Create
Notifications

"कप्तानी किसी का जन्मसिद्ध अधिकार नहीं है", वनडे सीरीज से पहले विराट कोहली को लेकर गौतम गंभीर का बड़ा बयान

विराट कोहली बतौर खिलाड़ी सीरीज का हिस्सा होंगे
विराट कोहली बतौर खिलाड़ी सीरीज का हिस्सा होंगे
Prashant Kumar
visit

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज (IND vs SA) के बाद भारतीय टीम को वनडे सीरीज खेलनी है। पहली बार विराट कोहली (Virat Kohli) कप्तानी से हटाए जाने के बाद वनडे में किसी और की लीडरशिप में खेलेंगे। ऐसे में उनकी भूमिका को लेकर कयास लगाए जा रहे हैं। हालांकि पूर्व भारतीय खिलाड़ी गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) का मानना है कि विराट को कप्तान न होने की वजह से कुछ भी अलग करने की जरूरत नहीं है।

विराट कोहली के टी20 प्रारूप की कप्तानी छोड़े जाने के बाद, चयनकर्तओं ने उन्हें वनडे की कप्तानी से भी हटा दिया तथा रोहित शर्मा को वनडे का नया कप्तान बनाया। हालांकि रोहित शर्मा चोटिल होने की वजह से दौरे से बाहर हैं और उनकी केएल राहुल दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ कप्तानी करेंगे।

स्टार स्पोर्ट्स के शो गेम प्लान पर चर्चा के दौरान गौतम गंभीर से पूछा गया कि क्या हम नए कोहली को देखने जा रहे हैं। उसने जवाब देते हुए कहा,

आप क्या नया देखना चाहते हैं? कप्तानी किसी का जन्मसिद्ध अधिकार नहीं है। एमएस धोनी जैसे लोगों ने विराट कोहली को कप्तानी की कमान दी है, वह विराट कोहली के नेतृत्व में भी खेले हैं, उन्होंने तीन आईसीसी ट्रॉफी और चार आईपीएल ट्रॉफी भी जीती हैं।

भारत के पूर्व क्रिकेटर ने कहा कि कोहली का एकमात्र ध्यान टीम के लिए रन बनाने और मैच जीतने पर होना चाहिए। गंभीर ने विस्तार से कहा,

मुझे लगता है कि कोहली को रन बनाने के लिए देखना चाहिए और यह अधिक महत्वपूर्ण है। जब आप भारत के लिए खेलने का सपना देखते हैं, तो आप कप्तान बनने का सपना नहीं देखते हैं। आप भारत के लिए मैच जीतने का सपना देखते हैं और कुछ भी नहीं बदलता है, केवल आप टॉस के लिए नहीं जा रहे और फील्ड नहीं सेट करेंगे, लेकिन आपकी एनर्जी और इंटेंसिटी समान रहनी चाहिए क्योंकि देश के लिए खेलना एक सम्मान की बात है।

विराट कोहली की भूमिका बिलकुल भी नहीं बदलेगी - गौतम गंभीर

भारतीय टीम को विराट से शानदार प्रदर्शन की उम्मीद होगी
भारतीय टीम को विराट से शानदार प्रदर्शन की उम्मीद होगी

गौतम गंभीर से यह भी पूछा गया कि वह आगे बढ़ते हुए किस भूमिका में विराट को देखते हैं। इसके जवाब में पूर्व ओपनिंग बल्लेबाज ने कहा,

बिल्कुल वैसा ही भूमिका जब वह टीम की कप्तानी कर रहे थे। नंबर 3 पर बल्लेबाजी करना, ढेर सारे रन बनाना और शायद पारी को एंकर करते हुए आगे बढ़ाना। जब रोहित शर्मा के साथ केएल राहुल टॉप ऑर्डर में आते हैं, तो कोहली की भूमिका में जरा भी बदलाव नहीं आता है।

गौतम गंभीर का मानना है कि विराट कोहली से पहले जैसी ही उम्मीद होनी चाहिए। उन्होंने कहा,

जैसा कि मैंने अभी उल्लेख किया है कि टॉस के लिए नहीं जाने और फील्ड प्लेसमेंट सेट करने के अलावा, बाकी सब कुछ वैसा ही रहता है। उसे नंबर 3 पर बल्लेबाजी करनी है, उसे सफेद गेंद वाले क्रिकेट में बहुत रन बनाने हैं। इसलिए मुझे यकीन है कि उनके लिए कुछ भी नहीं बदला है।

Edited by Prashant Kumar
comments icon1 comment
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now