Create
Notifications

भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज की बेस्ट इलेवन

Image result for Virat KOhli border gavaskar trophy
Fambeat Hindi

71 साल के लंबे इंतजार के बाद आखिरकार भारतीय क्रिकेट टीम ने ऑस्ट्रेलियाई धरती पर अपनी पहली टेस्ट सीरीज जीत ली है। कप्तान विराट कोहली के शानदार नेतृत्व में टीम इंडिया ने चार मैचों की टेस्ट श्रृंखला में ऑस्ट्रेलियाई टीम पर 2-1 से जीत दर्ज की। जीत का अंतर बड़ा हो सकता था, किंतु मौसम की स्थिति सिडनी में भारतीयों के पक्ष में नहीं थी। सीरीज़ के चौथे और आखिरी टेस्ट मैच में लगभग 150 ओवरों का खेल बारिश और ख़राब रोशनी के कारण नहीं हो पाया।

क्रिकेट जगत में बहस का विषय यह है कि वर्तमान भारतीय टीम अब तक की सर्वश्रेष्ठ टीम है या नहीं, लेकिन अगर वे नहीं भी हैं, तो भी रवि शास्त्री के मतानुसार यह टीम अब तक की भारतीय टीमों की रैंकिंग में निश्चित रूप से सबसे ऊपर है। इस सीरीज़ में मेहमान टीम की तरफ से कई अच्छे प्रदर्शन देखने को मिले, जबकि कुछ अराजकता के बीच ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स भी मजबूती से खड़े रहे।

आइए हम श्रृंखला के संयुक्त सर्वश्रेष्ठ XI पर एक नज़र डालें, जिसमें सात भारतीय और चार ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाड़ी जगह बना पाए है:


#1. सलामी बल्लेबाज - मयंक अग्रवाल और मार्कस हैरिस

Image result for mayank agarwal batting Test cricket

श्रृंखला के मध्य में कोहली के लिए चीजें उतनी सहज नहीं थी जितनी अब हैं। हालाँकि, उन्हें परेशान करने वाले कई मुद्दे थे, लेकिन शुरुआती जोड़ी सबसे बड़ी समस्या थी क्योंकि मुरली विजय और केएल राहुल दोनों रन बनाने में असफल रहे थे। मयंक अग्रवाल, जो घरेलू सर्किट में लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे, उनको यहाँ एक मौका दिया गया जिसे उन्होंने दोनों हाथों से लपक लिया। दो मैचों में, अग्रवाल ने 65 की औसत से 195 रन बनाए। उन्होंने अपनी पहली श्रृंखला में दो अर्धशतक लगाए।

मयंक के साझेदार के रूप में ऑस्ट्रेलिया के मार्कस हैरिस एकदम फिट बैठते हैं। हैरिस ऑस्ट्रेलिया के कमजोर बल्लेबाजी लाइनअप में एक अपवाद थे। टिम पेन की टीम के लिए पारी की शुरुआत करते हुए, बाएं हाथ के बल्लेबाज ने 36 की औसत से चार मैचों में 258 रन बनाए। अग्रवाल की तरह, उन्होंने भी दो अर्द्धशतक अपने नाम किए और श्रृंखला में ऑस्ट्रेलिया के लिए सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी भी हैं।

#2. मध्य क्रम - चेतेश्वर पुजारा और विराट कोहली (कप्तान)

Image result for Pujara kohli vs Australia at MCG

नंबर 3 और नंबर 4 का चयन सबसे आसान रहा, क्योंकि श्रृंखला में चेतेश्वर पुजारा और विराट कोहली द्वारा दिखाई गई स्थिरता अद्वितीय है। पुजारा ने चार मैचों में 521 रन बनाकर श्रृंखला में सबसे अधिक रन बटोरे। तीन शतक और एक अर्धशतक के साथ, उनका औसत 74 का है। पुजारा ने एक बार फिर परिभाषित किया कि वह एक दुर्लभ खिलाडी क्यों है। वाकई पुजारा खेल के सबसे लंबे प्रारूप में सर्वश्रेष्ठ में से एक है।

विराट कोहली का भी बल्ले के साथ समय अच्छा रहा, हालाँकि उनका औसत 40 के पास रहा जो पुजारा के औसत लगभग आधा है। लेकिन कोहली के 282 रन बेहद महत्वपूर्ण थे। भारतीय कप्तान ने एक शतक और एक अर्धशतक जड़ा | वह एक कप्तान के रूप में और एक बल्लेबाज के रूप में कई रिकॉर्ड तोड़ने के लिए तैयार नजर आ रहे हैं।

#3. मध्य क्रम - अजिंक्य रहाणे, ट्रेविस हेड और ऋषभ पंत (विकेटकीपर)

Image result for Travis Head and PAnt vs Australia at MCG

अजिंक्य रहाणे के आंकड़े अपमानजनक नहीं हैं। हालांकि, 'विश्वसनीय' शब्द का उपयोग उनके चयन को परिभाषित करने के लिए किया जा सकता है। रहाणे ने सीरीज में 217 रन बनाए जिसमें दो अर्धशतक शामिल थे। रहाणे ने सीरीज़ में 31 की औसत से रन बनाये।

ऑस्ट्रेलिया के मध्य क्रम की बात करें तो ट्रैविस हेड ने अपनी बल्लेबाज़ी से प्रभाव छोड़ा। उन्होंने रहाणे की तुलना में 20 रन अधिक बनाए लेकिन अर्धशतकों की संख्या समान थी। हालाँकि, उनका योगदान ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजी लाइनअप को पुनर्जीवित करने के लिए पर्याप्त नहीं था।

एक समय था जब कोहली, टेस्ट विकेटकीपर की खोज में, रिद्धिमान साहा के आलावा कोई और विकल्प नहीं ढूढ़ पा रहे थे। लेकिन साहा के चोटिल होने से ऋषभ पंत के लिए एक दरवाजा खुला और उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। पंत ने लगभग 60 के औसत से सीरीज़ में 350 रन बनाये और सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ीयों की सूची में दूसरे स्थान पर काबिज हैं। उन्होंने इस श्रृंखला में एक शतक भी लगाया।

#4. गेंदबाज़ - जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, पैट कमिंस और नाथन लियोन

Image result for Bumrah Shami

भारतीय प्रशंसकों की ख़ुशी का सबसे बड़ा कारण तेज़ गेंदबाज़ों का प्रदर्शन रहा। ऑस्ट्रेलिया में भारतीय गेंदबाजों का प्रदर्शन सटीक और अनुशासित रहा। श्रृंखला में 21 विकेट लेकर बुमराह सबसे सफल तेज गेंदबाज़ भी हैं।

उन्हें दूसरे छोर से मोहम्मद शमी का भरपूर समर्थन मिला। शमी ने श्रृंखला में कुल 16 विकेट लिए। बुमराह की तरह, उन्होंने भी पांच विकेट लिए।

भारतीय गेंदबाजों ने आश्चर्यजनक रूप से ऑस्ट्रेलियाई आक्रमण को पछाड़ दिया, लेकिन पैट कमिंस के प्रदर्शन ने ऑस्ट्रेलियाई प्रतिष्ठा को कुछ हद तक बनाए रखा। कमिंस ने शमी से दो विकेट कम लिए। श्रृंखला में एक पारी में 6/27 उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा। कमिंस ने अपने बल्ले से भी काफी दमखम दिखाया और सीरीज़ में एक अर्धशतक भी जड़ा।

टीम में एकमात्र स्पिनर एक ऑस्ट्रेलियाई है, जो उनका सबसे सफल गेंदबाज भी था। स्पिनरों से ज्यादा तेज गेंदबाजों को पसंद करने वाली परिस्थितियों में, नाथन लियोन इन-फॉर्म भारतीय बल्लेबाजों को परेशान करने में कामयाब रहे। लियोन ने श्रृंखला में 21 विकेट चटकाए और दो बार पांच विकेट लेने वाले वे एकमात्र गेंदबाज हैं।

Edited by मयंक मेहता

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...