स्पोर्ट्सकीड़ा एक्सक्लूसिव: बॉक्सर विजेंदर सिंह से खास बातचीत

Enter caption

ओलंपिक मेडलिस्ट और राजीव गांधी खेल रत्न से सम्मानित दिग्गज बॉक्सर विजेंदर सिंह ने बुधवार को पोकरबाजी द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में शिरकत की। इस दौरान उन्होंने स्पोर्ट्सकीड़ा से कई मुद्दों पर खास बातचीत की।

जिस तरह से प्रो कबड्डी लीग की वजह से कबड्डी की लोकप्रियता बढ़ी है, ठीक क्या उसी तरह से बॉक्सिंग की भी लोकप्रियता बढ़ाई जा सकती है ?

बिल्कुल इस तरह से बॉक्सिंग की भी पापुलैरिटी बढ़ सकती है लेकिन ये तय नहीं है कि ये कब होगा। इसकी सबसे बड़ी वजह ये है कि एक खेल को बढ़ावा देने के लिए बहुत सारी चीजें करनी पड़ती हैं। इस पर भी निर्भर करता है कि लोग देखना चाहते हैं कि नहीं। हमने प्रो बॉक्सिंग की शुरुआत की थी। उसका रिस्पॉन्स काफी अच्छा था और लोग इससे जुड़ना भी चाहते हैं। बॉक्सिंग लीग अगर हमें शुरू करना है तो उसके लिए एक दिलचस्प फॉर्मेट बनाना होगा। मुझे उम्मीद है कि एक दिन जरूर लोग बॉक्सिंग से भी ज्यादा से ज्यादा संख्या में जुड़ेंगे।

जो अभी हमारे युवा बॉक्सर हैं, उनको आप किस तरह देखते हैं ?

अभी हमारे जो बॉक्सर हैं वो काफी अच्छा कर रहे हैं लेकिन उनको और भी अच्छा करना चाहिए। मुझे लगता है कि उनको जो सुविधाएं मिलनी चाहिए वो किसी वजह से नहीं मिल पा रही हैं। मेरा यही कहना है कि उनकी जो जरुरतें हों उन्हें पूरा किया जाए। सभी खिलाड़ियों को अभी से ही 2020 में होने वाले ओलंपिक खेलों की तैयारी में जुट जाना चाहिए।

2020 ओलंपिक में हमारे बॉक्सरों से आपको कितनी उम्मीदें हैं ?

खिलाड़ी अपनी तरफ से हमेशा पूरी कोशिश करते हैं और पूरी तैयारी करते हैं लेकिन उनको उस तरह की सुविधाएं नहीं मिल पाती हैं। चाहे वो फिजियो हो, कोच हों या अन्य चीजें। जमीनी स्तर से ही इस पर ध्यान दिया जाना चाहिए।

मैं एक बात यहां पर और कहना चाहुंगा कि नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ स्पोर्ट्स, पटियाला में जो कैंप लगते हैं। पंजाब का एक भी लड़का उसका हिस्सा नहीं है। वे सभी खिलाड़ी राष्ट्रीय स्तर पर पदक जीत चुके हैं लेकिन ट्रेनिंग कैंप का हिस्सा नहीं हैं। मेरे हिसाब से ऐसा नहीं होना चाहिए।

आप रिंग में अगली बार कब उतर रहे हैं ?

बहुत जल्द ही।

App download animated image Get the free App now