Create

बाबर आजम हुए दुखी, इंग्लैंड द्वारा दौरा रद्द करने को लेकर दिया भावुक बयान

ट्विटर पर बाबर आजम ने अपनी निराशा जाहिर की
ट्विटर पर बाबर आजम ने अपनी निराशा जाहिर की

इंग्लैंड (England) की टीम द्वारा पाकिस्तान (Pakistan) दौरा रद्द करने के बाद पीसीबी और टीम को बड़ा झटका लगा है। इस बीच पाकिस्तान की टीम के कप्तान बाबर आजम (Babar Azam) ने भी निराशा जताई है। बाबर आजम ने कहा कि हमने हमेशा गेम को ऊपर रखने का प्रयास किया है लेकिन अन्य टीमें ऐसा नहीं करती हैं।

बाबर आजम ने अपने ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट करते हुए लिखा कि एक बार फिर से निराशा। हमने हमेशा खेल के हितों को समायोजित करने की कोशिश की है लेकिन अन्य लोग ऐसा नहीं करते हैं। हमने अपनी क्रिकेट यात्रा में एक लंबा सफर तय किया है और यह केवल समय के साथ बेहतर होगा। हम न केवल सर्वाइव रहेंगे बल्कि समृद्ध भी होंगे।

रमीज राजा का बयान

पीसीबी के अध्यक्ष रमीज राजा के आते ही दो टीमों ने लगातार अपने दौरे रद्द किये हैं। रमीज राजा ने इंग्लैंड के निर्णय के बाद कहा कि इंग्लैंड की वापसी ने मुझे बहुत निराश किया। लेकिन यह काफी अपेक्षित था क्योंकि दुर्भाग्य से पश्चिमी गुट एक दूसरे का समर्थन करने के प्रयास में एकजुट हो जाता है। इंग्लैंड की टीम का पीछे हटना जायज नहीं है, पाकिस्तान क्रिकेट की जीत होगी।

Disappointed with England, pulling out of their commitment & failing a member of their Cricket fraternity when it needed it most. Survive we will inshallah. A wake up call for Pak team to become the best team in the world for teams to line up to play them without making excuses.

रमीज राजा ने यह भी कहा कि अगर क्रिकेट जगत एक-दूसरे की मदद नहीं करता है, तो कोई पॉइंट नहीं है। न्यूजीलैंड और इंग्लैंड के बाद वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया के साथ सीरीज है। वे भी ऐसा कर सकते हैं। हम किसको शिकायत करें, हमने सोचा था कि वे हमारे अपने हैं लेकिन उन्होंने हमको स्वीकार नहीं किया। वे पीएसएल में खेलने के लिए आते हैं तो थकान नहीं होती और मानसिक तनाव भी नहीं होता।

पीसीबी अध्यक्ष ने कहा कि अगर हम बड़ा क्रिकेट बोर्ड होते तो हर टीम हमारे साथ खेलने के लिए तैयारी होती। हमारे लिए सबक यही है कि हमें एक मजबूत टीम और बड़ी क्रिकेट अर्थव्यवस्था बनना होगा। इससे ये देश हमारे साथ खेलने में दिलचस्पी रखेंगे। रमीज राजा ने कहा कि इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया ने अपनी ट्रेवल अडवाइजरी में कोई बदलाव नहीं किया है। अगर उन्हें खतरा होता तो इसमें बदलाव सबसे पहले करते।

Quick Links

Edited by निशांत द्रविड़
Be the first one to comment