Create

3 खिलाड़ी जिनकी काबिलियत का रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने सही से इस्तेमाल नहीं किया 

शेन वॉटसन और केएल राहुल को सही से इस्तेमाल नहीं किया गया था
शेन वॉटसन और केएल राहुल को सही से इस्तेमाल नहीं किया गया था

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के इतिहास में विराट कोहली की कप्तानी वाली रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) को बहुत ही चर्चित टीम माना जाता है। इस टीम ने भले ही 14 साल में एक भी बार ट्रॉफी ना जीती हो लेकिन टीम के प्रशंसकों में हर सीजन बढ़ोत्तरी ही हुयी है। आईपीएल 2021 में इस टीम का बहुत ही जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला और टीम ने इस बार कई खिलाड़ियों का बेहतरीन तरीके से इस्तेमाल किया और इसका फायदा उन्हें साफ तौर पर मिला। इससे पहले हर सीजन आरसीबी काबिलियत की बजाय बड़े नामों वाले खिलाड़ियों की तरफ भागती थी और प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को ज्यादा मौके नहीं देती थी।

इस टीम ने भले ही अभी तक ट्रॉफी जीतने में कामयाबी हासिल ना की हो लेकिन इस टीम के लिए कई सफल खिलाड़ी अलग-अलग सीजन में खेले लेकिन इन खिलाड़ियों को टीम मैनेजमेंट के द्वारा सही से इस्तेमाल नहीं किया गया। कई दिग्गज खिलाड़ियों ने इस टीम के लिए खेलते हुए अच्छा प्रदर्शन नहीं किया लेकिन जैसे ही वो खिलाड़ी दूसरी टीमों में गए, उनके लिए मैच विनर साबित हुए। इस आर्टिकल में हम ऐसे ही 3 खिलाड़ियों का जिक्र करने जा रहे हैं, जिनका आरसीबी ने उनकी काबिलियत के मुताबिक इस्तेमाल नहीं किया।

3 खिलाड़ी जिनकी काबिलियत का रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने सही से इस्तेमाल नहीं किया

#3 क़्विंटन डी कॉक

क़्विंटन डी कॉक को आरसीबी ने आसानी से जाने दिया
क़्विंटन डी कॉक को आरसीबी ने आसानी से जाने दिया

साउथ अफ्रीका के विकेटकीपर बल्लेबाज क़्विंटन डी कॉक को सीमित प्रारूप का बेहतरीन बल्लेबाज माना जाता है और आईपीएल में भी इस बल्लेबाज का बेहतरीन प्रदर्शन रहा। मौजूदा समय में डी कॉक मुंबई इंडियंस का हिस्सा हैं और उन्होंने पिछले सीजन टीम की खिताबी जीत में 500 से भी अधिक रन बनाये थे। मुंबई इंडियंस के लिए खेलने से पहले डी कॉक 2018 में आरसीबी का हिस्सा थे।

उस सीजन टीम ने डी कॉक को मात्र 8 मैच खिलाये और इस दौरान उनके बल्ले से 201 रन देखने को मिले। टीम के अन्य बल्लेबाजों का प्रदर्शन कुछ खास नहीं था लेकिन डी कॉक को ड्रॉप कर दिया गया और उन्हें बाद में रिलीज भी कर दिया गया।

#2 शेन वॉटसन

शेन वॉटसन
शेन वॉटसन

आईपीएल के इतिहास में जब भी सबसे बेहतरीन ऑलराउंडर खिलाड़ियों की बात होगी तो उसमें शेन वॉटसन का नाम जरूर शामिल किया जाएगा। इस दिग्गज ने पिछले सीजन के बाद संन्यास ले लिया था लेकिन वह इस लीग में पहले सीजन से ही बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले रहे हैं। वॉटसन आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर तथा चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेले हैं लेकिन आरसीबी के लिए उनका प्रदर्शन बहुत ही साधारण रहा।

आरसीबी के द्वारा बतौर बल्लेबाज वॉटसन को कभी कोई स्थिर बल्लेबाजी क्रम नहीं दिया गया और इसका असर उनके प्रदर्शन में देखने को मिला। वॉटसन ने आरसीबी के लिए 24 मैचों में 13.16 की मामूली औसत से 250 रन बनाये। बतौर गेंदबाज वॉटसन टीम के लिए बेहतर करने में कामयाब रहे और उन्होंने 25 विकेट हासिल किये।

#1 केएल राहुल

केएल राहुल
केएल राहुल

आईपीएल में आरसीबी की असफलता का सबसे बड़ा कारण खिलाड़ियों पर भरोसा ना जताना है। आरसीबी ने साल 2016 में केएल राहुल को अपनी टीम में शामिल किया था। राहुल ने उस सीजन 14 मैचों में 44.11 की औसत से 397 रन बनाये थे। हालांकि अगले सीजन वह चोट की वजह से नहीं खेल पाए और टीम ने उन्हें 2018 के सीजन से पहले रिलीज कर दिया।

राहुल को रिलीज करने के बाद पंजाब की टीम ने खरीदा और तब से यह बल्लेबाज आईपीएल में लगातार बेहतरीन प्रदर्शन करता आ रहा है। पिछले सीजन राहुल ने ऑरेंज कैप पर भी कब्ज़ा जमाया था। ऐसे में आरसीबी ने निश्चित तौर पर इस खिलाड़ी पर भरोसा न जताकर गलती की।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment