Create

न्‍यूजीलैंड के कप्‍तान टॉम लैथम ने जॉनी बेयरस्‍टो की जमकर की तारीफ

जॉनी बेयरस्‍टो ने 92 गेंदों में 14 चौके और सात छक्‍के की मदद से 136 रन बनाए
जॉनी बेयरस्‍टो ने 92 गेंदों में 14 चौके और सात छक्‍के की मदद से 136 रन बनाए

न्‍यूजीलैंड (New Zealand Cricket team) को इंग्‍लैंड (England Cricket team) के हाथों नॉटिंघम में खेले गए दूसरे टेस्‍ट में पांच विकेट की करारी शिकस्‍त मिली। इंग्‍लैंड को 72 ओवर में जीत के लिए 299 रन का लक्ष्‍य मिला था, जिसे उसने 50 ओवर में पांच विकेट खोकर हासिल किया। इंग्‍लैंड की जीत के हीरो जॉनी बेयरस्‍टो (136) (Jonny Bairstow) और कप्‍तान बेन स्‍टोक्‍स (75*) (Ben Stokes) रहे।

न्‍यूजीलैंड के कप्‍तान टॉम लैथम ने कहा कि उनकी टीम पांचवें दिन आखिरी सत्र में ही दिशा में आगे बढ़ रही थी, लेकिन जॉनी बेयरस्‍टो ने मैच छीन लिया। बेयरस्‍टो ने केवल 92 गेंदों में 14 चौके और सात छक्‍के की मदद से 136 रन बनाए।

टॉम लैथम ने मैच के बाद कहा, 'जिस तरह जॉनी बेयरस्‍टो और बेन स्‍टोक्‍स ने खेला, उन्‍होंने हमसे मैच छीन लिया। मेरे ख्‍याल से टी टाइम के बाद दो नतीजे निकल सकते थे और हमें विश्‍वास था कि अगर हम कुछ और विकेट निकाल लेंगे तो बल्लेबाजों पर पूरी तरह हावी हो जाएंगे। मगर कभी आपको अपनी टोपी सम्‍मान में उतारकर दिखानी पड़ती है क्‍योंकि विरोधी टीम के खिलाड़ी बेहतरीन खेलते हैं और मेरा मानना है कि आज हमें जॉनी के लिए ऐसा करने की जरूरत है।'

लैथम ने आगे कहा, 'साफ तरह के शॉट, दमदार स्‍ट्रोक्‍स खेलकर बेयरस्‍टो ने दिखाया कि वो हमसे मैच दूर ले गए, जो हमारे नजरिये से आदर्श नहीं है। मगर उन्‍हें पूरा श्रेय जाता है।'

टॉम लैथम ने कहा कि वो विकेट की तलाश में तो थे, लेकिन साथ ही साथ बाउंड्री रोकने की कोशिश में भी जुटे थे। लैथम का मानना है कि आखिरी घंटे में लगा कि पांच दिवसीय मैच नहीं बल्कि सीमित ओवर मैच खेल रहे हैं।

कीवी कप्‍तान ने कहा, 'जब कोई इस तरह के शॉट खेल रहा हो तो आपको रक्षात्‍मक होने की जरूरत होती है। ग्राउंड छोटा था और रन बनाने की दर ज्‍यादा थी। लड़कों को विकेट निकालना जरूरी था, लेकिन बाउंड्री रोकना भी जरूरी था। किसी अन्‍य दिन हो सकता है कि उनका शॉट सीधे फील्‍डर के हाथ में जाए, लेकिन आज जॉनी का दिन था और उन्‍होंने शानदार पारी खेली।'

न्‍यूजीलैंड की दूसरी पारी 284 रन पर सिमटी और लैथम का मानना है कि टेस्‍ट जीतने के लिए लक्ष्‍य पर्याप्‍त था। उन्‍होंने कहा, 'हमें लगा कि लक्ष्‍य जीतने के लिए पर्याप्‍त है। हमें विश्‍वास था और ट्रेंट बोल्‍ट ने अच्‍छी शुरूआत भी दिलाई। लंच के बाद हमने विकेट हासिल किए और लय भी हमारी तरफ थी। टी टाइम के बाद हमें विकेट निकालने की जरूरत थी, लेकिन हम तब नाकाम रहे।'

Quick Links

Edited by Vivek Goel
Be the first one to comment