WTC final के लिए रिजर्व डे के टिकट ICC सस्‍ते दामों में बेचेगा

भारत बनाम न्‍यूजीलैंड, डब्‍ल्‍यूटीसी फाइनल
भारत बनाम न्‍यूजीलैंड, डब्‍ल्‍यूटीसी फाइनल

अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने भारत और न्‍यूजीलैंड के बीच साउथैम्‍प्‍टन में जारी विश्‍व टेस्‍ट चैंपियनशिप फाइनल के रिजर्व डे के टिकट कम दाम में बेचने का फैसला किया है। आईसीसी ने डब्‍ल्‍यूटीसी फाइनल के लिए रिजर्व डे रखा था ताकि पूरे पांच दिन का खेल संभव हो सके। रिजर्व डे में 330 मिनट का खेल या 83 ओवर तक का खेल हो सकता है।

आईसीसी ने कहा, 'जी हां, छठे दिन के टिकट के दाम घटाए जाएंगे। यूके में टेस्‍ट मैच के लिए यह सामान्‍य अभ्‍यास है। चूकि टेस्‍ट मैच सिर्फ यूके के नागरिकों के लिए खुला है तो आईसीसी इन्‍हीं दिशा-निर्देशों का पालन कर रहा है।'

डब्‍ल्‍यूटीसी फाइनल के लिए तीन श्रेणियों में टिकट की कीमत तय की गई थी- जीबीपी 150 (15,444 भारतीय रुपए), जीबीपी 100 (10,296 रुपए) और जीबीपी 75 (7722 रुपए) अब इसे घटाकर जीबीपी 100 (10, 296 रुपए), जीबीपी 75 (7722 रुपए) और जीबीपी 50 (5148 रुपए) कर दिया गया है।

पूर्व क्रिकेटरों ने आईसीसी पर निकाली भड़ास

डब्‍ल्‍यूटीसी फाइनल का पहला दिन पूरी तरह बारिश की भेंट चढ़ गया था। इसके बाद दूसरे दिन 64.4 ओवर का खेल हुआ। तीसरे दिन 76.3 ओवर का खेल हो पाया। फिर चौथा दिन बारिश के कारण धुल गया।

पूर्व भारतीय बल्‍लेबाज वीवीएस लक्ष्‍मण का मानना है कि आईसीसी ने सही नियम नहीं रखे क्‍योंकि दोनों टीमें दो साल की कड़ी प्रतिस्‍पर्धा के बाद डब्‍ल्‍यूटीसी फाइनल जीतना चाहती थीं। लक्ष्‍मण ने स्‍टार स्‍पोर्ट्स पर कहा, 'फैंस के लिए यह बहुत दुखद है। मेरे ख्‍याल से आईसीसी ने सही नियम नहीं रखे। सभी कह चुके हैं, आपको एक चैंपियन चाहिए।'

उन्‍होंने आगे कहा, 'इतना समय उपलब्‍ध है, मुझे भरोसा है कि पांच दिन में आईसीसी 90 ओवर कराने की अनुमति देता ताकि 450 ओवर का खेल हो सके। मुझे आईसीसी से इसकी उम्‍मीद थी। हम उत्‍साहित थे कि रिजर्व डे है, लेकिन मुझे अब भरोसा नहीं कि अगर बारिश होती रही तो रिजर्व डे के दिन भी मैच पूरा होगा।'

वहीं न्‍यूजीलैंड के पूर्व तेज गेंदबाज शेन बांड ने कहा कि मुकाबला ड्रॉ होने की संभावना है। वैसे बांड ने न्‍यूजीलैंड को खिताबी जीत का प्रबल दावेदार भी बताया।

बांड ने कहा, 'दोनों टीमें जीतने के लिए खेल रही हैं। अन्‍य बात यह है कि पिच तेज गेंदबाजों के लिए मददगार है। अगर तीन-चार दिन का खेल भी हुआ तो विजेता मिल सकता है। अगर मौसम ने कबाड़ा किया तो फिर ड्रॉ होना तय है। मैं वीवीएस की बात से सहमत हूं कि 450 ओवर का खेल देखना पसंद करता ताकि एक टीम शीर्ष पर आती।'

Quick Links

Edited by Vivek Goel