Create
Notifications
Advertisement

IPL  इतिहास : जब महेंद्र सिंह धोनी की छक्कों से भरी तूफानी पारी के बावजूद चेन्नई सुपर किंग्स को मिली थी हार 

  • महेंद्र सिंह धोनी अगर आखिरी ओवर में स्ट्राइक चेंज कर लेते, तो शायद सीएसके को इस मैच को जीत सकती थी
  • युवराज सिंह ने मैच में 13 गेंदों में बनाए थे 20 रन, यह उनका इस सीजन का सर्वश्रेष्ठ स्कोर भी रहा था
FEATURED COLUMNIST
फ़ीचर
Modified 15 Apr 2020, 15:43 IST

आईपीएल 2018: किंग्स XI पंजाब vs चेन्नई सुपर किंग्स
आईपीएल 2018: किंग्स XI पंजाब vs चेन्नई सुपर किंग्स

15 अप्रैल 2018 को मोहाली के पीसीए स्टेडियम में किंग्स XI पंजाब और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच आईपीएल 11 का 12वां मुकाबला खेला गया। इस मैच में फैंस को दो दिग्गज बल्लेबाज क्रिस गेल और महेंद्र सिंह धोनी की तूफानी बल्लेबाजी देखने को मिली। हालांकि अंत में पंजाब की टीम ने आखिरी ओवर में शानदार तरीके से जीत हासिल करते हुए चेन्नई को हराया। युवराज सिंह (20 रन) ने 2018 आईपीएल का अपना बेस्ट स्कोर भी इसी मैच में बनाया।

किंग्स XI पंजाब ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया और टीम में क्रिस गेल को शामिल किया। पंजाब का फैसला सही भी साबित हुआ केएल राहुल (22 गेंद 37 रन) और क्रिस गेल ने पहले विकेट के लिए 8 ओवरों में 96 रन जोड़े। क्रिस गेल ने पंजाब के लिए खेलते हुए पहले ही मुकाबले में शानदार अर्धशतक लगाते हुए 33 गेंदों में 4 छक्के और 7 चौके की मदद से 63 रन बनाए। वो 12वें ओवर में 127 के स्कोर पर आउट हुए। एक समय ऐसा लग रहा था कि पंजाब की टीम 200 से ऊपर का स्कोर खड़ा करेगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ और टीम 197-7 का स्कोर ही बना पाई। मयंक अग्रवाल (19 गेंद में 30 रन), युवराज सिंह (13 गेंद में 20 रन) और करुण नायर (17 गेंदों में 29 रन) की पारियों की बदौलत ही टीम इस स्कोर तक पहुंच पाई।

यह भी पढ़ें: भारत की ऑलटाइम बाएं हाथ के खिलाड़ियों की वनडे इलेवन

198 रनों का पीछा करने उतरी चेन्नई सुपर किंग्स की शुरुआत बेहद खराब रही और टीम ने 56 के स्कोर तक ही 3 विकेट गंवा दिए थे। यहां से अंबाती रायडू और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के बीच 7 ओवरों में 57 रनों की साझेदारी तो हुई, लेकिन टीम रनरेट के मामले में काफी पिछड गई थी। हालांकि जैसे सब जानते ही हैं, धोनी ने हार मानना कभी सीखा ही नहीं। एक समय जब लग रहा था कि सीएसके बड़े अंतर से इस मैच को हार जाएगी, धोनी ने अपना कमाल दिखाना शुरू किया और पंजाब के गेंदबाजों के खिलाफ आक्रमक शॉट खेलने शुरू किए। कैप्टन कूल मैच को काफी करीब लेकर गए और आखिरी दोओवर में सीएसके को जीतने के लिए 36 रनों की दरकार थी। धोनी ने 19वें ओवर में एंड्रयू टाई के खिलाफ दो छक्के और एक चौका लगाता हुए कुल 19 रन बटौरे। अंतिम ओवर में सीएसके को 17 रनों की दरकार थी।

पहली गेंद पर ड्वेन ब्रावो ने सिंगल लेते हुए स्ट्राइक धोनी को दी। दूसरी गेंद पर धोनी ने बड़ा शॉट खेलना चाहा, लेकिन वो मिस कर गए और इस गेंद पर कोई रन नहीं आया। मोहित शर्मा ने इसके बाद वाइड गेंद डाली और उनके ऊपर दबाव दिख रहा था। धोनी ने तीसरी गेंद पर चौका लगाते हुए सीएसके की उम्मीद को जीवित रखा। चौथी और 5वीं गेंद पर कोई रन नहीं आया, धोनी के पास दोनों ही गेंदों पर सिंगल लेने का मौका था, लेकिन उन्होंने स्ट्राइक अपने पास ही रखी। आखिरी गेंद पर धोनी ने छक्का जरूर लगाया, लेकिन सीएसके 1935-5 का स्कोर ही बना पाई और मैच को 4 रन से हार गए।

महेंद्र सिंह धोनी ने 44 गेंदों में 5 छक्के और 6 चौके की मदद से नाबाद रहते हुए 79 रन बनाए। क्रिस गेल को उनकी अर्धशतकीय पारी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।


Published 15 Apr 2020, 08:32 IST
Advertisement
Fetching more content...
Get the free App now
❤️ Favorites Edit