Create
Notifications

5 मौके जब भारतीय टीम को वनडे में 200 या उससे ज्यादा रन के अंतर से हार का सामना करना पड़ा 

भारतीय टीम 5 बार वनडे में 200 या उससे ज्यादा के अंतर से हारी है
भारतीय टीम 5 बार वनडे में 200 या उससे ज्यादा के अंतर से हारी है
मयंक मेहता
visit

1983 और 2011 वर्ल्ड कप जीत चुकी भारतीय टीम (Indian Team) वनडे क्रिकेट की सबसे मजबूत टीमों में से एक मानी जाती है। हालांकि भारतीय टीम का प्रदर्शन क्रिकेट के इस प्रारूप में ऐसा नहीं रहा है और टीम को कई बार शर्मनाक हार का सामना भी करना पड़ा है।

यह भी पढ़ें: सभी टेस्ट टीमों के खिलाड़ियों द्वारा लगाए गए सबसे तेज टी20 अंतरराष्ट्रीय शतक पर एक नजर

भारतीय टीम ने अभी तक 993 वनडे मुकाबलों में से 516 मैच जीते हैं और 427 मुकाबलों में टीम को हार मिली है। 9 मुकाबले टाई रहे और 41 मुकाबलों का नतीजा नहीं निकल पाया। 2000 के बाद से इन आंकड़ों में काफी बदलाव भी आया है और वनडे क्रिकेट में भारत का प्रदर्शन काफी बेहतर हुआ है।

हालांकि 427 मुकाबले, जो भारतीय टीम हारी इनमें से कुछ मैच तो काफी करीबी थे, लेकिन कई ऐसे मुकाबले भी रहे जिनमें भारत एकतरफा अंदाज में मैच को हार गई।

यह भी पढ़ें: सचिन तेंदुलकर के 4 ऐतिहासिक मैच जिसका हिस्सा युवराज सिंह नहीं थे

इस आर्टिकल में हम ऐसे 5 मैचों के ऊपर नजर डालेंगे, जिसमें भारतीय टीम 200 या उससे ज्यादा के अंतर से हारी:

#) 245 रन vs श्रीलंका (29 अक्टूबर 2000)

भारतीय टीम के नाम दर्ज हुए थे दो शर्मनाक रिकॉर्ड
भारतीय टीम के नाम दर्ज हुए थे दो शर्मनाक रिकॉर्ड

29 अक्टूबर 2000 को श्रीलंका के खिलाफ हुए ट्राई सीरीज के फाइनल में भारतीय टीम के नाम दो शर्मनाक रिकॉर्ड दर्ज हुए। इसी मैच में भारत को रनों (245) के हिसाब से सबसे बड़ी हार मिली और इसी मैच में वनडे में भारत ने अपना सबसे कम स्कोर (54) भी बनाया।

श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए कप्तान सनथ जयसूर्या की 189 रनों की बेहतरीन शतकीय पारी की बदौलत 299-5 का स्कोर खड़ा किया, जिसके जवाब में भारतीय टीम 26.3 ओवरों में महज 54 रनों पर सिमट गई और 245 रनों के अंतर से इस मैच को हार गई। भारतीय टीम की तरफ से सिर्फ रॉबिन सिंह ही दहाई का आंकड़ा पार कर पाए थे।

यह भी पढ़ें: 2 टीमें जिनके खिलाफ युवराज सिंह ने 4 शतक लगाए हैं और 3 टीम जिनके खिलाफ उन्होंने एक भी शतक नहीं लगाया

#) 214 रन vs दक्षिण अफ्रीका (25 अक्टूबर 2015)

दक्षिण अफ्रीका की तरफ से भारतीय टीम के खिलाफ 3 बल्लेबाजों ने शतक लगाए
दक्षिण अफ्रीका की तरफ से भारतीय टीम के खिलाफ 3 बल्लेबाजों ने शतक लगाए

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच अक्टूबर 2015 में सीरीज का आखिरी वनडे मैच में मुंबई में खेला गया था औऱ सीरीज 2-2 से बराबर थी। दक्षिण अफ्रीका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए क्विंटन डी कॉक (109), फाफ डू प्लेसी (133) और एबी डीविलियर्स (119) के शतकों की बदौलत 438-4 का विशाल स्कोर खड़ा किया।

439 रनों का पीछा करते हुए भारतीय टीम 36 ओवरों में 224 रनों पर सिमट गई और 214 रनों के अंतर से इस मैच को हार गई। भारत के लिए शिखर धवन (60) और अजिंक्य रहाणे (87) ने ही अर्धशतक लगाया।

#) 208 रन vs ऑस्ट्रेलिया (8 फरवरी 2004)

भारतीय टीम बुरी तरह ढेर हो गई
भारतीय टीम बुरी तरह ढेर हो गई

ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच सिडनी 2004 में ट्राई सीरीज का दूसरा फाइनल मुकाबला खेला गया था। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए मैथ्यू हेडन के शतक, डेमियन मार्टिन और एंड्रू साइमंड्स के अर्धशतकों की मदद से 359-5 का स्कोर खड़ा किया।

360 रनों का पीछा करते हुए भारतीय टीम 33.2 ओवरों में ही 151 रनों पर ऑलआउट हो गई और 208 रनों से इस मैच को हार गई। भारत के लिए इरफान पठान ने सबसे ज्यादा (30) रन बनाए।

#) 202 रन vs इंग्लैंड (7 जून 1975)

भारत को वर्ल्ड कप के पहले मैच में मिली थी हार
भारत को वर्ल्ड कप के पहले मैच में मिली थी हार

1975 में हुए पहले वर्ल्ड कप का पहला मुकाबला भारत और इंग्लैंड के बीच लॉर्ड्स में खेला गया था। इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए डैनिस एमिस (137) की शतकीय पारी, कीथ फ्लेचर (68) और क्रिस ओल्ड (51*) की अर्धशतकीय पारी की बदौलत 60 ओवरों में 334 -4 का स्कोर बनाया।

इस लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम ने 60 ओवरों में 132-3 का स्कोर ही बनाया और इसका नतीजा यह रहा कि भारतीय टीम 202 रनों के बड़े अंतर से इस मैच को हार गई। भारत की तरफ से सुनील गावस्कर 174 गेंदों में एक चौके की मदद से 36 रन बनाकर वो नाबाद रहे।

#) 200 रन vs न्यूजीलैंड (10 अगस्त 2010)

न्यूजीलैंड ने भारत को 200 रनों से शिकस्त दी थी
न्यूजीलैंड ने भारत को 200 रनों से शिकस्त दी थी

भारत और न्यूजीलैंड के बीच अगस्त 2010 में दांबुला में मैच खेला गया था। न्यूजीलैंड की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए स्कॉट स्टाइरिस (89) और रॉस टेलर (95) की अर्धशतकीय पारी की बदौलत 48.5 ओवरों में 288 के स्कोर पर ऑलआउट हो गई।

289 रनों का पीछा करते हुए भारतीय बल्लेबाजी पूरी तरह लड़खड़ा गई और 29.3 ओवरों में सिर्फ 88 रनों पर ऑलआउट हो गई। भारत के 8 बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा भी पार नहीं कर पाए और इस मैच को हार गए।

Edited by मयंक मेहता
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now