Create
Notifications

अपने इंटरनेशनल करियर में सबसे ज्यादा बार शून्य पर आउट होने वाले खिलाड़ी

बड़े खिलाड़ी
बड़े खिलाड़ी
आदित्य
visit

इंटरनेशनल क्रिकेट में कई खिलाड़ियों ने अपना टैलेंट दिखाया है और पूरे विश्व में नाम कमाया है। इंटरनेशनल क्रिकेट में कदम रखना बड़ी बात है और लंबे समय तक अपने देश के लिए क्रिकेट खेलना और भी मुश्किल है।

ये भी पढ़ें:- टी20 अंतर्राष्ट्रीय में 5 ऐसे मौके, जब दोनों सलामी बल्लेबाज शून्य पर आउट हो गए

इंटरनेशनल क्रिकेट खेलना आसान नहीं होता क्योंकि खिलाड़ियों पर पूरे देश की उम्मीदें लगी होती है। इंटरनेशनल क्रिकेट में अमूमन कई खिलाड़ी शून्य पर आउट हो जाते हैं। ऐसे कई खिलाड़ी है जो अपने करियर में बहुत बार शून्य पर आउट हुए हैं।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के बड़े से बड़े खिलाड़ी शून्य बनाकर आउट हुए हैं। क्रिकेट अनिश्चिताओं का खेल है, इसमें कब क्या हो जाये कुछ बता नहीं सकते। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेलने के लिए धैर्य की आवश्यकता होती है और जो खिलाड़ी धैर्य के साथ मुश्किल परिस्थितियों में खेलना जनता है, वह बड़ा खिलाड़ी बनता है।

इसके अलावा वह लंबे समय तक अपने देश के लिए क्रिकेट खेलता है। खैर, इंटरनेशनल क्रिकेट (टेस्ट, वनडे और टी20) में यह 3 खिलाड़ी सबसे ज्यादा बार शून्य पर आउट हुए हैं।

#1 मुथैया मुरलीधरन- 59 बार

मुरलीधरन
मुरलीधरन

मुरलीधरन ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की शुरुआत 1992 से की थी। मुरलीधरन एक बेहतरीन श्रीलंकाई गेंदबाज थे, उनके नाम सबसे ज्यादा टेस्ट और वनडे विकेट लेने का रिकॉर्ड है।

इसके अलावा मुरलीधरन के नाम एक अजीब रिकॉर्ड भी है। वह अपने करियर में सबसे ज्यादा बार 0 पर आउट हुए है, मुरलीधरन 59 बार जीरो बनाकर पवेलियन लौटे। मुरलीधरन ने 495 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेले जिसमें उन्होंने 1936 रन बनाए।

मुरलीधरन ने अपनी गेंदबाजी से पूरे विश्व के बल्लेबाजों को परेशान किया था। मुरलीधरन ने 133 टेस्ट मैच खेले जिसमें उन्होंने 800 विकेट अपने नाम किए। वनडे में मुरलीधरन ने 341 मुकाबले खेले, जिसमें उनके नाम 519 विकेट है।

#2 कर्टनी वॉल्श- 54 बार

कर्टनी वॉल्श
कर्टनी वॉल्श

वेस्टइंडीज के कर्टनी वॉल्श काफी प्रसिद्ध खिलाड़ी थे। वॉल्श के नाम इंटरनेशनल क्रिकेट में कई सारे रिकॉर्ड है। इसमें शून्य पर आउट होने का रिकॉर्ड भी शामिल है। वॉल्श अपने करियर में 54 बार शून्य पर आउट हुए हैं।

वॉल्श ने 337 मैच खेले जिसमें वह एक भी शतक या अर्धशतक नहीं जड़ सके। वह मूल रूप से गेंदबाज थे, वॉल्श ने 132 टेस्ट में 519 विकेट लिए हैं। वनडे इंटरनेशनल में भी उनका रिकॉर्ड शानदार रहा है, उन्होंने 205 मैचों में 227 विकेट लिए हैं।

#3 सनथ जयसूर्या- 53 बार

सनथ जयसूर्या
सनथ जयसूर्या

सनथ जयसूर्या ने श्रीलंका के लिए 1989 से 2011 तक क्रिकेट खेला था। जयसूर्या अपने करियर में बहुत बार शून्य पर आउट हुए हैं। उन्होंने 586 मैच खेले हैजिसमें वह 53 बार शून्य बनाकर आउट हुए है।

जयसूर्या ने श्रीलंका के लिए 21032 रन बनाए हैं। उन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 42 शतक और 103 अर्धशतक जड़े हैं जो एक कमाल का रिकॉर्ड है। जयसूर्या एक ऑलराउंडर के रूप में खेलते थे और उनका सर्वाधिक स्कोर 340 रन का है।

Edited by Naveen Sharma
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now