जो रुट और बेन स्टोक्स को इंग्लैंड की आखिरी उम्मीद बताते हुए, पूर्व खिलाड़ी ने दिया बड़ा बयान 

इंग्लैंड की टीम हार की कगार पार खड़ी है
इंग्लैंड की टीम हार की कगार पार खड़ी है

मेलबर्न में खेले जा रहे एशेज सीरीज के तीसरे टेस्ट में दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक इंग्लैंड की टीम अपनी दूसरी पारी में 31 रन पर 4 विकेट खोकर मुश्किल में है। कप्तान जो रूट (Joe Root) और बेन स्टोक्स (Ben Stokes) अभी भी क्रीज पर मौजूद हैं। पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी माइक हसी को उम्मीद है कि इंग्लैंड के लिए जो रूट और बेन स्टोक्स बेहतर काम कर सकते हैं और यही दोनों खिलाड़ी टीम की आखिरी उम्मीद हैं।

पहली पारी में 185 रन पर आउट होने के बाद दूसरी पारी में भी इंग्लिश बल्लेबाजों ने फ्लॉप प्रदर्शन जारी रखा और टीम अपने चार विकेट खो चुकी है। ऐसे में मैच के तीसरे दिन क्रीज़ पर मौजूद जो रुट और बेन स्टोक्स से कुछ करिश्माई प्रदर्शन की उम्मीद होगी, अन्यथा ऑस्ट्रेलिया 3-0 की अजेय बढ़त हासिल कर लेगा।

क्रिकबज पर दूसरे दिन के खेल का रिव्यु करते हुए हसी ने रुट और स्टोक्स की जोड़ी को आखिरी उम्मीद बताते हुए कहा,

दो खिलाड़ी हैं जो इंग्लैंड के लिए काम कर सकते हैं, तो वह बेन स्टोक्स और जो रूट हैं। लेकिन मुझे लगता है कि यह आखिरी उम्मीद है। ऑस्ट्रेलियाई आज संतुष्ट होंगे। आखिरी घंटे में जिस तरह से चीजें हुईं, उससे वे काफी खुश होंगे।

उन्होंने आगे कहा,

मुझे पता है कि ऑस्ट्रेलियाई खेमा रातोंरात क्या कह रहा होगा। वे कह रहे होंगे, हमें धैर्य और अनुशासित रहने की जरूरत है और एक या दो मौके बनाने के लिए सही क्षेत्रों में बेहतर गेंदबाजी करनी होगी।

इंग्लैंड की बल्लेबाजी दूसरी पारी में भी लड़खड़ाई

मिचेल स्टार्क ने इंग्लैंड को शुरूआती झटके दिए थे
मिचेल स्टार्क ने इंग्लैंड को शुरूआती झटके दिए थे

दूसरी पारी में इंग्लैंड के बल्लेबजों से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद थी लेकिन उन्होंने सभी को निराश किया। स्टार्क ने जैक क्रॉली और डेविड मलान को 7 रन के स्कोर पर लगातार दो गेंदों में आउट कर इंग्लैंड को बैकफुट में धकेल दिया। इसके बाद स्कॉट बोलैंड ने एक ही ओवर में हसीब हमीद और जैक लीच को पवेलियन का रास्ता दिखाया। 22 रन पर 4 विकेट खोने के बाद टीम के लिए रुट और स्टोक्स क्रीज़ पर मौजूद हैं। इंग्लैंड को अगर संघर्ष करना है तो इन दोनों बल्लेबाजों का अच्छा करना बहुत ही जरूरी है।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar