Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

2009-2019: इस दशक के सबसे बेशकीमती आईपीएल खिलाड़ी

ANALYST
टॉप 5 / टॉप 10
Published Dec 28, 2019
Dec 28, 2019 IST

विराट कोहली व सुरेश रैना
विराट कोहली व सुरेश रैना

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) ने 2008 में अपने आगाज के बाद से काफी लंबा सफर तय किया है। इस लीग का मुख्य उद्देश्य नए और प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करने के लिए एक विश्वस्तरीय मंच प्रदान करना था। पिछले एक दशक में इस लीग से निकले खिलाड़ियों को देख कर यह कहा जा सकता है कि यह लीग काफी हद तक अपने उद्देश्य में सफल रही है।

यह भी पढें: आईपीएल 2020: आईपीएल इतिहास की 3 सबसे सफल सलामी जोड़ियां

 वर्ष 2020 में आईपीएल का 13वां सीजन होने को है। आईपीएल इस समय हर दृष्टिकोण से दुनियां की सबसे बड़ी लीग है। इस लीग को सफल बनाने में आयोजकों के साथ-साथ खिलाड़ियों ने भी एक अहम भूमिका निभाई है। इन खिलाड़ियों ने अपने अविश्वसनीय खेल से ज्यादा से ज्यादा प्रशंसकों का ध्यान आकर्षित किया है। कुछ खिलाड़ियों ने पिछले 10 सालों से निरंतर इस लीग में शानदार प्रदर्शन किया है। इनको इस दशक के आईपीएल के सबसे बेशकीमती खिलाड़ियो के रूप में देखा जा सकता है।

ऐसे में आइये नजर डालते हैं इस दशक के सबसे बेशकीमती आईपीएल खिलाड़ियों पर:

5. सुनील नरेन


सुनील नरेन
सुनील नरेन

 त्रिदिनाद के 31 वर्षीय स्पिनर सुनील नरेन को कोलकाता नाइटराइडर्स ने 2012 सीजन के लिए हुई नीलामी में खरीदा था। उस साल गौतम गंभीर के अगुआई में केकेआर को अपना खिताब जीतने में नरेन ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। वह वर्ष 2012 में अपने पहले ही सीजन में 'मोस्ट वैलुएबल प्लेयर' (MVP) बने थे।

नरेन कोलकाता के लिए दूसरे सबसे ज्यादा (122) विकेट चटकाने वाले गेंदबाज हैं। पिछले कुछ सीजन में वह एक सलामी बल्लेबाज की भूमिका में भी नजर आए हैं। उनके नाम आईपीएल की तीसरी सबसे तेज फिफ्टी का रिकॉर्ड है।

साल 2018 में अपने लाज़वाब खेल की बदौलत उनको एक बार फिर MVP के खिताब से नवाजा गया था। वह आईपीएल इतिहास में दो बार मोस्ट वैल्यूएबल प्लेयर बनने वाले एकमात्र खिलाड़ी हैं।



1 / 3 NEXT
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...