संक्रमण के कारण इसे स्थगित कर इस साल आयोजित किया गया। पूर्व विश्व नंबर 1 टेनिस खिलाड़ी राफेल नडाल ने अपने देश की टीम की जीत पर सोशल मीडिया पर खुशी जाहिर की है।

🙌🏻🙌🏻🙌🏻🙌🏻 🇪🇸 twitter.com/baloncestoesp/…

प्रतियोगिता के कुल 4 मेजबान देश बनाए गए थे - चेक रिपब्लिक, जॉर्जिया, इटली और जर्मनी। मुख्य ड्रॉ में कुल 24 टीमों ने हिस्सा लिया था। इन टीमों को 6-6 के 4 ग्रुप में बांटा गया था। हर ग्रुप के मुकाबले उस ग्रुप में शामिल मेजबान देश में हुए। हर ग्रुप से 4-4 टीमों ने प्री-क्वार्टरफाइनल के लिए क्वालीफाई किया। स्पेन और फ्रांस के अलावा जर्मनी, ग्रीस, फिनलैंड, स्लोविनिया इटली और पोलैंड ने क्वार्टरफाइनल में स्थान पक्का किया था।

🎵 𝗠𝗩𝗣! 𝗠𝗩𝗣! 𝗠𝗩𝗣! 🎵The #EuroBasket 2022 @TISSOT MVP:🇪🇸 Willy Hernangomez#BringTheNoise https://t.co/KQIHlu685l

स्पेन ने पहले सेमीफाइनल में जर्मनी को 96-91 से मात दी जबकि दूसरे सेमीफाइनल में फ्रांस ने पोलैंड को 95-54 से हराया। स्पेन की टीम विश्व की नंबर 2 और यूरोप की नंबर 1 टीम है, और ऐसे में टूर्नामेंट में उन्हें पहले से ही प्रबल दावेदार माना जा रहा था। साल 1935 में पहली बार आयोजित हुई यूरोपियन चैंपियनशिप का ये 41वां संस्करण था। इससे पहले तक प्रतियोगिता का आयोजन हर दो साल में होता रहा है। ये पहली बार था जब चार साल के अंतराल के बाद टूर्नामेंट हुआ है। आखिरी बार 2017 में यूरो चैंपियनशिप खेली गई थी।

1999 से स्पेन ने हर बार कम से कम सेमीफाइनल में स्थान पक्का किया है। स्पेन की टीम ने 4 बार गोल्ड मेडल जीतने के साथ ही 6 बार उपविजेता बनने का गौरव भी हासिल किया है जबकि टीम 4 बार तीसरे स्थान पर रही है।

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment