Create
Notifications

4 खिलाड़ी जिन्होंने ज्यादा वजन होने के बावजूद क्रिकेट करियर में सफलता हासिल की 

अर्जुन रणतुंगा 
अर्जुन रणतुंगा 
Fambeat Hindi
visit

आज कल की क्रिकेट में फिटनेस एक अहम हिस्सा बन चुका है। अगर किसी भी खिलाड़ी को टीम में जगह बनानी है तो इसके लिए फिटनेस बहुत जरूरी है। हाल ही में खिलाड़ियों की फिटनेस के परीक्षण के लिए यो-यो टेस्ट लाया गया है। हालांकि यो-यो टेस्ट बहुत विवादस्पद रहा है क्योंकि अगर कोई कुशल और प्रतिभाशाली खिलाड़ी भी इस परीक्षण को पास नही कर पाता है, तो उन्हें टीम में जगह नही दी जाती है।

क्रिकेट खेलने वाले अधिकांश देशों ने यो-यो टेस्ट को एक खिलाड़ी की फिटनेस मापने का एकमात्र पैमाना माना है। यही कारण रहा है कि बहुत समय से दर्शक किसी भारी भरकम शरीर वाले खिलाड़ी को खेलते हुए नही देख पाए हैं। यो-यो टेस्ट को क्रिकेट समुदाय में काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा है। विशेषज्ञों का एक समूह यह मानता है कि जो खिलाड़ी अपनी प्रतिभा और कौशल की बदौलत अच्छा करते हैं, उन्हें टीम में जगह मिलनी चाहिए।

यह भी पढ़े: विजय हज़ारे ट्रॉफी में शानदार प्रदर्शन करने वाले 3 खिलाड़ी, जिन्हें इस साल की आईपीएल नीलामी में शामिल किया जा सकता है

हालांकि अतीत में फिटनेस उतनी महत्वपूर्ण नहीं होती थी। ऐसे में, आइये देखें उन 4 खिलाड़ियों को जिन्होंने अपने भारी भरकम शरीर के बावजूद, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन कर सफलता हासिल की है:

#4 डेविड बून- ऑस्ट्रेलिया

डेविड बून 
डेविड बून

भारी भरकम शरीर वाले ऑस्ट्रेलिया के डेविड बून ने अपने करियर की शुरुआत 1984 में की थी। बून जल्द ही टेस्ट और वनडे क्रिकेट, दोनों प्रारूपो में अपना वर्चस्व कायम करने में कामयाब रहे। डेविड बून के रिकॉर्डों की बात करें, तो उन्होंने टेस्ट मैचों में बल्लेबाजी करते हुए 107 मैचों में 43.65 के औसत से 7422 रन बनाए है। इसके अलावा उनके नाम 181 एकदिवसीय मैचो में 37.04 के औसत से 5964 रन दर्ज हैं।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं।

#3 अर्जुन रणतुंगा- श्रीलंका

अर्जुन रणतुंगा 
अर्जुन रणतुंगा

अगर बात करे अर्जुना रणतुंगा की तो, वो भी भारी भरकम शरीर वाले खिलाड़ी थे। रणतुंगा ने अपने करियर की शुरुआत 1982 में की थी। अर्जुन रणतुंगा ने अपना पहला एकदिवसीय मैच 14 फ़रवरी को इंग्लैंड के खिलाफ खेला था। रणतुंगा ने 269 एकदिवसीय मैचों में 35.84 के औसत से 7456 रन बनाए हैं। इसके अलावा उन्होंने 93 मैचों में 35.69 की औसत से 5105 रन बनाए हैं।

#2 शेन वॉर्न- ऑस्ट्रेलिया

शेन वॉर्न 
शेन वॉर्न

स्पिन के दिग्गज शेन वॉर्न ने 22 साल के एक गोल-मटोल खिलाड़ी के रूप में अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत की थी। वॉर्न की गेंदबाजी से विपक्षी बल्लेबाज खौफ खाते थे। उन्होंने अपने टेस्ट क्रिकेट करियर में 708 विकेट चटकाए, जिसमें उन्होंने कुल 37 बार पारी में पांच या इससे ज्यादा विकेट झटके हैं। वन डे क्रिकेट में भी इनका प्रदर्शन काफी शानदार रहा था। इन्होंने एकदिवसीय क्रिकेट में 293 विकेट लिए हैं।

#1 इंजमाम-उल-हक - पाकिस्तान

इंज़माम-उल-हक़ 
इंज़माम-उल-हक़

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और दिग्गज खिलाड़ी इंजमाम-उल-हक का भारी भरकम शरीर के बावजूद भी काफी शानदार करियर रहा था। उन्होंने अपने टेस्ट क्रिकेट करियर में 120 मैचों में 49.60 के औसत से 8830 रन बनाए। वहीं एकदिवसीय मैचों में भी इंजमाम का करियर बेहद अच्छा रहा है। दाएं हाथ के दिग्गज बल्लेबाज ने एकदिवसीय क्रिकेट में 378 मैचों में 39.52 के औसत से 11739 रन बनाए हैं।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं।

Edited by Naveen Sharma
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now