Create

3 सबसे बड़े टारगेट जो टेस्ट क्रिकेट में सफलतापूर्वक चेस हुए हैं 

दक्षिण अफ्रीका और वेस्टइंडीज का नाम भी शामिल है
दक्षिण अफ्रीका और वेस्टइंडीज का नाम भी शामिल है
reaction-emoji
Neeraj

टेस्ट क्रिकेट में वनडे और टी20 के मुकाबले दर्शकों की दिलचस्पी काफी कम रहती है। इस फॉर्मेट को मौजूदा समय में पसंद करने वाले काफी कम लोग रह गए हैं। लेकिन जो लोग इस फॉर्मेट के फैन हैं, वही लोग जानते हैं कि ये प्रारूप कितना मजेदार और दिलचस्प है।

टेस्ट मैच में बल्लेबाजी करना हमेशा से कठिन माना जाता है इसमें बल्लेबाजों को धीमी गति से रन बनाने के साथ लम्बे समय तक क्रीज पर खड़े रहना होता है। जबकि गेंदबाजों की कोशिश होती है कि जल्दी से जल्दी विरोधी टीम के सभी बल्लेबाजों को पवेलियन भेजा जाये।

इस फॉर्मेट में चौथी पारी के दौरान बल्लेबाजी करना बड़े से बड़े बल्लेबाजों के लिए काफी मुश्किल होता है। मैच की चौथी पारी तक गेंदबाजों को पिच से काफी मदद मिलने लगती है जिसके चलते बल्लेबाज बड़ी पारी खेलने के लिए संघर्ष करते दिखाई देते हैं। लेकिन कई टीमों ने इसके विपरीत टेस्ट में चौथी पारी के दौरान शानदार बल्लेबाजी करते हुए बड़े-बड़े टारगेट चेस करते हुए मैच जीतने में कामयाबी हासिल की है। इस आर्टिकल में हम उन तीन बड़े लक्ष्यों का जिक्र करेंगे जो टेस्ट क्रिकेट में सफलतापूर्वक चेस हुए हैं।

3 सबसे बड़े टारगेट जो टेस्ट क्रिकेट में सफलतापूर्वक चेस हुए हैं

#3 404 रन - ऑस्ट्रेलिया बनाम इंग्लैंड (लीड्स, 1948)

आर्थर मॉरिस और सर डॉन ब्रैडमैन (Image - Espn)
आर्थर मॉरिस और सर डॉन ब्रैडमैन (Image - Espn)

जुलाई 1948 में ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की टेस्ट सीरीज का चौथा टेस्ट लीड्स में खेला गया। मैच में मेजबानों ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए 496 रन बनाये थे। जवाब में मेहमान टीम की ओर से भी शानदार बल्लेबाजी देखने को मिली और ऑस्ट्रेलिया ने भी अपनी पहली पारी में 458 रन बनाये। 38 रनों की मिली बढ़त के साथ इंग्लैंड ने अपनी दूसरी पारी में 8 विकेट के नुकसान पर 365 रन बनाते हुए घोषित कर दी।

इस मुकाबले को जीतने के लिए ऑस्ट्रेलिया को चौथी पारी में 404 रनों का टारगेट मिला, जिसे ऑस्ट्रेलिया ने आर्थर मॉरिस (182) और सर डॉन ब्रैडमैन (173*) की शानदार शतकीय पारियों की बदौलत तीन विकेट खोकर हासिल कर लिया। बता दें, टेस्ट क्रिकेट में ये अब तक का चेस किया तीसरा सबसे बड़ा टारगेट रहा है।

#2 414 रन - दक्षिण अफ्रीका बनाम ऑस्ट्रेलिया (पर्थ, 2008)

एबी डीविलियर्स (Image - Espn)
एबी डीविलियर्स (Image - Espn)

दिसंबर 2008 में दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच पर्थ में खेले गए टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका ने 414 रनों के विशाल टारगेट को चेस करते हुए ऑस्ट्रेलिया को 6 विकेट से हराते हुए जीत दर्ज की थी। मैच में कंगारू टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 375 रन बनाये। जवाब में मेहमान टीम मैच की दूसरी पारी में 281 रनों पर सिमट गई, जिसकी बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने 94 रनों की लीड हासिल की।

मैच की तीसरी पारी में मेजबानों ने 319 और जोड़े और अफ्रीकी टीम को मैच जीतने के लिए चौथी पारी में 414 रनों का टारगेट मिला। बड़े लक्ष्य को दक्षिण अफ्रीका ने कप्तान ग्रीम स्मिथ (108) और एबी डीविलियर्स (106*) की बेहतरीन शतकीय पारियों की मदद से 4 विकेट खोकर हासिल कर लिया था।

#1 418 रन - वेस्टइंडीज बनाम ऑस्ट्रेलिया (एंटीगुआ, 2003)

ओमारी बैंक्स मैच जीतने के बाद अपनी ख़ुशी जाहिर करते हुए
ओमारी बैंक्स मैच जीतने के बाद अपनी ख़ुशी जाहिर करते हुए

टेस्ट क्रिकेट इतिहास में सबसे बड़ा टारगेट सफलतापूर्व चेस करने का रिकॉर्ड वेस्टइंडीज के नाम है। 2003 में वेस्टइंडीज ने ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध अपनी घरेलू सरजमीं पर खेलते हुए 418 रनों के विशाल टारगेट को चेस करके इतिहास रचा था। मैच में मेहमान टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय लिया। ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 240 रन बनाये। जवाब में वेस्टइंडीज की टीम भी 240 रनों पर ढेर हुई।

मैच की तीसरी पारी में ऑस्ट्रेलियााई बल्लेबाजों ने उम्दा प्रदर्शन करते हुए 417 रन बनाये। कैरेबियाई टीम को इस मुकाबले को जीतने के लिए चौथी पारी में 418 रन बनाने थे, जिसे वेस्टइंडीज ने 7 विकेट होकर हासिल कर लिया और मुकाबले को 3 विकेट से जीत लिया।


Edited by Prashant Kumar
reaction-emoji

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...