AUS vs PAK: उस्मान ख्वाजा को काली पट्टी बांधकर खेलना पड़ा महंगा, ICC ने उठाया बड़ा कदम

उस्मान ख्वाजा ने पहले टेस्ट में शानदार प्रदर्शन किया था
उस्मान ख्वाजा ने पहले टेस्ट में शानदार प्रदर्शन किया था

ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान (Australia vs Pakistan) के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले मुकाबले में कंगारू टीम ने पाकिस्तान को 360 रनों के बड़े अंतर से हराया। इस मैच में ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज बल्लेबाज उस्मान ख्वाजा (Usman Khawaja) काली पट्टी बांधकर मैदान पर उतरे थे। अब ख्वाजा को आईसीसी (ICC) ने फटकार लगाई है। दरअसल, इससे पहले ख्वाजा गाजा में मानवीय संकट को लेकर जागरूकता बढ़ाने के इरादे से एक स्लोगन लिखे हुए जूते में प्रैक्टिस करते नजर आए थे। आईसीसी ने ख्वाजा को पहले टेस्ट मैच के पहले इस जूते को पहनने से रोका था। जिसके बाद ख्वाजा काली पट्टी बांधकर मैदान पर उतरे थे।

पर्थ में हुए पहले टेस्ट मैच से पहले प्रैक्टिस के दौरान उस्मान ख्वाजा ने जो जूते पहने थे उसमें लिखा था कि ‘सभी जीवन बराबर है और स्वतंत्रता मानव का अधिकार है।’ हालांकि आईसीसी के रोक के कारण ख्वाजा इन स्लोगन वाले जूतों का इस्तेमाल मैच के दौरान नहीं कर पाए थे। इसके ही विरोध में काली पट्टी बांधकर उतरने वाले ख्वाजा से आईसीसी काफी नाराज हुई है। ईएसपीएनक्रिकइंफो से मिली जानकारी के अनुसार आईसीसी के एक प्रवक्ता ने उन्हें बताया कि ‘उस्मान ख्वाजा ने आईसीसी पर कपड़े और उपकरण विनियमों के खंड एफ का उल्लंघन का आरोप लगाया है।’

आईसीसी के प्रवक्ता ने आगे कहा कि ‘उम्मान ने आर्मबैंड के साथ व्यक्तिगत संदेश दिया है। उन्होंने इसके लिए क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया या आईसीसी से कोई अनुमति नहीं ली। जैसा कि व्यक्तिगत संदेशों के लिए नियम आवश्यक है। यह एक तहत का उल्लंघन है। इसे पहले अपराध के लिए सजा के रूप में फटकार है।’

हालांकि आईसीसी उस्मान ख्वाजा को बॉक्सिंग डे टेस्ट खेलने से नहीं रोकेगी। अब देखना दिलचस्प होगा कि क्या उस्मान ख्वाजा 26 दिसंबर से शूरू होने वाले बॉक्सिंग डे टेस्ट में भी काली पट्टी के साथ उतरते हैं या नहीं। बहरहाल पाकिस्तान को अगर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज बचानी है तो उन्हें बॉक्सिंग डे टेस्ट को जीतना होगा।

Quick Links

Edited by Rahul