Create

आईसीसी ने मार्च महीने के लिए प्लेयर ऑफ़ द मन्थ के नोमिनेशन का किया ऐलान, तीन टेस्ट कप्तानों को मिली जगह 

पैट कमिंस और बाबर आजम को भी नॉमिनेट किया गया है
पैट कमिंस और बाबर आजम को भी नॉमिनेट किया गया है

मार्च महीने के लिए प्लेयर आईसीसी ऑफ़ द मंथ (ICC Player of the Month) के लिए नॉमिनेट किए गए खिलाड़ियों के नामों की घोषणा कर दी है। पुरुष खिलाड़ियों में इस बार ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट कप्तान पैट कमिंस, पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम और वेस्टइंडीज के टेस्ट कप्तान क्रेग को जगह मिली है। महिला खिलाड़ियों में इंग्लैंड की स्पिनर सोफी एक्लेसटन, ऑस्ट्रेलिया की ओपनर रचेल हेंस और दक्षिण अफ्रीका की ओपनर लॉरा वोल्वार्ट को जगह मिली है। विजेताओं का ऐलान वोटिंग प्रक्रिया के बाद किया जायेगा।

ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट कप्तान पैट कमिंस के लिए पिछला महीना शानदार गुजरा। पाकिस्तान की फ्लैट पिचों पर उन्होंने जबरदस्त गेंदबाजी की और अपनी टीम को एक यादगार टेस्ट सीरीज जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई। कमिंस ने 3 मैचों में 22.50 की औसत से 12 विकेट अपने नाम किये। इस दौरान उन्होंने सीरीज के आखिरी मैच की पहली पारी में 56 रन देकर 5 विकेट चटकाए। वहीँ दूसरी पारी में भी 3 विकेट निकालते हुए अपनी टीम को जीत दिलाई। उनके इसी शानदार प्रदर्शन के कारण उन्हें पहली बार प्लेयर ऑफ़ द मंथ के लिए नॉमिनेशन मिला है।

पाकिस्तान के टेस्ट कप्तान बाबर आजम की अगुवाई में भले ही टीम को ऑस्ट्रेलिया के हाथों 1-0 से हार मिली हो लेकिन सीरीज में बाबर का प्रदर्शन शानदार रहा। बाबर ने तीन मैचों की सीरीज में 78 की जबरदस्त औसत से 390 रन बनाये। इस दौरान उन्होंने अपनी टीम के लिए दूसरा टेस्ट बचाने के लिए 196 रन की शानदार पारी भी खेली थी। इसके अलावा उन्होंने तीन मैचों की वनडे सीरीज के शुरूआती दो मैचों में क्रमशः 57 और 114 के स्कोर बनाये। दूसरे मैच में उनके शतक की बदौलत उनकी टीम ने 349 रन के रिकॉर्ड लक्ष्य को हासिल किया था।

बाबर इस अवार्ड के लिए दूसरी बार नॉमिनेट हुए हैं, इससे पहले वह पिछले साल अप्रैल में यह अवार्ड अपने नाम कर चुके हैं।

वेस्टइंडीज ने इंग्लैंड को अपने घर में 1-0 से टेस्ट सीरीज में मात दी और इस जीत में टीम के कप्तान क्रेग ब्रैथवेट का बड़ा योगदान रहा। ब्रेथवेट ने टीम के लिए बल्ले के साथ जबरदस्त योगदान दिया और वह पूरी सीरीज में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज थे। उन्होंने 3 मैचों में 85.25 की औसत से 341 रन बनाये। दूसरे टेस्ट मैच में उन्होंने 489 गेंदों का सामना करते हुए 169 रन की पारी भी खेली थी और उनकी पारी की वजह से कैरेबियाई टीम ने टेस्ट बचाने में सफलता भी हासिल की थी।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment