Create

भारतीय क्रिकेट टीम ने वानखेड़े स्‍टेडियम के ग्राउंड्समैन को 35,000 रुपए डोनेट किए

भारतीय क्रिकेट टीम ने न्‍यूजीलैंड को दूसरे टेस्‍ट में 372 रन के विशाल अंतर से हराया
भारतीय क्रिकेट टीम ने न्‍यूजीलैंड को दूसरे टेस्‍ट में 372 रन के विशाल अंतर से हराया

भारतीय क्रिकेट टीम (India Cricket team) ने सोमवार को मुंबई में न्‍यूजीलैंड (New Zealand Cricket team) पर दूसरे टेस्‍ट के चौथे दिन 372 रन की जीत दर्ज करने के बाद वानखेड़े स्‍टेडियम के ग्राउंड्समैन को 35,000 रुपए डोनेट किए।

यह राशि सराहना के रूप में भेंट की गई है क्‍योंकि मुंबई का पिच ऐसा तैयार नहीं किया गया था कि तीन दिन के अंदर ही समाप्‍त हो जाए। विराट कोहली-राहुल द्रविड़ युग की शुरूआत न्‍यूजीलैंड पर घरेलू जमीन पर टेस्‍ट सीरीज जीत के साथ हुई है।

इससे पहले कानपुर में भारतीय टीम के हेड कोच राहुल द्रविड़ ने ग्रीन पार्क के ग्राउंड स्‍टाफ को 35,000 रुपए का दान दिया था। शिव कुमार की अध्‍यक्षता में कानपुर ने न्‍यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्‍ट के लिए स्‍पोर्टिंग पिच तैयार करके दी थी।

न्‍यूजीलैंड ने कानपुर में बड़ी मुश्किल से अपनी हार टाली थी, लेकिन मुंबई की उछाल और टर्न के सामने उसके बल्‍लेबाजों ने घुटने टेक दिए। हालांकि, एजाज पटेल ने एक पारी में 10 विकेट लेकर इस टेस्‍ट को यादगार बना दिया। भारतीय टीम के हेड कोच राहुल द्रविड़ ने कहा, 'विजेता के रूप में सीरीज का अंत करना अच्छा है। कानपुर में भी हम जीत के करीब पहुंच गये थे, लेकिन आखिरी विकेट नहीं ले पाये। यहां हमने कड़ी मेहनत की। परिणाम भले ही एकतरफा लग रहा हो लेकिन पूरी सीरीज में हमने कड़ी मेहनत की।'

उन्‍होंने आगे कहा, 'हमारे पास पर्याप्त समय था और इसलिए फालोऑन देने के बारे में नहीं सोच रहे थे। टीम में कई युवा बल्लेबाज हैं और हम उन्हें इस तरह की परिस्थितियों में बल्लेबाजी का मौका देना चाहते थे।'

ये पारी मेरे लिए काफी खास है - मयंक अग्रवाल

मयंक अग्रवाल ने न्यूजीलैंड के खिलाफ मुंबई टेस्ट मैच में मैन ऑफ द मैच चुने जाने के बाद बड़ी प्रतिक्रिया दी है। अपनी इस जबरदस्त पारी को लेकर मयंक अग्रवाल ने बड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने मैच के बाद कहा, 'ये पारी मेरे लिए काफी खास है। इस टेस्ट मैच में मैंने कानपुर से कुछ अलग नहीं किया था। मैंने केवल मानसिक अनुशासन और दृढ़ निश्चय दिखाया था। तकनीक हमेशा आपके काम नहीं आएगी बल्कि आपके अंदर लड़ने का जज्बा होना चाहिए। राहुल भाई ने मुझसे कहा था कि सीरीज के बीच में अपनी तकनीक के बारे में नहीं सोचना है। उन्होंने मुझसे कहा कि इसी तकनीक के दम पर तुमने रन बनाए थे। वहीं सुनील गावस्कर सर ने भी मुझे काफी अहम सलाह दी थी। अब मैं साउथ अफ्रीका दौरे पर भी अच्छा प्रदर्शन करना चाहूंगा।'

आपको बता दें कि भारतीय टीम ने मुंबई टेस्ट मैच में न्यूजीलैंड को 372 रनों से बुरी तरह हराया। जीत के लिए 540 रनों के विशाल लक्ष्य का पीछा करते हुए न्यूजीलैंड की टीम दूसरी पारी में 56.3 ओवर में सिर्फ 167 रनों पर ढेर हो गई। भारत ने पहली पारी में 325 रन बनाये थे, जिसके जवाब में न्यूजीलैंड की टीम सिर्फ 62 रनों पर ढेर हो गई थी। दूसरी पारी भारत ने 276/7 के स्कोर पर घोषित की थी।

Quick Links

Edited by Vivek Goel
Be the first one to comment