Create

हर्शल गिब्स ने साउथ अफ्रीका के वर्ल्ड कप में लगातार हारने का कारण बताया

Nitesh
2015 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल
2015 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज हर्शल गिब्स ने प्रोटियाज टीम के अभी तक एक भी वर्ल्ड कप नहीं जीत पाने को लेकर बड़ी प्रतिक्रिया दी है। दक्षिण अफ्रीका ने अभी तक ना तो वनडे और ना ही टी20 का कोई वर्ल्ड कप खिताब अपने नाम किया है और हर्शल गिब्स ने इसकी एक बड़ी वजह बताई है।

भारतीय न्यूज एजेंसी एएनआई के साथ बातचीत में हर्शल गिब्स ने आगामी वर्ल्ड कप में दक्षिण अफ्रीका के चांसेस को लेकर बात की। कई वर्ल्ड क्लास प्लेयर्स होने के बावजूद प्रोटियाज टीम अभी तक किसी भी वर्ल्ड कप के फाइनल में भी जगह नहीं बना पाई है। इस टीम ने 1998 में आईसीसी नॉक आउट ट्रॉफी और कॉमनवेल्थ गेम्स का गोल्ड मेडल जीता था। इसके अलावा उनके नाम और कोई बड़ी ट्रॉफी नहीं है।

ये भी पढ़ें: 3 भारतीय गेंदबाज जो ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट चटका सकते हैं

दबाव में बिखर जाती है दक्षिण अफ्रीका की टीम - हर्शल गिब्स

2015 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल
2015 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल

हर्शल गिब्स के मुताबिक दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ियों में जोश और जज्बे की कोई कमी नहीं होती है और उनके इरादे हमेशा मजबूत होते हैं। हालांकि वर्ल्ड क्लास प्लेयर्स होने के बावजूद टीम ने बड़े मैचों में टेंपरामेंट नहीं दिखाया।

उन्होंने कहा "दक्षिण अफ्रीका ने हमेशा विश्व स्तरीय खिलाड़ी वर्ल्ड क्रिकेट को दिए हैं। लेकिन सालों से टीम की एक ही कमी रही है और वो है बड़े मैचों और दबाव में टेंपरामेंट की कमी। टीम दबाव में बिखर जाती है और जब तक इसमें सुधार नहीं होगा तब तक कुछ बदलने वाला नहीं है।"

आपको बता दें कि दक्षिण अफ्रीका की टीम ने 2011 के वर्ल्ड कप में विजेता भारतीय टीम को भी लीग मैचों में मात दी थी लेकिन क्वार्टरफाइनल में न्यूजीलैंड से उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। 2015 के वर्ल्ड कप में श्रीलंका को हराकर उन्होंने सेमीफाइनल में जगह बनाई थी लेकिन एक रोमांचक मुकाबले में वहां भी उन्हें कीवी टीम से हार का सामना करना पड़ा। 2019 का वर्ल्ड कप दक्षिण अफ्रीका के लिए काफी खराब साबित हुआ और वो सेकेंड राउंड में भी नहीं पहुंच पाए।

ये भी पढ़ें: 3 भारतीय खिलाड़ी जो ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज में सबसे ज्यादा रन बना सकते हैं

Quick Links

Edited by Nitesh
Be the first one to comment