डेविड वॉर्नर के मीडिया के सामने संन्यास की घोषणा पर पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने उठाये सवाल, खास चीज का किया जिक्र 

डेविड वॉर्नर के लिए पाकिस्तान सीरीज आखिरी हो सकती है
डेविड वॉर्नर के लिए पाकिस्तान सीरीज आखिरी हो सकती है

ऑस्ट्रेलिया के विस्फोटक ओपनर डेविड वॉर्नर (David Warner) ने जुलाई में ही बता दिया था कि वह अपने टेस्ट करियर का समापन पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज (AUS vs PAK) के दौरान सिडनी में खेले जाने वाले मुकाबले के बाद करना चाहेंगे। हालाँकि, पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ब्रेंडन जूलियन का मानना है कि वॉर्नर को अपने संन्यास की घोषणा मीडिया के सामने नहीं करनी चाहिए थी, इससे चयनकर्ताओं पर पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए उन्हें चुनने का दबाव बन सकता था।

पाकिस्तान के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया की टेस्ट सीरीज का आगाज 14 दिसंबर से है। इस सीरीज का ही आखिरी टेस्ट सिडनी में 3 से 7 जनवरी के बीच होना है, जिसे डेविड वॉर्नर ने लाल गेंद के अपने आखिरी मुकाबले के रूप में चुना है। 37 वर्षीय ओपनर ने ऑस्ट्रेलिया के लिए 2011 में टेस्ट डेब्यू किया था और इस फॉर्मेट में एक जबरदस्त बल्लेबाज बनकर उभरे। उनके नाम 109 मुकाबलों में 44.43 की औसत से 8487 रन दर्ज हैं।

रविवार को ऑस्ट्रेलिया ने पहले टेस्ट के लिए स्क्वाड घोषित किया, जिसमें डेविड वॉर्नर का भी नाम है। अगर वह टीम में अपनी जगह बरकरार रखते हैं तो उनके पास सिडनी में अपने घरेलू मैदान पर अपना अंतिम टेस्ट मैच खेलने का मौका होगा, जिससे उनका यादगार विदाई का सपना पूरा होगा।

ब्रेंडन जूलियन का मानना है कि डेविड वार्नर ने टेस्ट क्रिकेट से दूर रहने के बारे में मीडिया को अपने फैसले की घोषणा करके चयनकर्ताओं पर दबाव डाला।

पूर्व ऑलराउंडर को लगता है कि यह ओपनिंग बल्लेबाज दूसरे टेस्ट के लिए टीम में जगह बनाने की कोशिश कर रहा था क्योंकि वह पिछले कुछ सीजन से सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में नहीं हैं। फॉक्स क्रिकेट से बात करते हुए, उन्होंने कहा:

मुझे नहीं लगता कि उन्हें ऐसा करने की जरूरत थी। मुझे लगता है कि चयनकर्ताओं ने उनको वैसे भी चुना होगा। वहां उनकी जगह लेने के लिए कोई नहीं है। मुझे नहीं लगता कि हर किसी को यह फैसला करने का अधिकार है कि उन्हें छोड़ना है, जब तक कि वे बहुत रन नहीं बना रहे हों या बहुत सारे विकेट नहीं ले रहे हों।
वॉर्नर ने पिछले दो सीजन में टेस्ट क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया है, इसलिए मुझे लगता है कि यही कारण है कि उन्होंने मूल रूप से ऐसा कहा, उम्मीद है कि वे उन्हें एससीजी में मौका देंगे। उनका करियर अब भी शानदार रहा है और मैं चाहूंगा कि वह अपनी शर्तों पर खत्म करें, चाहे वह एससीजी हो या उससे पहले। वह ऑस्ट्रेलिया के लिए एक महान क्रिकेटर रहे हैं।

डेविड वॉर्नर ने हालिया वर्ल्ड कप में काफी अच्छी फॉर्म दिखाई थी और वह ऑस्ट्रेलिया के लिए टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे थे। अब देखना होगा कि वह अपनी इस फॉर्म को पाकिस्तान के खिलाफ बरकरार रख पाएंगे या नहीं।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar