Create

आईपीएल 2019 : तीन कारण क्यों डेविड वॉर्नर-जॉनी बेयरस्टो की जोड़ी ने इस सीजन शानदार प्रदर्शन किया

Enter caption

आईपीएल के 12वें सीजन में एक ऐसी ओपनिंग जोड़ी जिसने सभी की उम्मीदों से परे जाकर प्रदर्शन किया। सनराइजर्स हैदराबाद के सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर और जॉनी बेयरस्टो इस सीजन में अबतक 4 शतकीय साझेदारी कर चुके हैं।

वॉर्नर और बेयरस्टो की ओपनिंग जोड़ी को देखा जाए तो यह आईपीएल के सभी सीजन में अन्य सभी जोड़ियों से बेहतर साबित हो रही है। हैदराबाद की टीम में पिछले सीजन में भी कई ओपनिंग जोड़ियां सामने आईं लेकिन वॉर्नर और बेयरस्टो की जोड़ी ने कमाल का प्रदर्शन किया है। इस सीजन में जहां डेविड वॉर्नर ने शुरुआती 9 पारियों में 73.85 के औसत और 148.56 के स्ट्राइक रेट से 517 रन बनाए हैं, तो वहीं उनके साथी जॉनी बेयरस्टो ने भी इतनी ही पारियों में 63.57 की औसत और 158.36 के स्ट्राइक रेट से 445 रन बनाए हैं।

डेविड वॉर्नर और जॉनी बेयरस्टो की इस सफल ओपनिंग साझेदारियों के पीछे कुछ कारण भी हैं, जिसकी वजह से वह हर मैच में एक सफल पारी को अंजाम देते हैं। आज हम आपको ऐसी ही तीन वजह बताने जा रहे हैं, जिसकी वजह से यह इतने सफल हुए हैं।

#दोनों एक दूसरे का समर्थन अच्छे से समर्थन करते हैं

Johny bairstow and David Warner

ऑस्ट्रेलिया के विस्फोटक बल्लेबाज डेविड वॉर्नर के लिए आईपीएल का सफर नया नहीं है, वह पहले भी अपने पुराने जोड़ीदार शिखर धवन के साथ मिलकर हैदराबाद के लिए विस्फोटक पारियां खेलते आए हैं। इंग्लैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो के लिए आईपीएल का अनुभव नया है लेकिन उन्होंने काफी कम समय में अपने आप को साबित किया।

बेयरस्टो और वॉर्नर ने मिलकर टूर्नामेंट में एक के बाद एक सफल साझेदारियां निभाई। हैदराबाद को अंकतालिका में चौथे स्थान पर पहुंचाने का श्रेय इन दोनों बल्लेबाजों को ही जाता है। टूर्नामेंट की शुरुआत से ही दोनों खिलाड़ियों के बीच अच्छी समझ और तालमेल देखने को मिला और इसकी वजह से इस जोड़ी ने सबका ध्यान अपनी और केंद्रित रखा।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं

#विकेट के बीच दौड़

Warner and Bairstow

ओपनिंग बल्लेबाजी के दौरान पिच पर विकेट के बीच जितने फिट डेविड वॉर्नर हैं, उतने ही फिट जॉनी बेयरस्टो भी हैं। दोनों ही बल्लेबाजों ने अपनी-अपनी पारी के दौरान जितने चौके और छक्के लगाए हैं, उससे ज्यादा रन विकेट के बीच दौड़कर भी बनाए हैं और इन दोनों बल्लेबाजों के दौरान पूरे आईपीएल में एक भी रनआउट का चांस देखने को नहीं मिला। जिसका कारण है कि विकेट के बीच रनिंग में दोनों ही बल्लेबाज परफेक्ट हैं और एक दूसरे के इशारे को बखूबी समझते हैं।

इन दोनों बल्लेबाजों की विकेट के बीच दौड़ का एक और उदाहरण है, कि जब वॉर्नर और बेयरस्टो दोनों ही बल्लेबाजों ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ शतक जमाया था, तो उन पारी में दोनों बल्लेबाजों ने चौके और छक्के मारने के साथ ही कई सिंगल और दस बार डबल रन भी दौड़कर लिए थे। जोकि उनकी फिटनेस को दर्शाता है। वॉर्नर और बेयरस्टो की यह समझदारी युवा क्रिकटरों के लिए सीख भी हो सकती है। इस जोड़ी ने अभी तक कुल 962 रन अपनी टीम के लिए जोड़ डाले हैं और अभी तो आगे कई मैच खेलना बाकी है।

#अपने आप को साबित करना

Warner and Bairstow

एक टीम के रूप में खेलना हर खिलाड़ी के लिए महत्वपूर्ण होता है लेकिन उस टीम की ओर से खेलते हुए खिलाड़ी को अपनी प्रतिभा भी साबित करनी पड़ती है। बेयरस्टो और वॉर्नर की सफल ओपनिंग जोड़ी के पीछे एक राज यह भी है, कि इन दोनों खिलाड़ियों ने अपने आप को टीम के लिए उपयोगी साबित करने के दौरान ही यह कमाल कर दिखाया और अन्य टीमों की अपेक्षा टूर्नामेंट की सबसे सफल ओपनिंग जोड़ी का श्रेय अपने नाम किया।

डेविड वॉर्नर ने भी आईपीएल के पिछले सीजनों की अपेक्षा इस बार के आईपीएल में शानदार प्रदर्शन किया और उनके साथ जॉनी बेयरस्टो ने भी अपने आप को भुनाया और दिखा दिया कि आईपीएल के लिए उनसे बेहतर खिलाड़ी कोई और नहीं है।

2019 के आईपीएल में अब तक छह शतक बन चुके हैं, जिसमें से एक शतक डेविड वॉर्नर और एक शतक जॉनी बेयरस्टो के नाम है। इन दोनों ही खिलाड़ियों ने यह शतक रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ बनाया था।

Quick Links

Edited by मयंक मेहता
Be the first one to comment