Create

"भारत को 2011 वर्ल्ड कप फाइनल पर लग रहे फिक्सिंग के आरोपों की जांच करानी चाहिए"

भारत और श्रीलंका के बीच खेला गया था 2011 वर्ल्ड कप का फाइनल
भारत और श्रीलंका के बीच खेला गया था 2011 वर्ल्ड कप का फाइनल

श्रीलंका टीम के दिग्गज खिलाड़ी अरविंद डी सिल्वा ने कहा है कि भारत को 2011 वर्ल्ड कप फाइनल पर लग रहे फिक्सिंग के आरोपों की जांच होनी चाहिए। हाल ही में श्रीलंका के पूर्व खेल मंत्री महिंदानंदा अलुथगमगे ने खुलासा करते हुए कहा था कि 2011 वर्ल्ड कप का फाइनल फिक्स था।

हालांकि श्रीलंका के महेला जयवर्धने ने उनकी काफी आलोचना की थी। अरविंद डी सिल्वा का मानना है कि भारत की सरकार और बीसीसीआई को इन आरोपों की जांच करनी चाहिए। भारत ने श्रीलंका को फाइनल में हराकर 28 साल बाद खिताबी जीत दर्ज की थी।

यह भी पढ़ें: भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट में दोहरा शतक जड़ने वाले खिलाड़ियों की लिस्ट

Sunday Times से बात करते हुए अरविंद डी सिल्वा ने कहा,

"जब इस तरह के गंभीर आरोप लगाए जाते हैं, तो इससे काफी लोगों को दिक्कत होती है। इस केस में सिर्फ हमारे ऊपर नहीं, बल्कि चयनकर्ता, खिलाड़ी और टीम मैनेजमेंट, बल्कि भारत के क्रिकेटर पर भी काफी प्रभाव पड़ेगा जिन्होंने अपनी मेहनत से वर्ल्ड टाइटल को जीता। हमें हमेशा के लिए इन आरोपों को क्लीयर कर देना चाहिए। मैं आईसीसी, बीसीसीआई और श्रीलंका क्रिकेट से रिक्वेस्ट करना चाहता हूं कि वो इस मामले की सुनवाई करें। यह भारत सरकार और बीसीसीआई की जिम्मेदारी बनती है कि इस मामले की जांच करें।"

भारत-श्रीलंका के बीच हुए वर्ल्ड कप फाइनल पर आरोप लगाने वाले पूर्व खेल मंत्री श्रीलंका के खिलाड़ियों के निशाने पर आए

2 अप्रैल 2011 को भारत और श्रीलंका के बीच मुंबई में वर्ल्ड कप का फाइनल खेला गया था। भारत ने महेंद्र सिंह धोनी (91*) और गौतम गंभीर (97) की अर्धशतकीय पारी की बदौलत 49वें ओवर में लक्ष्य को हासिल करते हुए 28 साल बाद वर्ल्ड कप का खिताब जीता था। धोनी को फाइनल में उनकी पारी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया था।

इस फाइनल मुकाबले में श्रीलंका की तरफ से महेला जयवर्धने ने शानदार शतक लगाया था। हालांकि श्रीलंका के पूर्व खेल मंत्री द्वारा लगाए गए आरोप ने बड़े सवाल खड़े किए और इस बात से पूर्व खिलाड़ी बिल्कुल भी खुश नहीं है। 2011 वर्ल्ड कप में श्रीलंका की कप्तानी करने वाले संगाकारा ने इन आरापों को खारिज किया और कहा कि उन्हें सबूत लेकर आईसीसी के पास जाना चाहिए।

इस पूरे खुलासे के बाद से ही भारत की टीम या फिर बोर्ड की तरफ से कोई भी आधिकारिक बयान नहीं आया है।

यह भी पढ़ें: भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट में 3 या उससे ज्यादा शतक लगाने वाले सभी खिलाड़ियों की लिस्ट

Quick Links

Edited by मयंक मेहता
Be the first one to comment