Create
Notifications

रियान पराग ने कहा- मैंने रोहित शर्मा की तरह खेलने की कोशिश की लेकिन यह प्रयास काम नहीं आया

रियान पराग
रियान पराग
CONTRIBUTOR

राजस्थान रॉयल्स के ऑलराउंडर रियान पराग ने आईपीएल-2019 के दौरान उस वक्त काफी सुर्खियां बटोरीं, जब उनकी 31 गेंदों में 47 रन की पारी ने कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ 3 विकेट से रोमांचक जीत दिला दी। अपने डेब्यू सीजन में ही राजस्थान रॉयल्स के इस युवा खिलाड़ी ने बल्लेबाजी का जबरदस्त प्रदर्शन किया। पराग ने 7 मैचों में 130 के करीब स्ट्राइक रेट से 160 रन बनाए और खुद के लिए काफी नाम कमाया।

स्पोर्ट्सकीड़ा के साथ खास बातचीत में उन्होंने उन क्रिकेटरों के बारे में बात की जिन्होंने उन्हें प्रेरित किया। वहीं रियान पराग ने कहा कि जब रॉयल्स ने मुझे टीम में लेने के लिए साइन किया, मुझे लगता है कि यह एक सपना था जो सच हुआ और मुझे खुशी हुई क्योंकि आईपीएल दुनिया में क्रिकेट की सबसे बड़ी लीग में से एक है। रॉयल्स द्वारा चुना जाना एक असली अहसास था।

ये भी पढ़ें: विराट कोहली ने टिकटॉक वीडियो को लेकर युजवेंद्र चहल को किया ट्रोल

पराग ने कई सालों तक सफलता का आनंद लिया है। उन्होंने रेड बुल के साथ एक अनुबंध के अलावा असम के लिए रणजी की शानदार शुरुआत की। विशेष रूप से पराग को लगता है कि रेड बुल के साथ उनका अनुबंध उनके करियर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। अब तक के अपने करियर में इस युवा खिलाड़ी ने याद किया कि पहली बार बल्लेबाजी के दौरान आउट होकर वो बाहर गए, तब महेंद्र सिंह धोनी चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए स्टंप के पीछे थे। पराग ने कहा कि विराट कोहली, जोस बटलर और धोनी जैसे बड़े नामों के साथ खेलना एक सम्मान की बात है और बल्लेबाजी के दौरान उनका पहली बार आउट होना एक असली अहसास था।

रियान पराग अपने राजस्थान रॉयल्स टीम के साथी बेन स्टोक्स और स्टीव स्मिथ से लगातार मिलने वाले समर्थन के लिए उन्हें अपने निडर ब्रांड क्रिकेट का भी श्रेय दिया है। क्रिकेट का निडर ब्रांड स्टोक्स (बेन स्टोक्स) और स्मिथ से आया। उन्होंने मुझे सिर्फ अपना स्वाभाविक खेल खेलने के लिए कहा और मेरा स्वाभिक प्रदर्शन करने के लिए कहा और यह नहीं सोचना कि क्या होने वाला है। इसने मुझे वहां जाने के लिए सहूलियत दी और अपनी क्षमता व्यक्त की

वहीं जब इस खिलाड़ी से उसकी बल्लेबाजी के तरीक के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वो कई सीनियर खिलाड़ियों से प्रेरणा ली है और फिलहाल वो अपनी तकनीक पर ध्यान दे रहे हैं। उन्होंने कहा,'मुझे लगता है कि विराट कोहली के रूख के साथ खेलना, साथ ही अंडर-19 विश्व कप खेला, इसने काफी अच्छा काम किया। मैंने स्मृति मंधाना को भी कॉपी करने की कोशिश की, लेकिन यह वास्तव में अच्छा नहीं रहा, मैं समय के साथ तालमेल नहीं बैठा सका। मैंने कुछ समय के लिए रोहित शर्मा के रुख की कोशिश की क्योंकि वह बहुत खूबसूरत है, लेकिन यह भी काम नहीं किया। इसलिए मैं बुनियादी बातों पर वापस आ गया हूं और अपने ही रुख पर वापस लौट आया हूं।'

Edited by Naveen Sharma
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now