CWG 2022 : बॉक्सर नीतू और जैस्मिन को मेडल के लिए सिर्फ एक जीत की जरूरत, निखत और लोवलीना को आसान ड्रॉ

बर्मिंघम में खेलों की शुरुआत से पहले पोज करतीं भारत की चारों महिला बॉक्सर।
बर्मिंघम में खेलों की शुरुआत से पहले पोज करतीं भारत की चारों महिला बॉक्सर।

बर्मिंघम कॉमनवेल्थ खेलों के बॉक्सिंग के ड्रॉ जारी होने के बाद दो पदक आसानी से मिलने की संभावना है। महिला बॉक्सिंग के 48 किलोग्राम वर्ग में नीतू और 60 किलोग्राम वर्ग में जैसमिन को सीधे क्वार्टरफाइनल में जगह मिली है। ऐसे में ये दोनों मुक्केबाज अगर अपने पहले मुकाबले को जीत जाती हैं तो पदक पक्का कर लेंगी।

नीतू को 48 किलोग्राम भार वर्ग में क्वार्टरफाइनल में नॉर्थन आयरलैंड की मुक्केबाज निकोल क्लायड का सामना करेंगी। ये मुकाबला 3 अगस्त को होगा। नीतू अगर ये मैच जीत जाती हैं तो सेमीफाइनल में पहुंच जाएंगी और कम से कम ब्रॉन्ज मेडल पक्का हो जाएगा। मुक्केबाजी उन खेलों में शामिल है जहां 2 ब्रॉन्ज मेडल दिए जाते हैं। दोनों सेमीफाइनल में जो मुक्केबाज मुकाबले हारते हैं उन्हें ब्रॉन्ज मिलता है।

60 किलोग्राम भार वर्ग में एशियन चैंपियनशिप की ब्रॉन्ज मेडल विजेता जैसमिन को भी पहले दौर में बाई मिली है। क्वार्टरफाइनल में जैसमिन का सामना न्यूजीलैंड की ट्रॉय गार्टन से होगा। गार्टन ने 2018 गोल्ड कोस्ट खेलों में ब्रॉन्ड मेडल जीता था। अगर जैसमिन ये मुकाबला जीत जाती हैं तो उनका मेडल भी पक्का हो जाएगा।

मौजूदा विश्व चैंपियन निखत जरीन को 50 किलोग्राम भार वर्ग के पहले दौर में मोजम्बिक की हेलेना बगाओ से भिड़ना होगा। 31 जुलाई को होने वाला ये मैच अगर निखत जीत जाती हैं तो क्वार्टरफाइनल में वेल्स की हेलेना जोन्स के खिलाफ उतरेंगी। वहीं टोक्यो ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता लोवलीना बोर्गोहिन 70 किलोग्राम भार वर्ग के पहले राउंड में न्यूजीलैंड की आरियन निकोलसन के विरुद्ध अभियान की शुरुआत करेंगी। निखत और लोवलीना के ड्रॉ कागजों पर आसान लग रहे हैं। ऐसे में इस बार महिला बॉक्सिंग में भारत की चारों मुक्केबाजों से मेडल की उम्मीद की जा सकती है।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar