Create
Notifications

खराब शॉट खेलकर आउट होने को लेकर गौतम गंभीर ने ऋषभ पंत को लगाई फटकार

ऋषभ पंत ने बहुत ही खराब शॉट खेला
ऋषभ पंत ने बहुत ही खराब शॉट खेला
ANALYST

जोहानसबर्ग टेस्ट (IND vs SA) के तीसरे दिन भारत की दूसरी पारी के दौरान टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत (Rishabh Pant) एक बहुत ही खराब शॉट खेलकर आउट हुए। पंत जिस अंदाज में आउट हुए, उसकी हर तरफ आलोचना हो रही है। इसी कड़ी में गौतम गंभीर का नाम भी शामिल हो गया है और उन्होंने पंत को कड़ी फटकार लगाई है।

पंत तीसरी गेंद पर खाता खोले बिना ही आउट हो गए। उन्होंने कगिसो रबाडा की गेंद पर एक बड़ा शॉट खेलने की कोशिश की लेकिन विकेट के पीछे लपके गए।

स्टार स्पोर्ट्स पर चर्चा के दौरान गौतम गंभीर ने पंत को फटकार लगाते हुए कहा,

अविश्वसनीय, आप उस बेवकूफी को बहादुरी नहीं कहेंगे। इस टेस्ट मैच में रहाणे और पुजारा ने जिस तरह से भारत की वापसी करवाई, आपने दक्षिण अफ्रीका की वापसी करवा दी। यह टेस्ट क्रिकेट नहीं है। खुद को बहादुर कहने की एक बहुत पतली रेखा होती है।

पूर्व ओपनर ने इस बात पर प्रकाश डाला कि शॉट अनुचित था, खासकर जब कगिसो रबाडा अपने स्पेल खत्म करने के करीब थे। गंभीर ने समझाते हुए कहा,

अगर आपने उस शॉट के साथ छक्का भी मारा होता, तो भी आप इसे बेहतरीन शॉट नहीं कहते। टेस्ट क्रिकेट दबाव से निपटने के बारे में है और आप जानते हैं कि रबाडा अपना चौथा या पांचवां ओवर फेंक रहे थे।

जब ऋषभ पंत बल्लेबाजी करने आये तो भारत ने पुजारा और रहाणे का विकेट खोया था। ऐसे में उनसे थोड़ी जिम्मेदारी के साथ बल्लेबाजी की उम्मीद थी लेकिन उन्होंने खराब शॉट खेलकर अपना विकेट गंवाया।

ऋषभ पंत ने जिस तरह का शॉट खेला, वह टेस्ट क्रिकेट में स्वीकार्य नहीं है - गौतम गंभीर

गौतम गंभीर से यह भी पूछा गया कि क्या पिछले दिन रसी वैन डर डुसेन के साथ हुई बातचीत से पंत की एकाग्रता भंग करने का काम किया। गंभीर ने जवाब देते हुए कहा,

कल जो कुछ भी हुआ, उसमें पंत की गलती नहीं थी। यह अंपायर की गलती थी और आपको थर्ड अंपायर की मदद लेनी चाहिए थी। लेकिन ऋषभ पंत ने जिस तरह का शॉट खेला, वह टेस्ट क्रिकेट में स्वीकार्य नहीं है।

पूर्व खिलाड़ी ने कहा कि पंत अगर क्रीज़ पर थोड़ी देर टिकने का प्रयास करते तो मैच को दक्षिण अफ्रीका से दूर ले जा सकते थे। उन्होंने कहा,

गेंदबाज और फील्डिंग साइड यही चाहते थे। आपको यह भी देखना होगा कि आप किस गेंदबाज के खिलाफ मौका ले रहे हैं, वह भी इस विकेट पर क्रीज़ पर बाहर निकलने के बाद। दबाव को सामना करना आवश्यक था। अगर आपने वहां से 25-30 रन बना लिए होते तो शायद खेल एकतरफा हो सकता था।

Edited by Prashant Kumar

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
Article image

Go to article
App download animated image Get the free App now