Create
Notifications
Get the free App now
Favorites Edit
Advertisement

वर्ल्ड कप खेलने वाले एसोसिएट देशों के तीन खिलाड़ी जिन्हें हमेशा याद किया जाएगा

  • इन तीन खिलाड़ियों ने विश्व कप में उपस्थिति यादगार तरीके से दर्ज कराई
ANALYST
टॉप 5 / टॉप 10
Modified 13 Jun 2019, 15:25 IST

Dwayne Leverock
Dwayne Leverock

क्रिकेट विश्व कप एक ऐसी प्रतियोगिता होती है, जिसमें दुनिया की सबसे मजबूत टीम के साथ सबसे कमजोर टीम भी समान रूप से शामिल होती है। टूर्नामेंट में शामिल मजबूत टीमें जहां अपने से कमजोर टीमों को आसानी से हराते हुए विजय अभियान जारी रखती हैं, तो कभी-कभी ये कमजोर टीमें सबसे बड़े टूर्नामेंट में मजबूत टीमों के लिए उलटफेर कर खतरा पैदा कर देती हैं।

क्रिकेट खेलने वाली सभी टीमें इस बड़े टूर्नामेंट में अपनी अलग छाप छोड़ना चाहती हैं, जिसकी वजह से वह अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी करती हैं। पूर्व के विश्व कप में इसके कई उदाहरण हमारे सामने आए हैं। हालांकि वर्तमान विश्वकप में एसोसिएट राष्ट्रों की संख्या शून्य है। लेकिन पिछले कई विश्वकप टूर्नामेंट में शामिल सहयोगी राष्ट्रों की टीम ने जबरदस्त प्रदर्शन किया है।

इन टीमों में स्कॉटलैंड, नीदरलैंड्स, बरमूडा, केन्या, कनाडा, यूएई, नामीबिया जैसी टीमें शामिल हैं। इन टीमों में से कुछ ने यादगार प्रदर्शन भी किया है, जिसमें आयरलैंड का नाम मुख्य रूप से शामिल है। आयरलैंड की टीम ने लगातार कई विश्वकप में निरंतर बेहतर प्रदर्शन किया है। इन एसोसिएट राष्ट्रों की टीमों के कई खिलाड़ी आज भी अपने प्रदर्शन के लिए याद किए जाते हैं।

आज हम आपको एसोसिएट देशों के 3 ऐसे ही खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें क्रिकेट प्रशंसकों द्वारा हमेशा याद किया जाएगा।

#3 केविन ओ ब्रायन

Kevin O Brien
Kevin O Brien

2011 के विश्व कप में आयरलैंड क्रिकेट टीम का प्रदर्शन शायद कोई भी नहीं भूला होगा और उसका एकमात्र श्रेय इस क्रिकेटर को जाता है। आयरलैंड क्रिकेट टीम के खेल को ऊपर उठाने और उसे एक पहचान दिलाने में केविन ओ ब्रायन और उनके भाई नील ओ ब्रायन का महत्वपूर्ण योगदान है। 2011 के विश्वकप में इंग्लैंड के खिलाफ आयरलैंड के केविन ओ ब्रायन ने जबरदस्त शतकीय पारी खेली थी, जिसे आज भी सबसे बेहतरीन पारियों में गिना जाता है।

केविन ओ ब्रायन ने 2011 के विश्वकप में लाजवाब प्रदर्शन किया था लेकिन फिर भी यह टीम टूर्नामेंट में क्वार्टर फाइनल तक का सफर नहीं तय कर सकी थी। केविन ओ ब्रायन ने उस विश्वकप में इंग्लैंड के खिलाफ 63 गेंदों में 113 रनों की शतकीय पारी खेली थी। 

यह भी पढ़ें : World cup 2019 : लीग चरण के मैचों के लिए रिजर्व डे न रखने के फैसले पर आईसीसी का बड़ा बयान

1 / 3 NEXT
Published 13 Jun 2019, 15:25 IST
Advertisement
Fetching more content...